विज्ञापन
Story ProgressBack

तीरंदाजी के एडवांस गुर सीखने कोरिया जाएंगे 20 तीरंदाज कोच, दल में दो राजस्थानी कोच भी शामिल

Korea Tour to Learn Advanced Tricks of Archery: चुने गए 20 कोच में राजस्थान प्रदेश से दो कोच शामिल हैं. आदिवासी अंचल बांसवाड़ा के खेल अधिकारी धनेश्वर मईडा और बीकानेर जिले के अनिल जोशी को साउथ कोरिया में 7 दिन तक धनुर्विद्या की अत्याधुनिक तकनीक की जानकारी व प्रशिक्षण दिया जाएगा.

Read Time: 3 min
तीरंदाजी के एडवांस गुर सीखने कोरिया जाएंगे 20 तीरंदाज कोच, दल में दो राजस्थानी कोच भी शामिल
प्रतीकात्मक तस्वीर

Indian Archery Association: भारत तीरंदाजी प्रतियोगिता में अधिक से अधिक मेडल प्राप्त कर सके और देश के धनुर्धरों की तीरंदाजी में और भी पैनापन लाने के लिए तीरंदाजी के कोच और प्रशिक्षकों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा. इसी के तहत ही भारतीय तीरंदाजी संघ पूरे देश से 20 कोच को एडवांस ट्रेनिंग के लिए साउथ कोरिया भेजेगा.

चुने गए 20 कोच में राजस्थान प्रदेश से दो कोच शामिल हैं. आदिवासी अंचल बांसवाड़ा के खेल अधिकारी धनेश्वर मईडा और बीकानेर जिले के अनिल जोशी को साउथ कोरिया में 7 दिन तक धनुर्विद्या की अत्याधुनिक तकनीक की जानकारी व प्रशिक्षण दिया जाएगा.

साउथ कोरिया तीरंदाजी में रखता है विशिष्ट स्थान

साउथ कोरिया में ट्रेनिंग के लिए चयनित कोच में शामिल बांसवाड़ा के जिला खेल अधिकारी धनेश्वर मईड़ा ने बताया कि विश्व तीरंदाजी में साउथ कोरिया विशिष्ट स्थान रखता है, वहां अत्याधुनिक तकनीक के माध्यम से तीरंदाजों को अशिक्षित किया जाता है, इसलिए सभी को वहां पर भेजा जा रहा है, जहां 23 फरवरी से 1 मार्च तक एडवांस ट्रेनिंग कार्यक्रम निर्धारित है,

मेडल प्राप्त करने में चूक रहे हैं भारतीय

बीकानेर से चयनित हुए शिक्षक अनिल जोशी ने बताया कि वहां पर प्रशिक्षण प्राप्त करना फायदेमंद रहेगा. बीते वर्षों में कड़ी मेहनत और अच्छे प्रदर्शन के बाद भी हमारे खिलाडिय़ों से निखार नहीं आ पाया है और वह मेडल प्राप्त करने में चूक रहे हैं इस प्रशिक्षण से हमारी कमियों के बारे में जानकारी प्राप्त होगी जो खिलाड़ियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी.

भारत की टीम के कोच रह चुके हैं मईडा

बांसवाड़ा जिला खेल अधिकारी धनेश्वर महिला जहां स्वयं एक अच्छे तीरंदाज हैं. भारतीय टीम के कोच के रूप में विदेशी जमीन पर भारत की टीम को लेकर जा चुके हैं, जिसके चलते उनको टीम की कमजोरी और खिलाड़ियों के बारे में अच्छी जानकारी है. उन्होंने बताया कि एडवांस्ड प्रशिक्षण मिलने पर इन कमियों को दूर किया जा सकेगा और आने वाले समय में भारत तीरंदाजी प्रतियोगिता में और अधिक मेडल प्राप्त कर सकेगा.

ये भी पढ़ें-जैसलमेर पहुंचे पूर्व क्रिकेटर यूसुफ पठान, मखमली धोरों का उठाया लुत्फ, पूर्व महारावल के साथ खेला क्रिकेट

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • 24X7
Choose Your Destination
Close