विज्ञापन
Story ProgressBack

Royal Family Dispute: विश्वेंद्र सिंह सरकारी सुरक्षाकर्मियों को दिलवा रखे हैं 50-50 लाख के प्लॉट? पूर्व मंत्री ने बताई सच्चाई

Royal Family Dispute: भरतपुर पूर्व राज परिवार के विवाद के बीच में निर्भय सिंह बडेसरा ने सोशल मीडिया पर विश्वेंद्र सिंह को लेकर एक पोस्ट किया है. विश्वेंद्र सिंह ने फेसबुक पोस्ट करके पूरी सच्चाई बताई है. 

Read Time: 3 mins
Royal Family Dispute: विश्वेंद्र सिंह सरकारी सुरक्षाकर्मियों को दिलवा रखे हैं 50-50 लाख के प्लॉट? पूर्व मंत्री ने बताई सच्चाई
भरतपुर पूर्व राज परिवार के विवाद के बीच में निर्भय सिंह बडेसरा ने सोशल मीडिया पर विश्वेंद्र सिंह को लेकर एक पोस्ट किया है.

Royal Family Dispute: भरतपुर पूर्व राज परिवार के विवाद के बीच में निर्भय सिंह बडेसरा की ओर से सोशल मीडिया पर पूर्व कैबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह को लेकर पोस्ट किया है. उन्होंने अपने सुरक्षा कर्मियों को 50-50 लाख रुपए के प्लाट दिलवा रखे हैं. इसके अलावा उन्होंने अन्य गंभीर और अनर्गल आरोप भी लगाए हैं. 

विश्वेंद्र सिंह ने लगाए गए आरोपों का मांगा सबूत 

पूर्व कैबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह निर्भय सिंह बडेसरा की ओर से सोशल मीडिया पर जारी किए वीडियो में लगाए गए आरोप का सबूत मांगा है. विश्वेंद्र सिंह का कहना है कि अगर मेरे पास पैसा होता तो मैं अपने परिवार के खिलाफ कोर्ट केस क्यों करता.

पूर्व कैबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने फेसबुक पर किया पोस्ट   

पूर्व कैबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने फेसबुक पर एक पोस्ट शेयर किया है. उन्होंने लिखा, "निर्भय सिंह बडेसरा ने सोशल मीडिया पर मेरे सरकारी सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ सोशल मीडिया में जो वीडियो डाली है. उसमें उसने कहा है की मैने उनको 50-50 लाख के प्लॉट दिलवा रखें हैं. कई गंभीर और अनर्गल आरोप लगाएं हैं. जबकि, सत्यता ये है कि मेरे सभी सुरक्षाकर्मी सरकारी क्वार्टर में करते हैं. उनके ऊपर लगाए गए सभी आरोप सरासर गलत और झूठे हैं. अगर निर्भय सिंह बडेसरा के पास कोई सबूत हो तो वो पेश करें, जिससे सत्यता का पता लग सके. अगर मेरे पास पैसे ही होते तो मैं अपने परिवार के खिलाफ कोर्ट में केस ही क्यों करता?" सोशल मीडिया पर निर्भय सिंह बडेसरा ने जो वीडियो डाली है, उसकी मैं कड़े शब्दों में निंदा करता हूं. निर्भय सिंह बडेसरा को उसके इस कृत्य के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगने की मांग करता हूं."

पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने फेसबुकर पोस्ट करके निर्भय सिंह बडेसरा के लगाए गए आरोपों के सबूत मांगे हैं.

पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने फेसबुकर पोस्ट करके निर्भय सिंह बडेसरा के लगाए गए आरोपों के सबूत मांगे हैं.

कोर्ट पहुंचा पूर्व राज परिवार का पारिवारिक विवाद 

सोशल मीडिया पर पूर्व कैबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह पर आरोप लगाने वाले निर्भय सिंह बडेसरा भारतीय किसान यूनियन भरतपुर संभाग के अध्यक्ष हैं. परिवार में आपसी मतभेद और संपत्ति को लेकर उलझा ये शाही परिवार अब अपने विवादों को लेकर अदालत भी पहुंच चुका है. 

विश्वेंद्र सिंह ने पत्नी-बेटे पर लगाए घर से बेदखल करने के आरोप  

परिवार के मुख्य भरतपुर के पूर्व राजपरिवार के महाराज विश्वेन्द्र सिंह ने अपनी पत्नी और बेटे पर आरोप लगाया है की अपने ही महल से उन्हें बेदखल कर दिया गया है. पहले पत्नी और बेटे ने उन्होंने महल में बंधक बनाकर रखा फिर उनका खाना पीना बंद कर दिया. उनके बेटे अनिरुद्ध सिंह पर भी आरोप है की उसने अपने पिता विश्वेन्द्र सिंह के साथ मारपीट की. उन्हें महल से बेदखल कर दिया.  उनके कपडे पहाड़ दिए.  उनका सामान महल के बहार फेंक दिया. अब यह मामला एसडीएम कोर्ट में है. उन्होंने कोर्ट में आज का दायर कर भरण पोषण के लिए प्रति माह 5 लाख रुपए बेटे और पत्नी से दिलवाने की मांग की है.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
दो दिवसीय दौरे पर जैसलमेर पहुंचे उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, तनोट मंदिर में पूजा के बाद करेंगे भारत-पाक सीमा का निरीक्षण
Royal Family Dispute: विश्वेंद्र सिंह सरकारी सुरक्षाकर्मियों को दिलवा रखे हैं 50-50 लाख के प्लॉट? पूर्व मंत्री ने बताई सच्चाई
Jaipur: Fake jewelery worth Rs 6 crore sold to foreign woman, lookout notice issued against father and son
Next Article
Rajasthan: इंस्टाग्राम बिजनेस से विदेशी महिला को बेच दी 6 करोड़ की नकली ज्वेलरी, जयपुर के व्यापारी का लुकआउट नोटिस जारी
Close
;