विज्ञापन

Jaisalmer Desert Festival: डेजर्ड फेस्टिवल में सिंधी नस्ल के घोड़ों ने लगाई दौड़, कार-जीप को भी छोड़ा पीछे, देखें Photos

जैसलमेर में डेजर्ट फेस्टिवल का शनिवार को अंतिम दिन था. इस दौरान लाणेला के रण में सिंधी नस्ल के घोड़ों दौड़ लगाई. इस घुड़दौड के दौरान सैलानी और दर्शक मंत्रमुग्ध नजर आएं. यह आयोजन सिंधी नस्ल के घोड़ों के संरक्षण के उद्देश्य किया गया था. (श्रीकांत व्यास)

February 25, 2024, 2:37
  • Jaisalmer Desert Festival: डेजर्ड फेस्टिवल में सिंधी नस्ल के घोड़ों ने लगाई दौड़, कार-जीप को भी छोड़ा पीछे, देखें Photos
    अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त मरू महोत्सव 2024 के अंतिम दिन के कार्यक्रमों की कड़ी में लाणेला रण में आयोजित घुड़दौड़ प्रतियोगिता आकर्षण का केंद्र रही.(श्रीकांत व्यास)
  • Jaisalmer Desert Festival: डेजर्ड फेस्टिवल में सिंधी नस्ल के घोड़ों ने लगाई दौड़, कार-जीप को भी छोड़ा पीछे, देखें Photos
    दौड़ का आयोजन सिंधी अश्व संस्थान जैसलमेर द्वारा करवाया गया जिसमें जैसलमेर सहित बाड़मेर, गुजरात, पंजाब, हरियाणा के धावकों ने हिस्सा लिया.
  • Jaisalmer Desert Festival: डेजर्ड फेस्टिवल में सिंधी नस्ल के घोड़ों ने लगाई दौड़, कार-जीप को भी छोड़ा पीछे, देखें Photos
    जिला मुख्यालय से 20 किलोमीटर दूर स्थित लाणेला गांव के विशाल भू-भाग में फैले रण क्षेत्र में घुड़सवारों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया. इस प्रतियोगिता के तहत गेल्फ घुड़दौड़ में 7 मादरी में 5 छोटी रेवाल में 35 और बड़ी रेवाल में 10 घोडे़ शामिल हुए.
  • Jaisalmer Desert Festival: डेजर्ड फेस्टिवल में सिंधी नस्ल के घोड़ों ने लगाई दौड़, कार-जीप को भी छोड़ा पीछे, देखें Photos
    यह स्वदेशी घोड़े की नस्ल राजस्थान के जैसलमेर और बाड़मेर जिलों के मूल निवासी है साथ ही यह गुजरात के कच्छ में भी देखने को मिलते है. इनकी भारत में कुल आबादी करीब 4 हजार है.
  • Jaisalmer Desert Festival: डेजर्ड फेस्टिवल में सिंधी नस्ल के घोड़ों ने लगाई दौड़, कार-जीप को भी छोड़ा पीछे, देखें Photos
    महाभारत के अनुसार सिंधी घोड़े घोड़ों की सबसे अच्छी नस्लों में से एक है. सिंधी घोड़ा लंबी दूरी तय करने में बड़ी गति और सहनशक्ति के साथ प्रदर्शन करता है.
  • Jaisalmer Desert Festival: डेजर्ड फेस्टिवल में सिंधी नस्ल के घोड़ों ने लगाई दौड़, कार-जीप को भी छोड़ा पीछे, देखें Photos
    कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य सिंधी नस्ल के घोड़ो का संरक्षण करना और इसके प्रति लोगों को जागरूक करना रहा. वहीं अतिथियों एवं आयोजन समिति द्वारा विजेताओं को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया.
  • Jaisalmer Desert Festival: डेजर्ड फेस्टिवल में सिंधी नस्ल के घोड़ों ने लगाई दौड़, कार-जीप को भी छोड़ा पीछे, देखें Photos
    अनूठी विशेषताओं में चेहरे की रोमन नाक उपस्थिति, सिरों पर मुड़े हुए कान, लेकिन एक-दूसरे को नहीं छूना, 56 से 60 इंच की ऊंचाई, छोटी पीठ, छोटी पस्टर्न हड्डी की लंबाई, बेहतर पकड़ और विनम्र स्वभाव के लिए व्यापक खुर शामिल हैं.
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination