विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान में 'फ्री' योजनाओं का लाभ लेने वाली जनता किसके साथ? NDTV-CSDS सर्वे में हुआ बड़ा खुलासा

Rajasthan Election Opinion Poll: इस ओपिनियन पोल में केंद्र और राज्य की योजनाओं के लाभार्थियों से बातचीत की गई है, जिसमें उनसे पूछा गया है कि वे किसको वोट देने वाले हैं.

Read Time: 6 min
राजस्थान में 'फ्री' योजनाओं का लाभ लेने वाली जनता किसके साथ? NDTV-CSDS सर्वे में हुआ बड़ा खुलासा
प्रतीकात्मक तस्वीर.

NDTV CSDS Rajasthan Election Opinion Poll: विधानसभा चुनाव से पहले राजस्थान की जनता को रिझाने के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार ने कई नई योजनाएं शुरू की हैं, जिनके रजिस्ट्रेशन का रेस्पोंस देखकर दोनों को पार्टियों को अपनी-अपनी जीत नजर आ रही है. लेकिन जमीनी हकीकत क्या है? इन योजनाओं का लाभ लेने वाली राजस्थान की जनता के मन में क्या चल रहा है? क्या वे इन योजनाओं के भरोसे कांग्रेस को वोट करेंगी या बीजेपी का साथ देंगी? ऐसे तमाम सवालों के जवाब ढूंढने के लिए NDTV-CSDS ने ओपिनियन पोल किया है, जिसमें राज्य और केंद्र की योजनाओं के लाभार्थियों से बातचीत की गई है, जिसमें उन्होंने चौंकाने वाला जवाब दिया है.

योजनाओं से बीजेपी कांग्रेस को कितना लाभ?

24 अक्टूबर से 30 अक्टूबर के बीच राजस्थान की 200 में से 30 विधानसभा सीटों पर किए गए इस सर्वे में हर समाज, वर्ग और जाति के 3032 लोगों को शामिल किया गया है, जिसमें लाभार्थियों से पूछा गया है कि क्या आपको या आपके परिवार के किसी सदस्य को राजस्थान सरकार की 8 योजना से लाभ हुआ है? उनके जवाब के आधार पर ही ये सर्वे रिपोर्ट तैयार की गई है. आंकड़ों के मुताबिक, 500 रुपये में गैस सिलेंडर लेने वाले लाभार्थियों में से सिर्फ 44 प्रतिशत लोगों ने कांग्रेस को वोट देने का मन बनाया है. जबकि 39 प्रतिशत लाभार्थी बीजेपी के समर्थक हैं. वहीं 100 यूनिट फ्री बिजली योजना का लाभ लेने वाले लाभार्थियों में से सिर्फ 42 प्रतिशत ही कांग्रेस को वोट देना चाहते हैं. जबकि बीजेपी के साथ 43 प्रतिशत लाभार्थी हैं. इसी तरह अन्नपूर्णा खाद्य पैकेट योजना का लाभ लेने वाले लोगों में से सिर्फ 43 प्रतिशत ही कांग्रेस के साथ हैं. जबकि बीजेपी के साथ 42 प्रतिशत लाभार्थी हैं. 

इस योजना के ज्यादा लाभार्थी कांग्रेस के साथ

सर्वे के अनुसार, कांग्रेस के समर्थन में सबसे ज्यादा इंदिरा गांधी शहरी रोजगार योजना का लाभ लेने वाले लोग हैं. आंकड़ों के अनुसार, इस योजना के 50 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस को वोट देने का मन बना चुके हैं. जबकि बीजेपी के पास सिर्फ 35 प्रतिशत लाभार्थी हैं. इसी तरह सामाजिक सुरक्षा पेंशन के 44 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस को वोट देना चाहते हैं. जबकि 40 प्रतिशत लाभार्थी बीजेपी के साथ हैं. इसी क्रम में आगे बढ़ें तो 25 लाख रुपये की स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ लेने वाले 43 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस के साथ हैं. जबकि बीजेपी के साथ सिर्फ 41 प्रतिशत हैं. चिरंजीवी एक्सीडेंट इंश्योरेंस स्कीम का लाभ लेने वाले 42 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस के साथ हैं. जबकि 40 प्रतिशत लाभार्थी बीजेपी को वोट देने की बात कह रहे हैं. स्मार्टफोन लेने वाले लाभार्थियों में 48 प्रतिशत कांग्रेस के साथ हैं. जबकि 38 प्रतिशत बीजेपी को वोट देना चाहते हैं.

आयुष्मान भारत योजना से बीजेपी को लाभ

राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ लेने वाले लाभार्थियों की तरह इस सर्वे में केंद्र की 4 योजनाओं का लाभ लेने वाले लोगों से भी बातचीत की गई है. आंकड़ों पर गौर करें तो उज्जवला योजना का लाभ लेने वाले 40 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस को वोट देने का मन बना चुके हैं. जबकि 46 प्रतिशत लाभार्थी बीजेपी के साथ हैं. वहीं मनरेगा के 44 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस को वोट देना चाहते हैं. जबकि बीजेपी को वोट देने की बात कहने वाले सिर्फ 40 प्रतिशत ही हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना के 39 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस को वोटर्स हैं. जबकि 44 प्रतिशत लाभार्थी बीजेपी को वोट देना चाहते हैं. बीजेपी के साथ सबसे ज्यादा 5 लाख रुपये का फ्री स्वास्थ्य बीमा देने वाली आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी हैं. आंकड़ों पर गौर करें तो 47 प्रतिशत लाभार्थी बीजेपी के साथ हैं. जबकि कांग्रेस के वोट देने की बात कहने वाले लाभार्थियों की संख्या सिर्फ 35 प्रतिशत है. 

राजस्थान के किसान किसके साथ?

किसान वोटर्स को अपनी ओर आकृषित करने के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने 4 योजनाएं शुरू की हैं, जिनके लाभार्थियों से भी इस सर्वे में बातचीत की गई है. आंकड़ों के अनुसार, किसान सम्मा निधि योजना का लाभ लेने वाले 38 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस को वोट देना चाहते हैं. जबकि बीजेपी को वोट देने का इरादा रखने वाले लाभार्थी 39 प्रतिशत हैं. इसी तरह खेती के लिए 200 यूनिट फ्री योजना का लाभ लेने वाले 31 प्रतिशत लोग कांग्रेस के साथ हैं. जबकि 42 प्रतिशत बीजेपी के साथ हैं. किसान फसल बीमा योजना का लाभ लेने वाले 34 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस के वोटर्स हैं. जबकि 35 प्रतिशत लाभार्थी बीजेपी को वोट देने का इरादा रखते हैं. इसी तरह कामधेनु पशु बीमा योजना का लाभ लेने वाले 30 प्रतिशत लाभार्थी कांग्रेस को वोट देने का मन बना चुके हैं. जबकि 34 प्रतिशत वोटर्स बीजेपी को वोट देने की बात कह रहे हैं.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • 24X7
Choose Your Destination
Close