विज्ञापन
Story ProgressBack

भीलवाड़ा में 1250 मेडिकल स्टोर आधे दिन रहेंगे बंद, प्रदर्शन की चेतावनी

Rajasthan News: भीलवाड़ा में करीब 1250 मेडिकल स्टोर 14 मई को बंद रहेंगे. मेडिकल स्टोर व्यापारियों ने बैठक करके निर्णय लिया. मेडिकल स्टोर मालिक सूचना केंद्र से कलेक्ट्रेट तक जुलूस निकालेंगे. प्रशासन के सामने अपनी मांगे रखेंगे.

Read Time: 3 mins
भीलवाड़ा में 1250 मेडिकल स्टोर आधे दिन रहेंगे बंद, प्रदर्शन की चेतावनी
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Rajasthan News: डिस्ट्रिक्ट केमिस्ट इंस्टीट्यूट की ओर से 14 मई को दोपहर 12 बजे तक जिले की सभी मेडिकल स्टोर बंद रहेंगे. सचिव राकेश काबरा ने बताया कि 5 सूत्रीय मांगों को लेकर कलेक्टर और एसपी को ज्ञापन देंगे. सुबह 10 बजे सूचना केन्द्र पर सभी मेडिकल स्टोर संचालक इकट्ठा होंगे. रैली के रूप में कलेक्ट्रेट पहुंचकर ज्ञापन देंगे. सचिव काबरा ने बताया कि समस्याओं का समाधान नहीं होने पर आंदोलन को और आगे बढ़ाएंगे. 

OTC दवाओं को सभी को बेचने की अनुमति पर आपत्ति 

OTC दवाओं को सभी को बेचने की अनुमति पर आपत्ति है. इस तरह के कमद मौजूदा दवा कानूनों, फार्मेसी विनियमों का उल्लंघन करेगा. उचित विनियमन के बिना ओटीसी दवा बिक्र की अनुमति देने से गंभीर खतरा पैदा हो सकता है. प्रस्ताव में इस बात पर चिंता व्यक्त की है. खतरनाक और स्व-चिकित्सा और नशीली दवाओं का दुरुपयोग हो सकता है. 

1250 मेडिकल स्टोर रहेंगे बंद

मेडिकल स्टोर्स संगठन का दावा है कि भीलवाड़ा जिले में 1250 से अधिक छोटे बड़े मेडिकल स्टोर हैं.  सभी मेडिकल स्टोर पर 14 मई को बंद रहेंगे. इस दौरान कलक्ट्रेट चौराहे पर मानव श्रृंखला बनाई जाएगी. सभी तहसील स्तरीय संगठनों ने इस बंद को समर्थन देने की घोषण की है. 

पांच सूत्रीय मांग पत्र में क्या ?

  • 23 फरवरी 2024 को करेड़ा में मेडिकल संचालक से हुई लूट पुलिस कार्रवाई. 
  • मेडिकल संचालको की सुरक्षा से समझौता किया जा रहा है. इस मामले की अब और नजर अंदाज नहीं कर सकते. 
  • OTC दवाओं को सभी को बेचने की अनुमति पर आपत्ति.  बिना लाइसेंस के ओवर द काउंटर (ओटीसी) दवाओं की बिक्री की अनुमति का केंद्र सरकार का प्रस्ताव गलत है.   
  • दवा दुकानों पर डॉक्टरों द्वारा जबरन झोलाछाप की श्रेणी में मानकर कार्रवाई की जा रही है.  
  • मरीज पर्ची में बहुत बार डॉक्टर की लिखावट समझने में बहुत कठिनाई आती है. गलती की संभावना बनी रहती है. ऐसी लिखावट होनी चाहिए, जो समझ में आए.  

क्या है गाइड लाइन

केमिस्ट एसोसिएशन के सचिव का दावा है कि एमसीए की गाइडलाइन के अनुसार मरीज पर्ची कैपिटल लेटर में लिखना अनिवार्य है.  इस संबंध में पूर्व में आईएमए भीलवाड़ा (डॉक्टर का संगठन) के अध्यक्ष एवं सचिव को दो बार लिखित में सूचित किया जा चुका है. 

यह भी पढ़ें: जयपुर के Fortis Hospital में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, नर्सिंग स्टाफ भानु लववंशी को किया गिरफ्तार

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan: सड़क जाम, पथराव फिर लाठीचार्ज! जानवरों के कटे सिर के अवशेष मिलने से पाली में बढ़ा तनाव
भीलवाड़ा में 1250 मेडिकल स्टोर आधे दिन रहेंगे बंद, प्रदर्शन की चेतावनी
BAP will form a new alliance on the lines of INDAI and NDA, announced national president Mohanlal Roat
Next Article
Rajasthan Politics: INDIA और NDA की तर्ज पर नया एलायंस बनाएगी BAP, राष्ट्रीय अध्यक्ष रोत ने किया बड़ा ऐलान
Close
;