विज्ञापन
Story ProgressBack

Chaitra Navratri 2024: 9 अप्रैल से शुरू हो रही है चैत्र नवरात्रि, 9 दिनों तक चलेंगे व्रत, जानें पूजा और घटस्थापना का शुभ मुहूर्त ?

First Day of Chaitra Navratri 2024: साल 2024 में चैत्र नवरात्रि प्रतिपदा की शुरुआत 9 अप्रैल से हो रही है. 9 दिनों तक चलने वाले नवरात्रि के 9 दिन पर शुभ संयोग रहेंगे, जो खुशहाली लेकर आएंगे. इस साल चैत्र नवरात्रि पर घटस्थापन के दो शुभ मुहूर्त बन रहे हैं.

Read Time: 4 mins
Chaitra Navratri 2024: 9 अप्रैल से शुरू हो रही है चैत्र नवरात्रि, 9 दिनों तक चलेंगे व्रत, जानें पूजा और घटस्थापना का शुभ मुहूर्त ?
मां दुर्गा

Chaitra Navratri Date 2024: चैत्र शुक्ल प्रतिपदा पर 9 अप्रैल को भारतीय नव संवत्सर 2081 का आगाज होगा. इसी दिन सर्वार्थ सिद्धि, कुमार योग और अमृत सिद्धि योग और रेवती व अश्विनी नक्षत्र में वासंती नवरात्र भी शुरू होंगे. मध्याह्न में अभिजीत मुहूर्त घर और मंदिरों में घट स्थापना होगी और मंदिरों में रामचरितमानस व दुर्गा सप्तशती के पाठ शुरू होंगे.

साल 2024 में चैत्र नवरात्रि प्रतिपदा की शुरुआत 9 अप्रैल से हो रही है. 9 दिनों तक चलने वाले नवरात्रि के 9 दिन पर शुभ संयोग रहेंगे, जो खुशहाली लेकर आएंगे. अजमेर के मंदिरों में तैयारी शुरू हो चुकी है और प्रमुख मंदिरों और उनके चौराहों को रंग बिरंगी लाइटों से सजाया गया है.

ये भी पढ़ें-Lok Sabha 2024: बांसवाड़ा-डूंगरपुर सीट पर 2 हमनाम प्रत्याशियों ने उड़ाई राजकुमार रोत की नींद, बोले, भाजपा की साजिश

शहर के विख्यात अंबे माता मंदिर पर अगले 9 दिनों तक माता रानी की भव्य आरती होगी और अष्टमी के दिन कन्याओं को भोजन कराया जाएगा. वहीं रात्रि के समय भजन संध्या का आयोजन होगा. इस मौके पर मंदिरों की साफ सफाई और रंग रोगन का कार्य भी पूर्ण हो चुका है। माता रानी को भव्य श्रृंगार और पोशाक भी बनाई गई है। 

 8 दिनों तक अलग-अलग लोग पहनाते हैं माता रानी को पोशाक

शहर के अंबे माता मंदिर में मंदिर कमेटी द्वारा पहले और अष्टमी नवरात्रि को छोड़कर 8 दिनों तक माता रानी की पोशाक के लिए लॉटरी का सिस्टम रखा गया है, जहां पर करीब 600 श्रद्धालुओं ने अपना भाग्य आजमाते हैं. इसमें आठ लोगों की लॉटरी निकली है, जिनके नाम की लॉटरी निकली है उनके द्वारा प्रतिदिन माता रानी को पोशाक पहनाई जाएगी.

नव संवत्सर के मौके पर मुख्य मार्गों पर लगेंगे 10 हजार भगवा झण्डे 

नव संवत्सर की पूर्व संध्या पर शहर के अलग-अलग मार्गों पर करीब 10 हजार भगवा झंडा लगाए जाएंगे. आरएसएस और कई समाज की ओर से स्वागत की तैयारी की जा रही है शहर में आज रीजनल कॉलेज चौपाटी के पास विक्रम संवत मेला भरेगा मेले में अलग-अलग संस्थाओं की करीब 15 झांकियां सजाई जाएगी. 

राहगीरों को लगाए जाएंगे तिलक, मिश्री से कराया जाएगा मुंह मीठा

मंगलवार सुबह से ही सर्व समाज की ओर से मुख्य चौराहाओं पर राहगीरों के सिर पर तिलक लगाया जाएगा और मिश्री से मुंह मीठा करवा कर अभिनंदन होगा और नव संवत्सर और नए साल की शुभकामनाओं के स्टीकर वाहनों पर चिपकाए जाएंगे.

ये भी पढ़ें-Lok Sabha 2024: कांग्रेस या भाजपा? पहले चरण में किसका पलड़ा भारी, यहां है 12 लोकसभा सीटों का पूरा कच्चा चिट्ठा?

चैत्र नवरात्रि के 9 दिन- व्रत-पर्व-

9 अप्रैल: प्रथम नवरात्र, नवरात्र स्थापना, बसंत नवरात्र प्रारंभ, घटस्थापना, शैलपुत्री का पूजन

10 अप्रैल: द्वितीय नवरात्र, सिंजाजा, चेटीचंड, झूलेलाल जयंती, ब्रह्मचारिणी का पूजन

11 अप्रैल: तृतीय नवरात्र, गणगौर पूजन, मेला गणगौर, चन्द्रघण्टा का पूजन

12 अप्रैल: चतुर्थ नवरात्र, मेला बूढ़ी गणगौर, कूष्माण्डा का पूजन

13 अप्रैल: पंचम नवरात्र, श्री-लक्ष्मी पंचमी, स्कंदमाता का पूजन

14 अप्रैल: षष्ठ नवरात्र, यमुना जयंती, कात्यायनी का पूजन

15 अप्रैल: सप्तम नवरात्र, कालरात्रि का पूजन

16 अप्रैल: अष्टम नवरात्र, दुर्गाष्टमी, महाष्टमी, महागौरी का पूजन

17 अप्रैल: नवम नवरात्र, श्री राम नवमी, नवरात्रि पूर्ण, सिद्धिदात्री का पूजन

18 अप्रैल: नवरात्र व्रत पारणा व उत्थापन

ये भी पढ़ें-Rajasthan Politics: टोंक सवाई माधोपुर में चलेगा सचिन पायलट का जादू, मोदी मैजिक होगा फेल! क्या बोलती पब्लिक?

चैत्र नवरात्रि के मौके पर अजमेर में चौपाटी पर सुबह से ही शास्त्रीय संगीत के साथ सूर्य की पहली किरण का अभिनंदन भी किया जाएगा, जिसको लेकर प्रमुख चोराहो पर अलग-अलग मंच बनाए गए हैं.

9 अप्रैल से शुरू होकर 17 अप्रैल पर समाप्त होगा चैत्र नवरात्रि 

चैत्र नवरात्रि 9 अप्रैल से शुरू होगा और इसका समापन 17 अप्रैल को महानवमी के अवसर पर होगा. मां दुर्गा का समर्पित चैत्र नवरात्रि के प्रतिपदा से लेकर 9वीं तक व्रत रखे जाएंगे. 17 अप्रैल को महानवमी पर कन्या पूजने के साथ नवरात्रि का समापन होगा. 

इस बार घटस्थापना के हैं दो शुभ मुहूर्त

चैत्र कृष्ण प्रतिपदा तिथि पर घटस्थापना के बाद ही व्रत आऱंभ होते हैं. इस साल चैत्र नवरात्रि पर घटस्थापन के दो शुभ मुहूर्त बन रहे हैं. पहला शुभ मुहूर्त-  9 अप्रैल को सुबह 6 बजकर 11 मिनट से लेकर सुबह 10 बजकर 23 मिनट तक रहेगा. अभिजीत मुहूर्त- सुबह 11 बजकर 57 मिनट से लेकर दोपहर 12 बजकर 48 मिनट तक अभिजीत मुहूर्त रहेगा.

ये भी पढ़ें-Lok Sabha 2024: 8 अप्रैल को लगेगा साल का पहला पूर्ण सूर्य ग्रहण, सत्ता और संगठन में बदलाव के संकेत, 54 साल बाद बना है ये अद्भुत संयोग

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
पृथ्वी ग्रह के छः अरब साठ करोड़ वर्ष के इतिहास, अप्रैल महीने के पहले रविवार को मनाया जाता है भूवैज्ञानिक दिवस
Chaitra Navratri 2024: 9 अप्रैल से शुरू हो रही है चैत्र नवरात्रि, 9 दिनों तक चलेंगे व्रत, जानें पूजा और घटस्थापना का शुभ मुहूर्त ?
Chaitra Navratri 2024 starts from 9 April, Check Kalash Sthapana Muhurat and Mata Ki Sawari 2024
Next Article
Chaitra Navratri 2024: चैत्र नवरात्रि की आज से शुरुआत, जानें कलश स्थापना के शुभ मुहूर्त से लेकर मां की सवारी तक सबकुछ
Close
;