विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान के स्वर्ण शिल्पकार ने बनाया विश्व का सबसे छोटा शिवलिंग, PM मोदी को करेंगे भेंट

उदयपुर के विश्व विख्यात स्वर्ण शिल्पी इकबाल सक्का ने 110 वां विश्व रिकॉर्ड बनाया. रिकॉर्ड में बनाई सुक्ष्म कृति प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भेंट करने की बात कही.

Read Time: 3 mins
राजस्थान के स्वर्ण शिल्पकार ने बनाया विश्व का सबसे छोटा शिवलिंग, PM मोदी को करेंगे भेंट
कलाकार और कलाकृति की तस्वीर

Golden Craftsman: यूं तो आपने भगवान भोलेनाथ के भक्तों द्वारा बनाई गई कई मूर्तियां और तस्वीरें देखी होंगी. लेकिन राजस्थान एक ऐसी कलाकृति सामने निकलकर आई है जिसको देखकर आपके होश उड़ जाएंगे. महाशिवरात्रि के अवसर पर उदयपुर के शिल्पकार डॉ. इकबाल सक्का ने सोने का सूक्ष्म शिवलिंग बनाया. वहीं उन्होंने अपने हुनर से इसके साथ नाग देवता, डमरु, कमंडल, शिव चिमटा और त्रिशूल भी बनाया. इन सूक्ष्म कलाकृतियों को बनाने पर कलाकृतियों को वर्ल्ड रिकॉर्ड बुक में शामिल किया गया है. इस कलाकृति को इंरनेशनल बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में 110 वें विश्व रिकॉर्ड के रुप मे दर्ज किया गया है. भारतीय कार्यालय के महाप्रबंधक डॉ. अहमद शेख ने सक्का को यह गोल्ड मेडल और रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र प्रदान किया.

विश्व की सबसे छोटी कलाकृति

सक्का को तीन मिली मीटर साइज के शिवलिंग को बनाने में पांच दिन का समय लगा. वहीं उन्होंने इसे बनाने में 200 मिलीग्राम सोने का उपयोग किया है. इसकी साइज एक-एक मिलीमीटर है. इसे मेग्नीफाइड ग्लास से साफ देखा जा सकता है. उदयपुर के विश्व रिकॉर्ड मैन के नाम से प्रसिद्ध शिल्पकार डॉक्टर इकबाल सक्का ने पीएम मोदी को भेंट करने के लिए विश्व की सबसे छोटी सोने की कलाकृतियां बनाई. इस कलाकृति के माध्यम से उन्होंने महाशिवरात्रि के अवसर पर सांप्रदायिक सौहार्द का परिचय दिया. 

कई कलाकृतियां बना चुके हैं सक्का

शिवलिंग, नाग देवता, डमरु, कमंडल, शिव चिमटा और त्रिशूल होप इंटरनेशनल बुक, ओफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में 110 वें विश्व रिकॉर्ड के रूप में दर्ज किया गया. लेंस से देखे जाने वाली इस कलाकृति को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट करने के लिए सक्का बहुत पहले पत्र लिख चुके हैं. इससे पहले भी सक्का ऐसी कई सूक्ष्म कलाकृतियां बना चुके हैं.

सूक्ष्म कलाकृतियों का संग्रहालय खोलना चाहते हैं सक्का

इकबाल सक्का अपनी सूक्ष्म कलाकृतियों का एक संग्रहालय भी खोलना चाहते हैं. जिससे आम जनता और उदयपुर में आने वाले देशी और विदेशी पर्यटक इनकी कलाकृतियों को देख सकें. सक्का की सूक्ष्म कलाकृतियां अनूठी हैं. इन्होंने फुटबॉल का मैदान, क्रिकेट का मैदान, सूक्ष्म बैट-बॉल, शतरंज का पूरा सेट, ॐ, क्रॉस, खड्ग, अल्हा, आदि भी बनाए हैं. हॉल ही में इनके द्वारा रामलाल की पादुकाएं भी सूक्ष्म बनाई है. इन सभी कलाकृतियों को आमजन के देखने के लिये रखना चाहते हैं. इस के लिए सक्का अपनी ओर से प्रयासरत हैं.

ये भी पढ़ें- बिजनेसमैन की आंखों में मिर्ची डाल 33 लाख रुपए लूटने वाले गिरफ्तार, 10 लाख रुपए बरामद

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Maha Shivratri 2024: वागड़ क्षेत्र में पहाड़, गुफा और पानी के बीच में बसते हैं भोलेनाथ
राजस्थान के स्वर्ण शिल्पकार ने बनाया विश्व का सबसे छोटा शिवलिंग, PM मोदी को करेंगे भेंट
This Master Plan will change the condition of Bikaner, Picture of 90 villages will change till 2046
Next Article
Bikaner Masterplan: राजस्थान के बीकानेर जिले की दशा बदल देगा ये मास्टरप्लान, 90 गांवों की बदल जाएगी तस्वीर
Close
;