इन खूबसूरत शायरी से दें होली की शुभकामनाएं

हवाओं के साथ अरमान भेजा है
नेटवर्क के जरिए पैगाम भेजा है
वो हम हैं जिसने सबसे पहले होली का राम-राम भेजा

निकलो गलियों में बना कर टोली
भिगो दो आज हर एक की झोली
कोई मुस्कुरा दे तो उसे गले लगा लो
वरना निकल लो, लगा के रंग
कह के हैप्पी होली

खा के गुजियापी के भंग
लगा के थोड़ा थोड़ा सा रंग
बजा के ढोलक और मृदंग
खेलें होली हम तेरे संग

रूठा है कोई तो आज उसे मनाओ
आज तो सारी गलती भूल जाओ
लगा दो आज दोस्ती का रंग सबको यारों
आज होली मनाओ तो ऐसी मनाओ

फाल्गुन की बहार
चली पिचकारी उड़ा है गुलाल
रंग बरसे नीले-हरे-लाल
मुबारक हो आपको होली का त्यौहार

इश्क की होलिया खेलनी छोड़ दी है हमने
वरना हर चेहरे पे रंग सिर्फ हमारा होता

लाल हो या पीला
हरा हो या नीला
सुखा हो या गिला
एक बार रंग लग जाये तो हो जाये रंगीला

लाल गुलाबी रंग है, झूम रहा संसार
सूरज की किरण खुशियों की बहार
चांद की चांदनी अपनों का प्यार
मुबारक हो आपको होली का त्यौहार