विज्ञापन
Story ProgressBack

Rajasthan: आशीर्वाद देने के बहाने छेड़छाड़ करता था शिक्षक, कोर्ट पहुंचने से पहले छात्राओं के घर पहुंचे आरोपी के परिजन

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों  स्कूल की गरीमा पेटी में बालिकाओं की सामूहिक शिकायत मिली थी. जिसमें शिक्षक दिनेश विश्नोई पर छेड़छाड़ करने और छात्रों के फोटो खींचने के आरोप लगे थे. जिसके बाद विभाग ने जांच के बाद विश्नोई को निलिंबित कर दिया.

Read Time: 3 mins
Rajasthan: आशीर्वाद देने के बहाने छेड़छाड़ करता था शिक्षक, कोर्ट पहुंचने से पहले छात्राओं के घर पहुंचे आरोपी के परिजन

Jodhpur News: जोधपुर शहर के लूणी में सरकारी स्कूल की छात्राओं के साथ शिक्षक द्वारा आशीर्वाद देने के बहाने गलत तरीके से छूने के मामले में पीड़ित छात्राओं के कोर्ट में बयान से पहले ही पुलिस को स्कूल द्वारा दी गई जानकारी लीक होने से आरोपी शिक्षक के परिजन पीडिताओं के घर पहुंच गए थे. आरोप है कि पीड़िताओं और उनके परिजनों पर दबाव बनाया गया है  कि वो शिक्षक के खिलाफ बयान नहीं दे.

इतना ही नहीं आरोपी शिक्षक का एक परिजन जो जालौर मे जनप्रतिनिधि है उसने स्कूल प्रिंसिपल को भी धमकाया. पुलिस की मौजूदगी में मंगलवार को जब दस छात्राओं के बयान के लिए कोर्ट जाना था तो वह स्कूल पहुंच गया. बाद में पुलिस भी उसी गाडी में छात्राओं को लेकर गई जिसमें आरोपी शिक्षक बैठा था.

प्रिंसिपल ममता कंवर ने बताया कि हमने एएसआई रामभरोसे के सामने आपत्ति जताई. तो ध्यान नहीं दिया. इतना ही नहीं कोर्ट में भी वह व्यक्ति मौजूद रहा. बाल संरक्षण समिति के मार्फत कोर्ट को इसकी जानकारी देने पर उसे बाहर निकाला गया. कंवर ने कहा कि, इसको लेकर हमने पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर शिकायत दी है. जिसमें बताया गया है कि, पुलिस को पीड़ित छात्राओं के नाम पते दिए गए थे, वे आरोपी के परिजनों तक कैसे पहुंचे? जिसके चलते आरोपी के परिजन उनके घर पहुंच गए.

गरिमा पेटी में डाली थी शिक्षक की शिकायत 

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों  स्कूल की गरीमा पेटी में बालिकाओं की सामूहिक शिकायत मिली थी. जिसमें शिक्षक दिनेश विश्नोई पर छेड़छाड़ करने और छात्रों के फोटो खींचने के आरोप लगे थे. जिसके बाद विभाग ने जांच के बाद विश्नोई को निलिंबित कर दिया. इधर बाल संरक्षण आयोग ने जांच अधिकारी को गुरुवार को तलब करने के लिए पुलिस कमिश्नर को पत्र लिख कर संज्ञान लिया है .

जांच के लिए पहुंची एडीसीपी

पुलिस कमिश्नर राजेंद्र सिंह ने स्कूल प्रिंसिपल का पत्र मिलते ही मामले की जांच के लिए एडीसीपी प्रेम धनदे को निर्देशित किया. बुधवार को एडीसीपी स्कूल पहुंची. वहां छात्राओं से मिली. उनसे पूछा कि उनके घर कौन आया था? इसके अलावा स्कूल प्रिंसिपल से पूरी जानकारी ली हैं. एडीसीपी की रिपोर्ट पर पुलिस कमिश्नर अग्रिम कार्रवाई करेंगे.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
India Post Bharti 2024: डाक विभाग में 10वीं पास के लिए बंपर भर्ती, 44 हजार पदों के लिए आवेदन शुरू
Rajasthan: आशीर्वाद देने के बहाने छेड़छाड़ करता था शिक्षक, कोर्ट पहुंचने से पहले छात्राओं के घर पहुंचे आरोपी के परिजन
Father's death shown in an accident for Rs 50 lakh, compassionate appointment taken in Banswara
Next Article
बांसवाड़ा: 50 लाख रुपये के लिए पिता की एक्सीडेंट में दिखा दी मौत, ले ली अनुकंपा नियुक्ति; पुत्र समेत 3 गिरफ्तार
Close
;