विज्ञापन
Story ProgressBack

PM Modi Addressed Lok Sabha: आर्टिकल 370, तीन तलाक, नारी शक्ति वंदन अधिनियम... 17वीं लोकसभा के कामों से खत्म हुआ पीढ़ियों का इंतजार, संसद में बोले PM मोदी

PM Modi Addressed Lok Sabha: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को लोकसभा को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने 17वीं लोकसभा के काम-काज के साथ-साथ अन्य मुद्दों पर खुलकर बात की. पीएम मोदी ने कहा कि ये पांच साल देश में रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के थे. ऐसा बहुत कम होता है कि सुधार और प्रदर्शन दोनों होते हैं और हम परिवर्तन को अपनी आंखों के सामने देख सकते हैं.

Read Time: 5 min
PM Modi Addressed Lok Sabha: आर्टिकल 370, तीन तलाक, नारी शक्ति वंदन अधिनियम... 17वीं लोकसभा के कामों से खत्म हुआ पीढ़ियों का इंतजार, संसद में बोले PM मोदी
बजट सत्र के आखिरी दिन लोकसभा में पीएम मोदी का संबोधन.

PM Modi Addressed Lok Sabha: संसद के बजट सत्र के आखिरी दिन शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने 17वीं लोकसभा में सरकार द्वारा लिए गए फैसलों के साथ-साथ अन्य मुद्दों पर बात की. पीएम मोदी ने कहा कि ये पांच साल देश में रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के थे. ऐसा बहुत कम होता है कि सुधार और प्रदर्शन दोनों होते हैं और हम परिवर्तन को अपनी आंखों के सामने देख सकते हैं. देश 17वीं लोकसभा के माध्यम से इसका अनुभव कर रहा है और मेरा दृढ़ विश्वास है कि देश 17वीं लोकसभा को आशीर्वाद देना जारी रखेगा.”

लोकतंत्र की महान परंपरा का महत्वपूर्ण दिवसः पीएम मोदी

पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत में कहा कि आज का यह दिवस लोकतंत्र की महान परंपरा का महत्वपूर्ण दिवस है. हमने अनेक निर्णय लिए, अनेक चुनौतियों को अपने सामर्थ्य से देश को उचित दिशा देने का प्रयास किया. ये दिवस हम सबकी 5 साल की वैचारिक यात्रा का, राष्ट्र को समर्पित समय का, देश को फिर से एक बार संकल्प को राष्ट्र समर्पित करने का दिवस है.

कोविड काल को याद करते हुए क्या कुछ बोले पीएम मोदी

कोविड काल को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 5 साल में इस सदी का सबसे बड़ा संकट पूरी मानव जाति ने झेला. कौन बचेगा, कौन बच पाएगा, कोई किसी को बचा सकता है कि नहीं, वो ऐसी अवस्था थी. ऐसे में सदन में आना भी संकट काल था. जो भी व्यवस्थाएं करनी पड़ीं, आपने उसको किया. देश के काम को रुकने नहीं दिया. सदन की गरिमा भी बनी रहे और देश के आवश्यक कामों को जो गति देनी चाहिए, वो गति भी बनी रहे, सदन की भूमिका भी कम ना हो. इसको आपने बड़ी कुशलता के साथ संभाला.

पीएम मोदी सांसदों का क्यों जताया शुक्रिया? 

सांसदों का शुक्रिया जताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैं सांसदों का भी धन्यवाद करता हूं, उस कालखंड में देश की आवश्यकताओं को देखते हुए सांसद निधि छोड़ने के प्रस्ताव को एक पल गंवाए बिना सभी सांसदों ने माना.
इतना ही नहीं एक देशवासियों को सकारात्मक संदेश देने के लिए अपने आचरण से समाज को एक विश्वास देने के लिए सांसदों ने अपनी सैलरी में 30 फीसदी की कटौती का निर्णय खुद किया. देश को भी विश्वास हुआ कि ये सबसे पहले छोड़ने वाले लोग हैं. हम सांसद मीडिया में कभी ना कभी गाली खाते थे. इतनी सैलरी मिलती है, कैंटीन में इतने कम में खाते हैं. समान रेट होंगे कैंटीन में, इसका किसी सांसद ने विरोध नहीं किया.

17वीं लोकसभा की प्रोडक्टिविटी 97 फीसदी

पेपरलेस पार्लियामेंट की शुरुआत की. शुरू में कुछ साथियों को दिक्कत हुई, लेकिन अब सब इसी से काम कर रहे हैं. आपकी कुशलता और सासंदों की जागरुकता के चलते 17वीं लोकसभा की प्रोडक्टिविटी 97 फीसदी रही है. ये अपने आप में खुशी की बात है. मुझे भरोसा है कि इस लोकसभा की समाप्ति की ओर बढ़ रहे हैं और ये लक्ष्य रहेगा कि शत प्रतिशत कार्यवाही होगी. आपने रात-रात बैठकर सांसदों के मन की बात सुनी है.

कई गेमचेंजर री-फॉर्म हुएः पीएम मोदी

इस कार्यकाल में बहुत री-फॉर्म हुए, जो गेम चेंजर हैं. 21वीं सदी के भारत की मजबूत नींव उन सारी बातों में नजर आती है. बड़े बदलाव की तरफ बढ़ रहे हैं. सदन ने अपनी हिस्सेदारी जताई. हम कह सकते हैं कि हमारी अनेक पीढ़ियां, जिन बातों का इंतजार करती थीं, ऐसे बहुत से काम इस 17वीं लोकसभा के माध्यम से पूरे हुए.

17वीं लोकसभा में समाप्त हुआ पीढ़ियों का इंतजार

पीएम मोदी ने आगे कहा कि 17वीं लोकसभा में पीढ़ियों का इंतजार खत्म हुआ. अनेक पीढ़ियों ने एक संविधान का सपना देखा था, हर पल एक दरार दिखती थी, रुकावट चुभती थी. इसी सदन ने 370 हटाकर संविधान के पूर्ण रूप को, पूर्ण प्रकाश के साथ प्रगटीकरण किया. संविधान के 75 वर्ष हुए, जिन महापुरुषों ने संविधान को बनाया, उनकी आत्मा हमें आशीर्वाद देती होगी.

तीन तलाक और नारी सम्मान का काम

पीएम मोदी ने आगे कहा कि कितने उतार-चढ़ाव से मुस्लिम बहनें इंतजार कर रही थीं तीन तलाक का. इससे मुक्ति और नारी सम्मान का कार्य 17वीं लोकसभा ने किया. सभी सांसदों के विचार कुछ भी रहे हों, लेकिन ये कहेंगे कि न्याय करने के मौके पर हम मौजूद थे। वो बहनें हमें आशीर्वाद दे रही हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि आने वाले 25 साल महत्वपूर्ण हैं. राजनीति अपनी जगह है, राजनीतिक लोगों की आशाएं अलग हैं. देश की आकांक्षा, संकल्प बना चुका है। 25 साल वो हैं, जब देश इच्छित परिणाम हासिल करेगा. 

कई गैरजरूरी कानूनों को हटाया गया

17वीं लोकसभा में कई गैरजरूरी कानूनों को हटाया गया. पीएम मोदी ने कहा कि कंपनीज एक्ट, लिमिटेड लाइबिलिटी पार्टनरशिप एक्ट, 60 से अधिक गैरजरूरी कानूनों को हमने हटाया है. ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए इसकी जरूरी थी. कई कानून ऐसे थे कि छोटे-छोटे वजह से लोगों को जेल में डाल दो. कंपनी है और बाथरूम 6 महीने में व्हाइट वाश नहीं कराया तो जेल में डाल दो। ये जो नागरिक पर भरोसा करने का काम था, ये लोकसभा ने किया. जनविश्वास एक्ट 180 से ज्यादा प्रावधान डीक्रिमिनलाइज करने का काम किया.
 

यह भी पढ़ें - ''ये पांच साल देश में रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के थे'' : लोकसभा में PM मोदी
 

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close