विज्ञापन
Story ProgressBack

लोकेश शर्मा ने आरएएस अधिकारी से मारपीट से किया इनकार, कहा- 'मैं कर सकता था मानहानि का दावा'

लोकेश शर्मा ने कहा कि 'इस पूरे मामले में मेरा नाम खबरों में उछाला गया, उसे लेकर मैं चाहता तो मानहानि का दावा कर सकता था. लेकिन वे नौजवान हैं, सरकारी कर्मचारी हैं, इसलिए उनके उज्ज्वल भविष्य की चिंता करते हुए मैंने ऐसा नहीं किया.'

Read Time: 3 min
लोकेश शर्मा ने आरएएस अधिकारी से मारपीट से किया इनकार, कहा- 'मैं कर सकता था मानहानि का दावा'
लोकेश शर्मा(फाइल फोटो)

Rajasthan News: RAS अधिकारी के साथ मारपीट के आरोपों को लेकर पूर्व CM अशोक गहलोत के पूर्व विशेषाधिकारी लोकेश शर्मा ने जयपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने आरएएस अधिकारी से मारपीट से जुड़े इस मामले को लेकर कहा कि मैंने कोई मारपीट नहीं की. मेरा इस मामले से कोई संबंध नहीं है. लोकेश शर्मा ने बताया कि घटना मेरे मकान के सामने हुई. यहां पर शिकायतकर्ता की मेरे छोटे भाई से गाड़ी पार्किंग को लेकर कुछ कहासुनी हुई थी.

वहीं आरएएस अधिकारी से मारपीट को लेकर लोकेश शर्मा ने यह भी कहा कि मेरी जानकारी में आया है कि शिकायतकर्ता आरएएस अधिकारी नहीं होकर, अलायड सर्विसेज से जुड़ा हुआ है. मेरे भाई और शिकायतकर्ता में हुई कहासुनी के बाद दोनों पक्षों की ओर से महेश नगर थाने में एक-दूसरे के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया गया.

मारपीट की बात गलत : लोकेश शर्मा

लोकेश शर्मा ने स्पष्ट करते हुए कहा कि शिकायतकर्ता की ओर से लिखवाई गई FIR में मकान संख्या 104, भगवती नगर प्रथम लोकेश शर्मा का बताया गया है. लेकिन मारपीट लोकेश शर्मा ने की, ऐसा कहीं नहीं था. इसके बावजूद मीडिया में जितनी भी खबरें दिखाई गईं, उनमें मेरे द्वारा शिकायतकर्ता से मारपीट किए जाने की बात कही गई. इसके अलावा जिन दोनों पक्षों में आपस में विवाद हुआ, उन दोनों ने एक-दूसरे के खिलाफ FIR दर्ज करवाई. जिनमें एक पक्ष भूराराम और दूसरा पक्ष विकास शर्मा हैं, जिन्होंने सोमवार को एक-दूसरे के खिलाफ दर्ज करवाई गई FIR पर भविष्य में किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं चाहते हुए थाने में राजीनामा भी प्रस्तुत कर दिया.

'कर सकता था मानहानि का केस' 

लोकेश शर्मा ने कहा कि इसके बावजूद जिस तरह से इस पूरे मामले में मेरा नाम खबरों में उछाला गया, उसे लेकर मैं चाहता तो मानहानि का दावा कर सकता था. लेकिन चूंकि वे नौजवान हैं, सरकारी कर्मचारी हैं, इसलिए उनके उज्ज्वल भविष्य की चिंता करते हुए ऐसा नहीं किया. लोकेश शर्मा ने इसे लेकर भी अपनी नाराजगी जताई कि मीडिया ने मामले में उनका पक्ष जाने बगैर ही खबर छाप दी. बेहतर होता कि मीडिया पहले मेरा पक्ष सुनता और उसके बाद खबर छापता. लोकेश शर्मा ने दोहराते हुए कहा कि जिस जगह शिकायतकर्ता की कहासुनी हुई वह मकान संख्या 104, भगवती नगर प्रथम मेरा है और घटना मेरे घर के सामने हुई, लेकिन मैंने किसी से मारपीट नहीं की.

ये भी पढ़े- PM Modi करेंगे राजस्थान का दौरा, पोकरण में भारतीय सशस्त्र बलों के जांबाज दिखाएंगे अपना पराक्रम 

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close