विज्ञापन
Story ProgressBack

कोटा शिव बारात हादसा: 5 बच्चे जयपुर रेफर, 1 बच्चा 100% झुलसा, जांच के लिए कमेटी गठित

Kota Shiv Barat News: महाशिवरात्रि पर कोटा में शिव बारात निकाली जा रही थी. इसी दौरान 16 बच्चों समेत 2 अन्य लोग हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलस गए. 5 बच्चों की हालत गंभीर है, जिन्हें इलाज के लिए जयपुर शिफ्ट किया गया है. वहीं हादसे की जांच के लिए कमेटी गठित कर दी गई है.

कोटा शिव बारात हादसा: 5 बच्चे जयपुर रेफर, 1 बच्चा 100% झुलसा, जांच के लिए कमेटी गठित
अस्पताल में भर्ती बच्चों को देखने पहुंचे लोकसभा स्पीकर ओम बिरला.

Kota Shiv Baraat Accident Update: राजस्थान के कोटा में महाशिवरात्रि के मौके पर शुक्रवार को आयोजित शिव बारात में भाग लेने वाले 16 बच्चे और दो अन्य लोग करंट लगने से झुलस गए. इनमें से 5 बच्चों की हालत नाजुक बताई जा रही है, जिन्हें देर रात डॉक्टर्स ने जयपुर शिफ्ट कर दिया है. मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने हादसे के घायलों को हर संभव चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराने के लिए प्रशासन को उचित निर्देश दिए हैं.

100 फीसदी तक झुलसा एक बच्चा

अधिकारियों ने बताया कि कुन्‍हाड़ी थाना क्षेत्र के अंतर्गत सगतपुरा इलाके में 10 से 16 साल के बच्चे कम ऊंचाई वाले ‘हाई टेंशन' तार की चपेट में आ गए. इनमें एक बच्चा 100 फीसदी तक झुलस गया, जबकि चार अन्य बच्चे 40 से 50 फीसद तक झुलस गए. अधिकारी ने बताया कि सभी घायलों को आनन-फानन में कोटा के एमबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां से 5 बच्चों को बेहतर इलाज के लिए अब जयपुर शिफ्ट कर दिया गया है.

हाईटेंशन तार की चपेट में आया झंडा

कोटा शहर की पुलिस अधीक्षक अमृता दुहान ने बताया कि घटना शुक्रवार को दोपहर करीब साढ़े 11 बजे से 12 बजे के बीच उस समय हुई, जब शिव बारात कालीबस्ती से गुजर रही थी. उन्होंने बताया कि यात्रा में शामिल एक लड़के ने 22 फुट लंबी लोहे की छड़ पकड़ रखी थी जो ऊपर से गुजर रहे ‘हाई-टेंशन' तार के संपर्क में आ गयी. छड़ के ऊपर एक झंडा भी लगा हुआ था. जिस बच्चे ने झंडा पकड़ा हुआ था, वह 100 फीसदी तक झुलस गया. वहीं उस बच्चे को बचाने का प्रयास करने वाले अन्य बच्चे भी झुलस गए.

ऊर्जा मंत्री संग अस्पताल पहुंचे बिरला

एमबीएस के अधीक्षक डॉ. धर्मराज मीणा ने कहा कि कम से कम 16 बच्चे तथा 28 वर्षीय एक पुरुष एवं 38 वर्षीय एक महिला को अस्पताल में आपात एवं बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया. उन्होंने कहा कि उनमें पांच बच्चों को कोटा में प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर के एसएमएस अस्पताल ले जाया गया जबकि 13 अन्य का एमबीएस अस्पताल में इलाज चल रहा है. लोकसभा अध्यक्ष एवं कोटा-बूंदी के सांसद ओम बिरला अन्य के साथ एमबीएस अस्पताल गये और घायल बच्चों के इलाज का निरीक्षण किया.

हादसे की जांच करने के निर्देश

वहीं मुख्यमंत्री शर्मा और शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने हादसे पर दुख जताया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि घायलों को हर संभव चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराने के लिए प्रशासन को उचित निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने 'एक्स' पर लिखा, ‘कोटा में महाशिवरात्रि के अवसर पर शिव बारात के दौरान ‘हाईटेंशन तार' की चपेट में आने से 18 नागरिकों के झुलसने का समाचार दु:खद है. प्रभु नीलकंठ से प्रार्थना है कि घायल नागरिकों को अति शीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्रदान करें.' शिक्षा एवं पंचायतीराज मंत्री दिलावर ने जिला कलेक्टर से फोन पर बात करके पूरे मामले की जानकारी ली तथा घायलों के उपचार के लिए सभी संभव उपाय करने के लिए निर्देश दिए.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
ERCP पर सुरेश रावत ने अशोक गहलोत को घेरा, कहा- 10 हजार करोड़ के टेंडर की बात सच लेकिन मंशा सही नहीं
कोटा शिव बारात हादसा: 5 बच्चे जयपुर रेफर, 1 बच्चा 100% झुलसा, जांच के लिए कमेटी गठित
Rajasthan State Open 10th-12th Board Exam students cheat in board exams, vigilance team climbed the wall
Next Article
Rajasthan: स्कूल के गेट पर ताला लगाकर टीचर करा रहे थे बोर्ड एग्जाम में नकल, दीवार फांदकर गई विजिलेंस टीम
Close
;