विज्ञापन
Story ProgressBack

Kanwar Yatra 2024: कांवर यात्रा पर उत्तराखंड के डीजीपी सख्त, राजस्थान इंटेलिजेंस ब्यूरो से मीटिंग कर मांगा इनपुट

Inter State Meeting on Kanwar Yatra: उत्तराखंड के डीजीपी अभिनव कुमार ने सोमवार को पुलिस मुख्यालय के सभागार में कांवर यात्रा पर अंतरराज्यीय और अंतर-इकाई समन्वय बैठक आयोजित की, जिसमें 7 राज्यों के अधिकारी शामिल हुए.

Read Time: 3 mins
Kanwar Yatra 2024: कांवर यात्रा पर उत्तराखंड के डीजीपी सख्त, राजस्थान इंटेलिजेंस ब्यूरो से मीटिंग कर मांगा इनपुट
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Rajasthan News: सावन का पवित्र महीना इस बार 22 जुलाई से शुरू होने जा रहा है. यह दिन शिव भक्तों के लिए बहुत खास होता है, क्योंकि इसी दिन से कांवर यात्रा (Kanwar Yatra) की भी शुरुआत हो जाती है. इस महीने में भगवान शिव का अभिषेक करने से वो बहुत प्रसन्न होते हैं. इसीलिए देशभर से लाखों शिव भक्त गंगातट पर पहुंचकर कलश में गंगाजल भरते हैं, और उसको कांवड़ के जरिए शिवालयों में लाकर भोलेनाथ का अभिषेक करते हैं. 

इस यात्रा को लेकर भक्तों में काफी उत्साह रहता है. ऐसे में कांवड़ियों की सुरक्षा और आमजन की सुविधा को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड के डीजीपी अभिनव कुमार ने सोमवार को पुलिस मुख्यालय के सभागार में कांवर यात्रा पर अंतरराज्यीय और अंतर-इकाई समन्वय बैठक आयोजित की, जिसमें उत्तर प्रदेश के अधिकारी शामिल हुए. इस दौरान दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, सीआरपीएफ, रेलवे सुरक्षा बल, इंटेलिजेंस ब्यूरो ने सीधे और ऑनलाइन भाग लिया.

'यात्रा को लेकर संवेदनशीलता बढ़ गई'

बैठक के दौरान पुलिस महानिदेशक ने अपने कहा, 'आगामी कांवर यात्रा 22 जुलाई से 2 अगस्त तक है. कांवर एक बहुत बड़ा धार्मिक आयोजन है, जिसमें न केवल हरिद्वार बल्कि आसपास के जिलों और राज्यों को कानून व्यवस्था, भीड़ प्रबंधन, यातायात प्रबंधन आदि जैसी कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. पहले यह यात्रा केवल उत्तराखंड राज्य को प्रभावित करती थी, लेकिन अब यह उत्तर भारत के अन्य राज्यों को भी प्रभावित करती है. इस बैठक का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, हिमाचल, पंजाब, राजस्थान और अन्य एजेंसियों के सहयोग से कांवड़ यात्रा सुरक्षित और शांतिपूर्वक संपन्न हो. सभी के विचारों पर चर्चा के बाद हमने यह निष्कर्ष निकाला है कि कांवर यात्रा को लेकर संवेदनशीलता बढ़ गई है.'

'डिस्टरबेंस बर्दाश्त नहीं किया जाएगा'

डीजीपी ने कहा कि कांवड़ यात्रा को लेकर सोशल मीडिया पर किए जा रहे पोस्ट पर कड़ी नजर रखने की जरूरत है. इसके लिए सोशल मीडिया पर निगरानी बढ़ाई जाएगी. उन्होंने कहा कि हमें कांवरियों को कांवर यात्रा के निर्धारित मार्ग पर रखने का प्रयास करना होगा, ताकि राजमार्ग पर यातायात में कोई व्यवधान न हो. हम सब मिलकर इस पर प्रयास करेंगे. डीजीपी ने कहा कि कांवर यात्रा एक पवित्र धार्मिक यात्रा है और इसका पवित्र स्वरूप बरकरार रखा जाना चाहिए. कांवर यात्रा के नाम पर डिस्टरबेंस बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

(इनपुट- ANI)

ये भी पढ़ें:- मंत्री किरोड़ी लाल मीणा को मिली एक और अहम जिम्मेदारी, भाजपा ने उप-चुनाव के लिए प्रभारी किए नियुक्त

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan: पीबीएम अस्पताल की इस सुविधा से मिलेगा बीकानेर संभाग को फायदा, मरीजों के इलाज के लिए जयपुर से आएंगे डॉक्टर
Kanwar Yatra 2024: कांवर यात्रा पर उत्तराखंड के डीजीपी सख्त, राजस्थान इंटेलिजेंस ब्यूरो से मीटिंग कर मांगा इनपुट
Ravindra Bhati's Shiv Vidhan Sabha and Vasundhara Raje's plan ignored in Rajasthan Budget 2024 Know What Barmer get and what is Disappointment
Next Article
बजट में रविंद्र भाटी की शिव विधानसभा और वसुंधरा की योजना की अनदेखी, जानें बाड़मेर को क्या मिला और क्या है निराशा
Close
;