विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान में कांग्रेस के गठबंधन वाली सीट पर गरमाई सियासत, BJP नेता ने रोत पर लगाए गंभीर आरोप

पिछले विधानसभा चुनाव में बांसवाडा-डूंगरपुर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाली बांसवाडा की 5 और डूंगरपुर की 3 विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने सर्वाधिक वोट हासिल किए थे. वहीं 8 सीट में से 5 सीट पर जीत दर्ज की थी. जबकि दो सीट भाजपा व एक सीट बीएपी ने जीती थी.

राजस्थान में कांग्रेस के गठबंधन वाली सीट पर गरमाई सियासत, BJP नेता ने रोत पर लगाए गंभीर आरोप
महेंद्रजीत सिंह मालवीय और राजकुुमार रोत.

Rajasthan News: लोकसभा चुनाव के तहत बांसवाडा-डूंगरपुर लोकसभा सीट (Banswara Lok Sabha Constituency) पर 26 अप्रैल को वोटिंग होनी है. इधर, आजादी के बाद बांसवाडा-डूंगरपुर लोकसभा सीट पर पहली बार ऐसा मौका होगा जब कांग्रेस (Congress) चुनावी मैदान में नहीं होगी. पिछले विधानसभा चुनाव में बांसवाडा-डूंगरपुर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाली बांसवाडा की 5 और डूंगरपुर की 3 विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने सर्वाधिक वोट हासिल किए थे. लेकिन भारत आदिवासी पार्टी (BAP) से गठबंधन के चलते कांग्रेस ने इस सीट पर अपने हथियार डाल दिए हैं. 

गठबंधन को खतरा मान रहे राजनीतिज्ञ

राजस्थान के दक्षिणांचल में स्थित डूंगरपुर और बांसवाडा जिला कई मायनों में खास ह. प्रदेश की बांसवाडा-डूंगरपुर लोकसभा सीट जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित है. आजादी के बाद से अभी तक यहां 17 सांसद रहे हैं, जिसमें 12 बार कांग्रेस पार्टी के सांसद रहे हैं. वहीं एक बार भारतीय लोक दल, एक बार जनता दल और 3 बार भाजपा के सांसद जीतकर लोकसभा में गए हैं. पिछले दो बार से इस सीट पर भाजपा का कब्जा रहा है. कांग्रेस ने इस बार लोकसभा चुनाव में मजबूत होते हुए भी गठबंधन करते हुए हथियार डाल दिए हैं. कांग्रेस के इस गठबंधन के कदम को राजनीति के जानकार कांग्रेस के लिए खतरा मान रहे हैं. 

स्थानीय नेताओं में अंदरखाने नाराजगी

पिछले विधानसभा चुनाव में बांसवाडा-डूंगरपुर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाली बांसवाडा की 5 और डूंगरपुर की 3 विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने सर्वाधिक वोट हासिल किए थे. वहीं 8 सीट में से 5 सीट पर जीत दर्ज की थी. जबकि दो सीट भाजपा व एक सीट बीएपी ने जीती थी. विधानसभा चुनाव के प्रदर्शन को देखते हुए कांग्रेस वागड़ में काफी मजबूत स्थिति थी. अगर समय रहते कांग्रेस एक मजबूत उम्मीदवार को उतारकर कड़ी टक्कर दे सकती थी. लेकिन कांग्रेस ने ऐसा ना करके बीएपी से गठबंधन किया है, जिससे स्थानीय कांग्रेसी नेताओं में अन्दर खाने नाराजगी है. वहीं आने वाले चुनावों में कांग्रेस के गठबंधन के इस कदम से कांग्रेस को काफी नुकसान पहुंच सकता है.

'खुद का पेट भरने का काम किया'

वहीं दूसरी ओर भाजपा प्रत्याशी महेंद्रजीत सिंह मालवीय (Mahendrajeet Singh Malvaiya) हेलीकॉप्टर से क्षेत्र में चुनाव प्रचार में जुटे हैं. मंगलवार को उन्होंने डूंगरपुर जिले का दौरा करते हुए चौरासी विधानसभा क्षेत्र व डूंगरपुर विधानसभा क्षेत्र में चुनावी सभाओं को संबोधित किया. मालवीय ने इस दौरान बीएपी प्रत्याशी राजकुमार रोत पर निशाना भी साधा. मालवीया ने कहा, 'आदिवासी पार्टी के नेताओं ने आदिवासी समाज के नाम पर समाज व युवाओं को भड़काने का काम किया है. जब राजकुमार बीटीपी से विधायक थे, तब कांग्रेस सरकार को संकट से बचाने के लिए खूब खाया पिया. इस संबंध में जनता सब जानती है. समाज के नाम पर विधायक बनकर ये खुद मजे मार रहे हैं. इन विधायकों ने जीतने के बाद समाज के लिए नहीं सोची, बल्कि खुद का पेट भरने का काम किया.'

ये भी पढ़ें:- बीजेपी सासंद को मिली जान से मारने की धमकी, ई-मेल में लिखा, 'दिल्ली अभी बहुत दूर है'

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Sawan Somwar 2024: सावन में इस बार अद्भुत संयोग, इस मंत्र के जाप दूर होंगे सारे दुख
राजस्थान में कांग्रेस के गठबंधन वाली सीट पर गरमाई सियासत, BJP नेता ने रोत पर लगाए गंभीर आरोप
Bhilwara: Businessman kidnapped and ransom demanded of Rs 45 lakh, police rescued him after 8 hours
Next Article
भीलवाड़ा: व्यापारी को किडनैप कर 45 लाख की मांगी फिरौती, रातभर चले सर्च अभियान के बाद छुड़ाया
Close
;