विज्ञापन
Story ProgressBack

अयोध्या राम मंदिर में जाएगी सोने और चांदी की झाड़ू, मिजोरम की ताज घास का इस्तेमाल, जानें इसकी खासियत

राजस्थान में कोटा के रहने वाले हैं राहलु जैन. जिन्होंने अपनी भक्ति दिखाते हुए अयोध्या राम मंदिर के लिए दो विशेष झाड़ू का निर्माण किया है जो सोने और चांदी से निर्मित की गई है.

Read Time: 4 min
अयोध्या राम मंदिर में जाएगी सोने और चांदी की झाड़ू, मिजोरम की ताज घास का इस्तेमाल, जानें इसकी खासियत
अयोध्या राम मंदिर में कोटा से जाएगी सोने और चांदी की झाड़ू.

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में आयोजि होने होने वाले राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा (Ram Mandir Pran Pratistha) को लेकर पूरे देश में उत्साह है. राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में अपनी भक्ति और सेवा को दिखाने के लिए लोगों ने अलग-अलग तरीकों का सहारा लिया है. किसी ने 108 मीटर लंबी अगरबत्ती तैयार की है तो कोई मिट्टी लेकर अयोध्या पहुंच रहा है. इस बीच एक और राम भक्त राहुल जैन हैं जो राजस्थान में कोटा के रहने वाले हैं. जिन्होंने अपनी भक्ति दिखाते हुए अयोध्या राम मंदिर के लिए दो विशेष झाड़ू का निर्माण किया है जो सोने और चांदी से निर्मित की गई है. आपको बता दें, राहुल जैन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान के तहत विशाल झाड़ू का निर्माण कर भिजवा चुके हैं. जबकि हाल ही में उन्होंने भगवान श्री नाथ जी नाथद्वारा मंदिर के लिए भी चांदी का विशेष झाड़ू बनाकर तैयार किया था. 

राहलु जैन ने बताया कि पूरा देश राम के नाम में डूबा है. ऐसे में हम भी राम भत्त होने के नाते अपने हिस्से की सेवा भगवान श्री राम के चरणों में प्रस्तुत करना चाहते हैं.

अष्टधातु का किया इस्तेमाल

झाड़ू बनाने के लिए सोने और चांदी के स्टैंड बनाए गए हैं जिनको आम बोलचाल की भाषा में पाइप कहा जाता है. सोने के झाड़ू को मजबूती देने के लिए अष्टधातु का इस्तेमाल किया गया है. हालांकि इसमें प्रमुख रूप से सोने का इस्तेमाल किया गया है.  सोने और चांदी दोनों झाड़ू की लंबाई करीब 40 इंच हैं जो 7 दिन में तैयार किए गए. वहीं, झाड़ू के पाइप की लंबाई करीब 18 इंच है जिनको आकर्षक बनाने के लिए कारीगरों ने दिन-रात कड़ी मेहनत कर इसमें खूबसूरती के रंग भरे हैं.

झाड़ू के निर्माण में गंगा जमनी तहजीब की झलक

व्यवसाय राहुल जैन बताते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संकल्प सबका साथ सबका विकास के साथ-साथ कौमी एकता का भी है और कोटा में तैयार की गई. इस विशेष झाड़ू को बनाने में कारीगर अल्ताफ हुसैन ने अपनी कार्य कुशलता का परिचय दिया है. तो वहीं चांदी का कार्य तैयब भाई और जुबेर भाई ने खूबसूरती के साथ किया है. मनोज सोनी ने सोने की झाड़ू का कार्य बखूबी करके अपने राम भक्ति का परिचय दिया है. 

लिम्का बुक का रिकॉर्ड के लिए भेजा आवेदन

देश की सबसे महंगी झाड़ू में शुमार और आकर्षक होने के साथ भगवान श्री राम  मंदिर सेवा में भेजी जा रही सोने और चांदी की झाड़ू को वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज करने के लिए व्यवसाय राहुल जैन ने लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी आवेदन किया है.

मिजोरम की तक घास से निर्मित की गई है झाड़ू

झाड़ू व्यवसाय राहुल जैन ने बताया कि झाड़ू में लक्ष्मी का वास होता है. दीपावली और धनतेरस पर विशेष पूजा की जाती है. इस झाड़ू को बनाने के लिए मिजोरम की ताज घास का इस्तेमाल किया गया है. जिसको समय-समय पर मंदिर समिति से संपर्क कर बदला जा सकेगा.

झाड़ू व्यवसाय राहुल जैन ने बताया कि झाड़ू के निर्माण और राम मंदिर में सोने और चांदी की झाड़ू भेंट करने को लेकर राम मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी से सहमति प्राप्त हो गई है. वहीं मंगलवार को कोटा के प्रसिद्ध गोदावरी धाम पर विशेष पूजा अर्चना सोने और चांदी की झाड़ू की की जाएगी और भक्तों को दर्शन भी करवाए जाएंगे.

यह भी पढ़ेंः पैरों में स्केटिंग शू और हाथों में राम ध्वज लेकर 'जय श्री राम' के उद्घोष के साथ अयोध्या रवाना हुए भाई-बहन

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close