विज्ञापन

दीपोत्सव पर जगमगाया जोधपुर का ऐतिहासिक तूरजी का झालरा, विदेशी सैलानियों में भी दिखा उत्साह

जोधपुर के ऐतिहासिक तूरजी का झालरा में दीपावली से पूर्व संध्या पर दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में देशी और विदेशी सैलानियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. कार्यक्रम में 2500 से अधिक दीपों की रोशनी से झालरा को सजाया गया. साथ ही फोक म्यूजिक और इंटरनेशनल म्यूजिक का संगम भी कार्यक्रम को और अधिक मनमोहक बना दिया. कार्यक्रम के माध्यम से मारवाड़ की संस्कृति एवं विरासत को भी प्रदर्शित किया गया.

November 11, 2023, 2:32
  • दीपोत्सव पर जगमगाया जोधपुर का ऐतिहासिक तूरजी का झालरा, विदेशी सैलानियों में दिखा उत्साह
    जोधपुर शहर के 283 वर्ष पुराने ऐतिहासिक तूरजी का झालरा में दीपावली से पूर्व संध्या पर दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में देशी सैलानियों के साथ ही विदेशी सैलानियों में भी खासा उत्साह देखा गया.
  • दीपोत्सव पर जगमगाया जोधपुर का ऐतिहासिक तूरजी का झालरा, विदेशी सैलानियों में दिखा उत्साह
    दीपावली के त्यौहार में शहर के मुख्य स्थान तूरजी का झालरा में ट्रेक ऑन ड्रीम्स और नगर निगम उत्तर के संयुक्त तत्वाधान में "लाइटिस्तान, ए लाइट फेस्टिवल दीपोत्सव" का आयोजन किया गया. जो अपने आप में शहर का फर्स्ट ऑथेंटिक लाइट फेस्टिवल था. जहां पच्चीस सौ से ज्यादा दीपों की रोशनी के साथ पूरे तूरजी का झालरा को रोशन किया गया.
  • दीपोत्सव पर जगमगाया जोधपुर का ऐतिहासिक तूरजी का झालरा, विदेशी सैलानियों में दिखा उत्साह
    दीपावली की जगमगाहट शहर के हर कोने में देखी जा रही है. जहां बात करे शहर के ऐतिहासिक धरोहर की तो भीतरी शहर में स्थित ऐतिहासिक तूरजी का झालरा पर्यटन की दृष्टि से विश्व मानचित्र में अपना अलग स्थान रखता है. यह देशी पर्यटकों के साथ ही विदेशी पर्यटकों को भी आकर्षित करता रहा है. शहर में भी इन दिनों दीपोत्सव के पावन पर्व की खुशहाली का माहौल छाया हुआ है.
  • दीपोत्सव पर जगमगाया जोधपुर का ऐतिहासिक तूरजी का झालरा, विदेशी सैलानियों में दिखा उत्साह
    भीतरी शहर के क्लॉक टावर के पास वर्ष 1740 में निर्मित तूरजी का झालरा का निर्माण हुआ था. यह जोधपुर की पारंपरिक जल प्रबंधन प्रणालियों को दर्शाती कुछ शेष संरचनाओं में से एक है. इसका निर्माण महाराजा अभय सिंह की रानी-संघ द्वारा बनाया गया था. जो उस क्षेत्र की सदियों पुरानी परंपरा का संकेत है. यहां पर राजशाही शासन के समय शाही परिवार की महिलाएँ सार्वजनिक जल कार्यों की देखरेख करती थीं. वर्तमान समय मे तूरजी का झालरा की प्रभावशाली डिजाइन कई पर्यटकों को आकर्षित करती है.
  • दीपोत्सव पर जगमगाया जोधपुर का ऐतिहासिक तूरजी का झालरा, विदेशी सैलानियों में दिखा उत्साह
    कार्यक्रम में पूरे जोधपुर से हर उम्र वर्ग के लोग और इसके साथ कई विदेशी पर्यटक भी शामिल हुए. साथ ही फोक म्यूजिक और इंटरनेशनल म्यूजिक का संगम भी कार्यक्रम को और भी अधिक मनमोहक और ऊर्जा देने वाला रहा. जिसमें डीजे आर्टिस्ट डीजे मैक्सी, गिटार आर्टिस्ट और अत्ता मोहम्मद लंगा ग्रुप की परफॉर्मेंस ने शाम को और भी यादगार बना दिया.
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • 24X7
Choose Your Destination