विज्ञापन
Story ProgressBack

बिजनेसमैन की आंखों में मिर्ची डाल 33 लाख रुपए लूटने वाले गिरफ्तार, 10 लाख रुपए बरामद

Jaipur 33 Lakh Loot Case: राजस्थान की राजधानी जयपुर में बीते दिनों बिजनेसमैन से हुई 33 लाख रुपए लूट के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए 10 लाख रुपए जब्त किए है.

Read Time: 3 min
बिजनेसमैन की आंखों में मिर्ची डाल 33 लाख रुपए लूटने वाले गिरफ्तार, 10 लाख रुपए बरामद
जयपुर पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.

Jaipur 33 Lakh Loot Case: राजस्थान की राजधानी जयपुर में बीते कुछ दिनों में अपराध की घटनाएं बढ़ी है. बीते दिनों यहां पीएनबी बैंक में लूट की कोशिश हुई थी. जिसमें बदमाशों ने कैशियर को गोली मार दिया था. विधानसभा चुनाव परिणाम आने के कुछ ही दिनों बाद श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की घर में घुसकर हत्या की गई थी. इसके साथ-साथ बीते दिनों जयपुर में एक बिजनेसमैन से हुई 33 लाख रुपए की लूट की वारदात हुई थी. इस मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए 10 लाख रुपए जब्त किए है.
 

मिली जानकारी के अनुसार जयपुर के विद्याधर नगर थाना इलाके में 1 मार्च को एक बिजनेसमैन की आंखों में मिर्ची डालकर बदमाशों ने 33 लाख लूट लिए थे. इस मामले की छानबीन में जुटी पुलिस ने अब पूरे मामले का खुलासा कर दिया है.

डीसीपी नॉर्थ राशी डोगरा ने दी कार्रवाई की जानकारी

मामले में तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. मामले को लेकर डीसीपी नॉर्थ राशी डोगरा ने पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि 1 मार्च को जब यह वारदात हुई थी उसके में चार घंटे बाद ही आरोपियों की पहचान कर ली गई थी. आरोपियों को पकड़ने के लिए आठ विशेष टीमों का गठन किया गया था.

सुनील, कर्मवीर और मनोज नामक तीन बदमाश गिरफ्तार

डीसीपी ने आगे बताया कि इस पूरे मामले में डीएसटी और विद्याधर नगर थाना पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई को अंजाम देते हुए आरोपी सुनील, कर्मवीर, मनोज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. डोगरा ने बताया की इस पूरी वारदात का खुलासा एडीसीपी बजरंग सिंह शेखावत और एसीपी राजेश कुमार जांगिड़ के सुपरविजन में हुआ.

बिजनेसमैन के एक कर्मी को रुपए का लालच देकर वारदात को दिया अंजाम

उन्होंने बताया कि जिस तरह से यह वारदात राजधानी जयपुर में नजर आई थी उसके बाद कुछ अधिकारियों के निर्देश पर हम लोगों की तरफ से कार्रवाई शुरू कर दी गई थी. जब जांच की गई तो सामने आया कि पारिवादी गर्व खंडेलवाल काफी समय से आशीष से धनश्री टावर से रुपए का लेनदेन करता आ रहा था. इस पूरे मामले में जो फरार आरोपी संदीप सिंह है, उसने आशीष के कर्मचारी सुनील को अपनी गैंग में शामिल किया और रुपए को लालच देकर उसे इस तरह की वारदात को करवाया.

दो फरार बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी

मामले में दो आरोपी अभी भी फरार है जिनको जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. बता दें कि 1 मार्च को पीड़ित की आंखों में मिर्ची डालकर 33 लाख रुपए से भरा बैग लूट कर भाग गए थे. पुलिस के अनुसार इस वारदात में कुल पांच बदमाश शामिल थे. जिनमें से तीन को गिरफ्तार कर 10 लाख रुपए बरामद कर लिए गए है. दो फरार बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए तलाशी जारी है. 

यह भी पढ़ें -  Rohtak Murder: गैंगस्टर रोहित गोदारा की चेतावनी, फेसबुक पर लिखा, 'अपनी अर्थी चोकठ पे तैयार रखें'

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close