विज्ञापन
Story ProgressBack

Transport Voucher Scheme: स्कूल आने-जाने के लिए छात्राओं को भत्ता देगी राजस्थान सरकार, हर साल 3000 से 5400 रुपये देने का प्रावधान

Rajasthan Govt Scheme For Girl: राजस्थान सरकार द्वारा जारी आदेश के अनुसार, इस योजना का लाभ 9वीं और 1वीं कक्षा की सिर्फ छात्राओं को मिलेगा. जबकि 1st से 8th के छात्र व छात्राएं, दोनों इस योजना का लाभ ले सकेंगे.

Transport Voucher Scheme: स्कूल आने-जाने के लिए छात्राओं को भत्ता देगी राजस्थान सरकार, हर साल 3000 से 5400 रुपये देने का प्रावधान
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Rajasthan News: राजस्थान के ग्रामीण इलाकों में स्थित स्कूलों में पढ़ने वाली छात्राओं के लिए खुशी की खबर है. रूरल एरिया की छात्राओं को अब सरकार की तरफ से स्कूल आने-जाने पर किराए के रूप में भत्ता दिया जाएगा, जिसे ट्रांसपोर्ट वाउचर योजना (Transport Voucher Scheme) नाम दिया गया है. नया शिक्षा सत्र शुरू होने के साथ ही स्कूल शिक्षा परिषद (School Education Council) ने ट्रांसपोर्ट वाउचर योजना को लेकर दिशा निर्देश (Guidelines) भी जारी कर दिए हैं. 

साल में 5400 रुपये देने का प्रावधान

इसके योजना के तहत प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में सरकारी स्कूलों की 9वीं और 10वीं क्लास की छात्राओं को रोजाना की प्रेजेन्स के हिसाब से 20 रुपए की ट्रांसपोर्ट वाउचर सुविधा प्रदान की जाएगी. इसका फायदा राज्य की 21 हजार 234 छात्राओं को मिलेगा. पूरे साल स्कूल में प्रेजेन्स के आधार पर हर छात्रा को मैक्सिमम 5400 रुपए दिए जाएंगे, जो उसके बैंक खाते में जमा होंगे. इसके लिए किसी भी सूरत में नकद भुगतान नहीं किया जाएगा. इस ट्रांसफर वाउचर योजना का लाभ उन्हीं छात्राओं को मिलेगा जिनके घर से स्कूल की दूरी 5 किलोमीटर या उससे ज्यादा है. 

प्रिंसिपल की रिपोर्ट के हिसाब से पैसा

शिक्षा विभाग का कैलेंडर शिविरा पंचांग के हिसाब से कार्य दिवसों की गणना के आधार पर ट्रांसपोर्ट वाउचर की राशि को स्वीकृति प्रदान की जाएगी. इसकी जिम्मेदारी संस्था यानी स्कूल के हेड की होगी. सिर्फ वही छात्राओं की प्रेजेन्स की डिटेल के आधार पर अपनी रिपोर्ट देंगे, जिसके आधार पर छात्राओं को राशि मिलेगी. इस स्कीम का फायदा मॉडल स्कूलों में पढ़ने वाली स्टूडेन्ट्स को भी मिलेगा. शिक्षा परिषद की तरफ से अभी 9वीं और 10वीं क्लास की छात्राओं के लिए ही इस योजना को जारी किया गया है. 11वीं और 12वीं कक्षा की छात्राएं फिलहाल इस स्कीम से बाहर हैं.

पहली से 8वीं तक के छात्रों को भी फायदा

इसके अलावा रूरल एरिया के सरकारी स्कूलों में एडमिशन लेने वाले पहली से आठवीं क्लास के छात्र व छात्राएं, दोनों को ही इस योजना से लाभान्वित किया जाएगा. उनके लिए घर से स्कूल की दूरी के आधार पर राशि तय की गई है. उन बच्चों के लिए पहली से पांचवीं तक एक किलोमीटर और छठी से आठवीं तक दो किलोमीटर घर से स्कूल की दूरी होने पर रोजाना 10 से 15 रुपए के वाउचर दिए जाएंगे. इन कक्षाओं के पात्र विद्यार्थियों को पूरे शिक्षा सत्र में अधिकतम 3 हजार रुपए ही स्वीकृत होंगे.

नए शिक्षा सत्र से मिलेगा लाभ

अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी सुनील कुमार बोड़ा का कहना है कि ग्रामीण क्षेत्र की छात्राओं के लिए सरकार की ये बेहतरीन योजना है. इससे उन छात्राओं को फायदा मिलेगा जो घर से स्कूल की दूरी ज्यादा होने की वजह से शिक्षा ग्रहण नहीं कर पातीं. इस योजना को लेकर दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं और नए शिक्षा सत्र में पात्र छात्राओं को ट्रांसपोर्ट वाउचर योजना का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा.

ये भी पढ़ें:- विधानसभा के बजट सत्र की हंगामेदार शुरुआत, 45 मिनट बाद स्पीकर ने स्थगित की कार्यवाही

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
राजस्थान में राशन की होगी अब होम डिलीवरी, जानें किन लोगों को मिलेगी यह सुविधा
Transport Voucher Scheme: स्कूल आने-जाने के लिए छात्राओं को भत्ता देगी राजस्थान सरकार, हर साल 3000 से 5400 रुपये देने का प्रावधान
Price of milk and curd increased by Rs 2 each in Bikaner
Next Article
Milk Price Hike: फिर बढ़ गए दूध-दही के दाम, अब 1 लीटर के लिए चुकाने होंगे इतने रुपये
Close
;