विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान की राजनीति में आज आएगा भूचाल, सैकड़ों समर्थकों के साथ कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होंगी शोभारानी कुशवाहा!

Shobharani Kushwaha Join BJP: लोकसभा चुनाव से पहले राजस्थान की राजनीति में आज बड़ा भूचाल आने की संभावना है. कांग्रेसी विधायक शोभारानी कुशवाहा का परिवार सैकड़ों समर्थकों के साथ शनिवार को भाजपा में शामिल होगा. सैकड़ों की तादाद में समर्थक बुलाए जा रहे है,

Read Time: 4 mins
राजस्थान की राजनीति में आज आएगा भूचाल, सैकड़ों समर्थकों के साथ कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होंगी शोभारानी कुशवाहा!
शोभारानी कुशवाहा.

Shobharani Kushwaha Join BJP: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2024) से पहले भाजपा कांग्रेस को फिर एक बड़ा झटका देने जा रही है. महेंद्रजीत सिंह मालवीय सहित कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं को अपने पाले में करने के बाद अब भाजपा धौलपुर की कांग्रेस विधायक शोभारानी कुशवाहा (Shobharani Kushwaha) को अपने पाले में लेने जा रही है. विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को राजस्थान की राजनीति में बड़ा भूचाल आने की संभावना दिखाई दे रही है. सूत्रों के हवाले से मिली खबर में धौलपुर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेसी विधायक शोभारानी कुशवाहा का परिवार सैकड़ो समर्थकों के साथ में शामिल होगा. कार्यक्रम का आयोजन लोकसभा प्रभारी विनय सहस्त्र बुद्धे एवं कैबिनेट मंत्री अविनाश गहलोत की मौजूदगी में किया जाएगा.

19 अप्रैल को धौलपुर में होना है लोकसभा का चुनाव

सूत्रों से मिली जानकारी में शोभारानी कुशवाहा के चाचा ससुर कन्हैया लाल कुशवाहा एवं देवर उपेंद्र कुशवाहा शनिवार को भाजपा पार्टी का दामन थामेंगे. हालांकि कार्यक्रम से विधायक शोभारानी कुशवाहा के दूर रहने की संभावना बताई जा रही है. 19 अप्रैल को करौली धौलपुर संसदीय सीट पर पहले चरण का मतदान किया जाएगा. लोकसभा चुनाव को देखते हुए शोभारानी कुशवाहा के परिवार को भाजपा में शामिल होने पर राजनीतिक समीकरण पूरी तरह से बदल जाएंगे. 

कुशवाह एवं माली समाज का नेता शोभारानी कुशवाहा के परिवार को माना जाता है. धौलपुर एवं करौली जिले मे कुशवाहा समाज का मतदाता भारी तादाद में दखल रखता है. अगर शोभा रानी कुशवाहा का परिवार भाजपा में शामिल होता है, तो निश्चित तौर पर बीजेपी को राजनीति में बड़ा फायदा मिलेगा.

कांग्रेस की सरकार में अशोक गहलोत के साथ किया था काम

वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में शोभारानी कुशवाहा भाजपा से चुनाव जीती थी. लेकिन वर्ष 2020 में कांग्रेस में आये शियाशी भूचाल के दौरान विधायक शोभारानी कुशवाहा कांग्रेस की बिना सदस्यता लिए हुए पर्दे के पीछे से अशोक गहलोत सरकार के साथ खड़ी हुई थी. जिसकी बानगी राज्यसभा चुनाव में देखने को मिली थी. विधायक शोभारानी कुशवाहा ने राज्यसभा चुनाव में भाजपा को क्रॉस वोट कर कांग्रेस के प्रमोद तिवारी को वोट दिया था. तत्कालीन समय पर भाजपा ने शोभारानी को नोटिस देकर पार्टी से बर्खास्त भी किया था. 2023 के विधानसभा चुनाव में शोभारानी कुशवाहा कांग्रेस से विधायक चुनी गई थी.

पति बीएल कुशवाह को सुप्रीम कोर्ट से मिली बेल

धौलपुर की कांग्रेसी विधायक शोभारानी कुशवाहा के पति बीएल कुशवाह को हाल ही में सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिली है. हत्या षड्यंत्र के मामले में बीएल कुशवाह को आजीवन कारावास की सजा हुई थी. करीब 9 साल बाद सुप्रीम कोर्ट ने बीएल कुशवाह की जमानत अर्जी को स्वीकार किया है.

करीब डेढ़ हजार समर्थक ले सकते हैं सदस्यता

सूत्रों से मिली जानकारी में कांग्रेसी विधायक शोभा रानी कुशवाहा के परिवार के साथ करीब डेढ़ हजार समर्थक बीजेपी पार्टी की सदस्यता ले सकते हैं. बीजेपी कार्यालय पर कार्यक्रम का भव्य आयोजन किया जाएगा. जिसे लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह देखा जा रहा है.

दल बदलने की पुरानी रही राजनीति

विधायक शोभारानी कुशवाहा के परिवार की दल बदलने की पुरानी राजनीति रही है. वर्ष 2013 में विधायक शोभारानी कुशवाहा के परिवार ने राजनीति में कदम रखा था. वर्ष 2013 का चुनाव शोभारानी कुशवाहा के पति बीएल कुशवाह ने बहुजन समाज पार्टी से जीता था. लेकिन इसके बाद शोभारानी कुशवाहा के पति बीएल कुशवाह पर झील गांव निवासी नरेश कुशवाहा की हत्या के षड्यंत्र का आरोप लगा था. वर्ष 2016 में धौलपुर न्यायालय ने बीएल कुशवाह को हत्या के षड्यंत्र का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. 

इसके बाद 2017 में उपचुनाव कराया गया. वर्ष 2017 के उपचुनाव में शोभारानी कुशवाहा ने बहुजन समाज पार्टी को छोड़ कर भाजपा का दामन थाम लिया और विधायक बन गई. इसके बाद वर्ष 2018 के चुनाव में शोभारानी कुशवाहा फिर से भाजपा के सिंबल से विधायक चुन ली गई.

लेकिन कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार बनने पर शोभारानी कुशवाहा की नजदीकी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बढ़ गई. पर्दे के पीछे से शोभारानी कुशवाह अशोक गहलोत के साथ काम करने लग गई. सूत्रों के मुताबिक मानेसर की घटना के दौरान शोभारानी कुशवाहा अशोक गहलोत के पाले में रही थी. वर्ष 2023 के विधानसभा चुनाव में शोभारानी कुशवाहा ने कांग्रेस से जीत दर्ज की थी.

यह भी पढ़ें - Karauli-Dholpur Lok Sabha Seat: जातिगत समीकरण से कांग्रेस मजबूत, मोदी मैजिक के भरोसे ठोक रही ताल BJP

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
जोधपुर: टुकड़ों में मिली लाश, 5 बत्ती चौराहे के पास नाले से बरामद हुए हाथ-सिर व अन्य अंग, जांच में जुटी पुलिस
राजस्थान की राजनीति में आज आएगा भूचाल, सैकड़ों समर्थकों के साथ कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होंगी शोभारानी कुशवाहा!
Jaipur: Bisalpur dam ready for monsoon, SCADA started from June 15
Next Article
Jaipur: मानसून को लेकर बीसलपुर बांध तैयार, 15 जून से शुरू हुआ SCADA
Close
;