विज्ञापन
Story ProgressBack

देश की 9 IIT और 16 NIT ने दिया छात्रों को झटका, ब्रांच बदलने का विकल्प बंद

विद्यार्थी जेईई-मेन एवं एडवांस्ड की रैंक पर कॉलेज ऑप्शन चुनने की विश्लेषण में लगे हैं. वहीं IIT और NIT ने परफोरमेंस के आधार पर ब्रांच बदलने के विकल्प को बंद कर दिया है.

Read Time: 3 mins
देश की 9 IIT और 16 NIT ने दिया छात्रों को झटका, ब्रांच बदलने का विकल्प बंद

IIT-NIT: देश की प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-एडवांस्ड के रिजल्ट के बाद अब IIT और NIT में एडमिशन के लिए काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. लाखों विद्यार्थी जेईई-मेन एवं एडवांस्ड की रैंक पर कॉलेज ऑप्शन चुनने की विश्लेषण में लगे हैं. इस साल 121 कॉलेजों की 865 ब्रांचेंज को जोसा काउंसलिंग के दौरान भरना है. च्वाइस फिलिंग की अंतिम तिथि 18 जून तक है. वहीं IIT और NIT ने परफोरमेंस के आधार पर ब्रांच बदलने के विकल्प को बंद कर दिया है.

9 IIT और 16 NIT में ब्रांच अपग्रेडेशन बंद

एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के कॅरियर काउंसलिंग एक्सपर्ट अमित आहूजा ने बताया कि इस वर्ष कई प्रमुख आईआईटी-एनआईटी ने विद्यार्थियों के प्रथम वर्ष की परफोरमेंस के आधार पर होने वाले ब्रांच अपग्रेडेशन के विकल्प को बंद कर दिया है. इन आईआईटी में शीर्ष आईआईटी मुम्बई, मद्रास, खरगपुर, हैदराबाद, जम्मू , मंडी , भुबनेश्वर, धारवाड़ के अतिरिक्त आईआईटी धनबाद शामिल है. आईआईटी के साथ-साथ 16 एनआईटी ऐसे हैं जिन्होंने इस वर्ष ब्रांच अपग्रेडेशन के ऑप्शन्स को बंद किया है. इन एनआईटी में जयपुर, अलाहाबाद, कालीकट, दिल्ली, हमीरपुर, सूरतकल, नागालैंड, पटना, पुड्डूचेरी, रायपुर, कुरूक्षेत्र, राउकेला, तिरूचिरापल्ली, वारंगल, सूरत और आंध्रप्रदेश में ये ऑप्शन बंद किए गए हैं.

क्या है नया बदलाव 

आहूजा ने बताया कि हर वर्ष बड़ी संख्या में विद्यार्थी शीर्ष आईआईटी-एनआईटी की कोर ब्रांचों के अतिरिक्त लोअर-ब्रांचों को उनके नीचे के आईआईटी-एनआईटी की कोर ब्रांचों से ज्यादा प्राथमिकता में रखते थे, क्योंकि विद्यार्थियों की यह सोच होती है कि वे शीर्ष आईआईटी एवं एनआईटी में लोअर ब्रांचों में प्रवेश लेकर प्रथम वर्ष की परफोरमेंस की आधार पर ब्रांच अपग्रेड करवा सकते हैं. परन्तु अब 9 आईआईटी एवं 16 एनआईटी में ब्रांच अपग्रेड का विकल्प बंद होने से विद्यार्थी इन कॉलेजों में केवल अपनी रूचि के अनुसार पढ़ने वाली ब्रांच को ही प्राथमिकता सूची में रख सकेंगे.

इस वर्ष कुल 59917 सीटों के लिए काउन्सलिंग 23 आईआईटी 17740, 32 एनआईटी की 24229, 26 ट्रिपलआईटी की 8546, 40 जीएफटीआई की 9402 के साथ कुल 59917 के लिए काउंसलिंग हो रही है. गत वर्ष के मुकाबले आईआईटी की 355, एनआईटी की 275, ट्रिपलआईटी की 800, जीएफटीआई की 1335 कुल 2765 सीटों में बढ़ोतरी हुई है.

यह भी पढ़ेंः Rajasthan Politics: 'राजस्थान के 303 कॉलेजों को बंद करने जा रही भजनलाल सरकार', अशोक गहलोत के ट्वीट से मचा बवाल

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan: पीबीएम अस्पताल की इस सुविधा से मिलेगा बीकानेर संभाग को फायदा, मरीजों के इलाज के लिए जयपुर से आएंगे डॉक्टर
देश की 9 IIT और 16 NIT ने दिया छात्रों को झटका, ब्रांच बदलने का विकल्प बंद
Ravindra Bhati's Shiv Vidhan Sabha and Vasundhara Raje's plan ignored in Rajasthan Budget 2024 Know What Barmer get and what is Disappointment
Next Article
बजट में रविंद्र भाटी की शिव विधानसभा और वसुंधरा की योजना की अनदेखी, जानें बाड़मेर को क्या मिला और क्या है निराशा
Close
;