विज्ञापन
Story ProgressBack

इस पक्षी के अंडों से किसान बारिश का लगा लेते हैं पूर्वानुमान, जानें क्या है मान्यता?

Weather Prediction: राजस्थान के किसान टिटहरी के अंडों से बारिश का पूर्वानुमान लगाते हैं. खेत की जुताई करते समय टिटहरी के अंडे दिख जाए, तो किसान उस जगह की जुताई नहीं करते हैं. आखिर क्या है उनकी मान्यता..

Read Time: 3 mins
इस पक्षी के अंडों से किसान बारिश का लगा लेते हैं पूर्वानुमान, जानें क्या है मान्यता?
डिडवाना में टिटहरी ने खेत में चार अंडे दिए. किसान अंडों को देखकर बारिश का पूर्वानुमान लगा लेते हैं.

Weather Prediction: राजस्थान के ग्रामीण इलाकों में आज भी किसान प्रकृति के इशारों से मौसम का अंदाज़ा लगाते हैं. यहाँ के किसान टिटहरी पक्षी के अंडों को देखकर बारिश का पूर्वानुमान लगा लेते हैं कि इस वर्ष मानसून में बारिश कैसी होगी. 

किसान टिटहरी के अंडों से बारिश का पूर्वानुमान लगाते हैं 

माना जाता है कि टिटहरी पक्षी में मौसम का पूर्वानुमान लगाने की अद्भुत क्षमता होती है. इसी कारण किसान भी टिटहरी के अंडों को देखकर बरसात का पूर्वानुमान लगाते हैं. खेतों मे टिटहरी के अंडे दिखाई देना मानसून के आने का संकेत माना जाता है.  

आद्रा नक्षत्र से पहले टिटहरी का प्रसव काल होता है

ज्योतिष शास्त्रों में भी यही माना जाता है कि जब सूर्य देव आद्रा नक्षत्र में प्रवेश करते हैं तो मानसून की गतिविधि शुरू हो जाती है. आद्रा नक्षत्र से पहले टिटहरी का प्रसव काल होता है.  

डीडवाना में टिटहरी ने चार अंंडे दिए. किसानों इन अंडों से बारिश का पूर्वानुमान लगाया है.

डीडवाना में टिटहरी ने चार अंंडे दिए

अंडों से लगाते हैं पूर्वानुमान कितने महीने होगी बारिश 

डीडवाना जिले के कई गांवों के खेतों में भी इस बार टिटहरी के चार अंडे नजर आए हैं. किसान परसाराम बुगालिया ने बताया कि बुजुर्गों के अनुसार टिटहरी जितने अंडे देती है, उतने महीने बारिश होती है. टिटहरी अगर दो अंडे देती है तो माना जाता है कि मानसून की अवधि दो महीने रहेगी. 

"टिटहरी ने इस वर्ष चार अंडे दिए हैं, तो इस बार बरसात का मौसम चार महीना रहेगा. यह अच्छे मानसून रहने के संकेत है. बुजुर्गों की माने तो इस बार टिटहरी के चार अंडे दिखाई दिए हैं तो 4 महीने बारिश होगी" - परसाराम बुगालिया, किसान

किसान टिटहरी के अंडों को नहीं पहुंचाते नुकसान 

टिटहरी का प्रजनन काल मार्च से जून महीने तक होता है, जिसमें टिटहरी अंडे देती है.  इस दौरान बुजुर्ग लोग मई महीने के अंत में टिटहरी के अंडे देखकर अंदाजा लगाते हैं की बारिश कब और कितनी होगी.  ग्रामीण क्षेत्रों के किसानों का कहना कि खेत की जुताई करते समय यदि किसान को टिटहरी के अंडे दिख जाए तो वे उस जगह की जुताई नहीं करते. टिटहरी के अंडों का कोई नुकसान नहीं करते हैं. 

किसान इस बार 4 महीने बारिश का लगाया अनुमान 

किसान छिगनाराम बुगालिया का कहना है कि ऐसा माना जाता है कि टिटहरी अपने अंडे निचले स्थान पर देती है, तो माना जाता है कि उस साल बारिश कम होगी. अगर यह अंडे जमीन के ऊंचे स्थान पर या खेतों की मेड़ पर देती है तो उस साल अच्छी बारिश की संभावना है. टिटहरी ने इस वर्ष चार अंडे दिए हैं, जिससे बरसात का मौसम चार माह रहने के संकेत मिल रहे हैं. किसानों का मानना है कि इस साल भरपूर बरसात होगी और खेतों में फसलों की अच्छी पैदावार होगी. 

यह भी पढ़ें: राजस्थान यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स पर लाठीचार्ज, छात्र नेता शुभम रेवाड़ को हिरासत में लिया

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
तालाब पर बना लिए घर, जब आया बुलडोजर, तो लोग पूछ रहे-'पहले कहां था प्रशासन'
इस पक्षी के अंडों से किसान बारिश का लगा लेते हैं पूर्वानुमान, जानें क्या है मान्यता?
ACB caught the head constable red handed while taking bribe, laid a trap like this
Next Article
Rajasthan News: ACB ने झुंझुनूं में की बड़ी कार्रवाई, हेड कांस्टेबल को रिश्वत लेत रंगे हाथ पकड़ा
Close
;