विज्ञापन
Story ProgressBack

बीकानेर को मिली पहली NIEIT सेंटर की सौगात, कौशल को तकनीक से जोड़ युवाओं को बनाया जाएगा हुनरमंद

आईटी एकेडमिक सेंटर का एक भाग डूंगर महाविद्यालय में और एक अन्य हिस्सा इनोवेशन सेंटर के रूप में एमजीएसयू परिसर में संचालित किया जाएगा. इस केन्द्र के निर्माण में 7 करोड़ रुपए की लागत आई है.

Read Time: 3 mins
बीकानेर को मिली पहली NIEIT सेंटर की सौगात, कौशल को तकनीक से जोड़ युवाओं को बनाया जाएगा हुनरमंद
केंद्र का उद्घाटन करते केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल.

Rajasthan News: केन्द्रीय कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने शुक्रवार को बीकानेर सम्भाग के सबसे बड़े कॉलेज डूंगर महाविद्यालय परिसर में नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी (नाईलिट) के केंद्र का उद्घाटन किया. सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार के अन्तर्गत आने वाले इस संस्थान में युवाओं को आईटी, एआई, इलेक्ट्रॉनिक, स्किल डेवलपमेंट जैसे कोर्सेस करने के अवसर मिलेंगे. नाईलिट के इस सेंटर में लगभग डेढ़ सौ कंप्यूटर की सुविधा युक्त लैब स्थापित की गई है. 

युवाओं के कौशल पर देना होगा ध्यान

इस दौरान केंद्रीय मंत्री मेघवाल ने कहा कि 'विज्ञान और तकनीक ने हर युग में मानव जीवन को आसान बनाया है. वर्तमान समय औद्योगिक विकास का 4.0 युग है. इस में सूचना और प्रौद्योगिकी और तकनीक की सबसे बड़ी भूमिका होगी. ऐसे में नयी आवश्यकताओं के अनुरूप नये हुनर की जरूरत होगी. हमारे युवाओं को रोजगार मिले इसके लिए उन्हें शिक्षित होने के साथ कौशल सीखने पर विशेष ध्यान देना‌ होगा. इसी क्रम में बीकानेर में नाइलिट सेंटर खुलवाया गया है. यह सेंटर यहां के युवाओं को सक्षम और सबल बनाएगा. साथ ही बीकानेर के आईटी हब बनने की दिशा में नींव का पत्थर साबित होगा.'

राजस्थान का तीसरा नाइलिट इनोवेशन सेंटर

मेघवाल ने बीकानेर के युवाओं को नाइलिट सेंटर खुलने की बधाई देते हुए कहा कि 'यह देश का 51वां और राजस्थान का तीसरा सेंटर है. बीकानेर में उच्च शिक्षा में चालीस हजार से अधिक विद्यार्थी है. यदि उच्च शिक्षा के दौरान वे नाइलिट कोर्सेस से जुड़ते हैं तो उन्हें रोजगार के अधिक अवसर मिलेंगे. उन्होंने बताया कि बीकानेर सेंटर को 2 स्थानों पर स्थापित किया गया है. डूंगर महाविद्यालय के साथ-साथ एमजीएसयू परिसर में नाइलिट का इनोवेशन सेंटर बनाया गया है. यहां विद्यार्थियों के लिए समुचित फीस में कोर्सेस उपलब्ध करवाए जाएंगे ताकि वे अधिकतम लाभ ले सकें.'

कुलपति ने जताया आभार

MGSU के कुलपति प्रो मनोज दीक्षित ने कहा कि स्थानीय कला और कौशल को मोडिफाई कर तकनीक से जोड़ने की दिशा में नाइलिट सेंटर की अहम भूमिका रहेगी. उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे कोर्सेस को मिलाकर बड़े पाठ्यक्रम बनाते हुए आईटी के‌ क्षेत्र में और हुनरमंद युवा तैयार किये जायेंगे. इस केन्द्र के बीकानेर में खुलने से यहां विद्यार्थियों को  लोकल स्तर पर ही तकनीक पढ़ने और सीखने के अवसर मिल सकेंगे. उन्होंने कहा कि बीकानेर संभावनाओं का शहर है. यह सेंटर इन‌ संभावनाओं को साकार करने में महत्वपूर्ण योगदान देगा. इनोवेशन सेंटर विश्विद्यालय में स्थापित करने के लिए उन्होंने कानून मंत्री और केंद्र सरकार का आभार प्रकट किया.

यह है सेन्टर के विशेष कोर्सेस

इस परियोजना के अंतर्गत समस्त कोर्सेज राष्ट्रीय स्तर पर प्रशिक्षित शिक्षकों , वैज्ञानिकों के माध्यम से भारत सरकार द्वारा सब्सिडाइज्ड दरों पर कोर्स उपलब्ध कराए जाएंगे और साथ ही ये कोर्स अनुसूचित जाति और जनजाति के छात्रों को  समस्त पाठ्यक्रम निशुल्क उपलब्ध होंगे. इस संस्थान में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, साइबर सुरक्षा के साथ ए ,ओ लेवल,ट्रिपल सी जैसे आकर्षक पाठयक्रम में उपलब्ध होंगे. डूंगर महाविद्यालय में ड्राइंग एंड पेंटिंग बिल्डिंग और महाराजा गंगा सिंह विश्विद्यालय में संचालित होने वाले इस केंद्र के माध्यम से विभिन्न इमर्जिंग टेक्नोलॉजी जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस साइबर सिक्योरिटी और ओ लेवल ट्रिपल सी सहित अन्य कोर्सेज करवाए जाएंगे.

मेयर सुशीला कंवर राजपुरोहित ने कहा कि वर्तमान युग आईटी का है. साथ ही उन्होंने‌ कहा कि बीकानेर के युवाओं को हुनरमंद बनने के नये अवसर मिल सकेंगे.

ये भी पढ़ें- राजस्थान में 2 महिलाओं से लोन के नाम पर हुई धोखाधड़ी, शातिरों ने लूटे लाखों रुपये

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan Politics: हरीश चौधरी की कविता से क्यों हुआ विवाद? विरोध करने सत्ता पक्ष के साथ खड़े हो गए रविंद्र सिंह भाटी
बीकानेर को मिली पहली NIEIT सेंटर की सौगात, कौशल को तकनीक से जोड़ युवाओं को बनाया जाएगा हुनरमंद
Dummy candidates caught in 10th-12th open examination, were giving exam in place of Sarpanches in Barmer Rajasthan
Next Article
अब 10वीं-12वीं की ओपन परीक्षा में भी पकड़े गए डमी कैंडिडेट, सरपंचों के बदले दे रहे थे परीक्षा
Close
;