विज्ञापन
Story ProgressBack

ACL ग्रीन सिटी के मेन गेट पर वासिंदों का विरोध-प्रदर्शन, कई मूलभूत सुविधाएं न मिलने का लगाया आरोप

ACL Green City: राजस्थान की सबसे इंटीग्रेटेड एशियन सिटी एसीएल ग्रीन के मेन गेट पर जमकर हंगामा देखने को मिला है. लोगों ने मूलभूल सुविधाएं न मिलने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया.

Read Time: 4 mins
ACL ग्रीन सिटी के मेन गेट पर वासिंदों का विरोध-प्रदर्शन, कई मूलभूत सुविधाएं न मिलने का लगाया आरोप
ACL ग्रीन के वासिंदों का प्रदर्शन

ACL Green City: राजस्थान की सबसे इंटीग्रेटेड एशियन सिटी एसीएल ग्रीन के मेन गेट पर रविवार को जमकर हंगामा देखने को मिला. वहां पर रहने वालों ने सुविधाओं की मांग को लेकर प्रदर्शन किया. लोगों की तरफ से कहा गया कि जह ग्रीन सिटी को बनाया जाना था तो उस समय बड़े-बड़े होर्डिंग के माध्यम से तमाम सुविधाओं वाली राजस्थान की सबसे बड़ी ग्रीन सिटी के भ्रामक प्रचार करके बेचे गए थे और अब जब लोग यहां रहने लगे तो उनको सुविधाओं के नाम पर ठेंगा दिखा दिया गया. 

गुमराह करने प्रचार करके बेचा

लोगों को आरोप है कि यहां रहने वाले लोग अपने किसी निजी कार्यक्रम का आयोजन भी इस ACL सिटी में नहीं कर सकते हैं. दौसा शहर के लालसोट बाईपास पर स्थित अमित कॉलोनाइजर द्वारा जिन सपनों को दिखाकर ACL ग्रीन सिटी में घर बेचे गए, उनमें से आज तक न के बराबर मूलभूत सुविधाएं दी गई. उधर मजे की बात यह है कि उस समय गुमराह करने वाले प्रचार में तमाम मूलभूत सुविधाओं के साथ आधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण बनाने का वादा था. हालांकि, अब धरातल पर मामला शून्य होने के आरोप लगे हैं. 

इसी बात को लेकर रविवार को सुबह ACL ग्रीन सिटी के रहने वालों ने गेट पर ही धरना दे दिया. उन्होंने आरोप लगाए हैं कि नाले के गंदे पानी से यहां मकान का निर्माण किया जा रहा है. पीने के लिए कड़वा पानी आता है, साफ सफाई की कोई व्यवस्थाएं यहां नहीं है, जबकि यह कॉलोनी पूरी तरह चार दिवारी के अंदर बनी है. उसके बावजूद भी सामाजिक तत्व दीवार कूद कर इस सिटी के अंदर प्रवेश करते हैं और बेरोक टॉक रेकी करते हैं.  

वासिंदों को कार्यक्रम करने की इजाजत नहीं

कॉलोनी की रहने वाली पूनम मीणा ने बताया कि प्लॉट नंबर 24 उनका है. उनकी जमीन पर बिना परमिशन टेंट लगाकर किसी कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है, जबकि रहवासियों के यहां जब कोई कार्यक्रम होता है तो उन्हें यह कह दिया जाता है कि तुम इस ACL ग्रीन सिटी से बाहर जाकर अपना कार्यक्रम कर लो यहां कार्यक्रम करने के लिए जगह नहीं दी जाएगी. पानी के नाम पर खारे पानी की व्यवस्थाएं हैं. 

ACL ग्रीन सिटी के निवासी विजय शर्मा की माने तो उनका कहना है कि उन्हें यहां रहते ढाई साल का वक्त हो गया है, लेकिन उन्हें आज तक भी पजेशन लेटर नहीं दिया गया. इतना ही नहीं जब वह उसकी शिकायत करने ACL ग्रीन सिटी की सचिव नीलम शर्मा के पास जाते हैं तो उनके द्वारा यह कहकर भगा दिया जाता है कि यह समस्या तुम्हारी व्यक्तिगत समस्या है और बाकी लोगों को नहीं है. विजय शर्मा ने तो यह भी आरोप लगाए हैं कि इस सिटी में ना तो कोई रोड है. ना कोई सीवरेज की व्यवस्था है और ना ही पानी की व्यवस्था जिसके लिए अब यहां के रहवासी तरस रहे हैं.

क्या कहते हैं कॉलोनाइजर

वहीं, ACL ग्रीन सिटी को बनाने वाली अमित कॉलोनाइजर के डायरेक्टर विजय कुमार विजयवर्गीय ने कहा कि यदि कोई भी बिल्डर मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था 24 घंटे में कर दे तो मैं भी कर सकता हूं. स्थानीय लोगों का आरोप है कि जिस समय राजस्थान की सबसे बड़ी ACL ग्रीन सिटी विकसित करवाई जा रही थी, तब बताया गया था कि तमाम सुविधाएं पहले की जाएगी. उसके बाद लोगों को पोजेशन  दिया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

इसके चलते लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर है और जिम्मेदार लोग हैं कि मौके पर पहुंचकर इन रहवासियों से बात करने के लिए तैयार नहीं है. अमित कॉलोनाइजर्स के डायरेक्टर विजय कुमार विजयवर्गीय ने तो यहां तक भी कहा है कि उनके ऊपर लगे तमाम आरोप निराधार है.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
हनुमान बेनीवाल ने उठाया बड़ा मुद्दा, कहा- विधायक रहते सांसद बनने वालों को दोनों सदनों की सदस्यता मिलनी चाहिए
ACL ग्रीन सिटी के मेन गेट पर वासिंदों का विरोध-प्रदर्शन, कई मूलभूत सुविधाएं न मिलने का लगाया आरोप
ACB Action: ACB raid on Apex Bank MD premises, search operation from Jaipur-Jodhpur to Jhunjhunu.
Next Article
ACB Action: बैंक एमडी के ठिकानों पर एसीबी की छापेमारी, जयपुर-जोधपुर से लेकर झुंझुनूं तक सर्च ऑपरेशन
Close
;