विज्ञापन
Story ProgressBack

फौज की नौकरी छोड़ करने लगा चोरी, गैंग बनाकर लग्जरी गाड़ियों से पॉश इलाकों में 100 से अधिक चोरी की, ऐसे हुआ गिरफ्तार

आर्मी की नौकरी छोड़ने के बाद आपने कई लोगों को बैंक, रेलवे अथवा अन्य सेक्टरों में नौकरी करते देखा होगा. लेकिन राजस्थान से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें एक शख्स ने फौज की नौकरी छोड़ने के बाद चोरी करने का गिरोह बनाया और फिर 100 से अधिक आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया.

Read Time: 3 mins
फौज की नौकरी छोड़ करने लगा चोरी, गैंग बनाकर लग्जरी गाड़ियों से पॉश इलाकों में 100 से अधिक चोरी की, ऐसे हुआ गिरफ्तार
फौज की नौकरी छोड़ चोरी करने वाला सरगना अपने गिरोह के अन्य सदस्यों के साथ पुलिस की गिरफ्त में.

Udaipur News: उदयपुर पुलिस ने मंगलवार को एक ऐसे शातिर चोरों को गिरोह को पकड़ा है, जिसने 100 से अधिक चोरी की वारदातों को अंजाम दिया है. खास बात यह है कि इस गिरोह का सरगना फौज की नौकरी छोड़ चुका एक शख्स है. उदयपुर जिले के प्रतापनगर थाना की पुलिस ने इस गिरोह को गिरफ्तार किया है. अब गिरोह में शामिल बदमाशों से पूछताछ की जा रही है. मिली जानकारी के अनुसार चोरी के एक मामले में उदयपुर की प्रतापनगर थाना पुलिस से एक फौजी सहित चार जनों को गिरफ्तार किया है. 30 मार्च को प्रतापनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी, जिसमें बताया कि 30 मार्च को उसके घर पर कोई नही था. जब वो घर लौटा तो ताला टुटा हुआ था. और बेड रूम में सारा सामान बिखरा हुआ था जब उसने चैक किया तो उसके घर से लाखों रुपये की ज्वेलरी और नगदी गायब थी. 

गुरुग्राम, हरियाणा तक के टोल नाकों की हुई चेकिंग

रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपियों की तलाश के लिए एक टीम का गठन किया. इसके बाद पुलिस टीम थाना प्रतापनगर द्वारा उपरोक्त तरीका वारदात के आधार पर पूर्व के चालानशुदा मुल्जिमानों से पूछताछ की गई. पुलिस टीम द्वारा वारदात के घटना स्थल का निरीक्षण कर व आस पास के सीसीटीवी कैमरों और अन्य वैज्ञानिक तरीकों से विश्लेषण किया. साथ ही इस मामले में सबूत जुटाए गए. संदिग्धों की पहचान कर उनके आने जाने के रूट के सम्बन्ध गुरूग्राम हरियाणा तक के टोल नाकों के सीसीटीवी फुटेज चेक किए गए. 

सरगना सतपाल फौजी 100 से अधिक वारदातों को दे चुका अंजाम

टीम ने जयपुर, सीकर, भिवाड़ी, दिल्ली, हरियाणा, गुरुग्राम, मानेसर, आदि जगह पर तलाश की. जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी सतपाल सिंह उर्फ सतपाल फौजी को चिन्हित किया. जब सतपाल फौजी का अपराधिक रिकोर्ड निकाला गया तो उसने करीब 100 से अधिक वारदातों को अंजाम दिया. जिस पर पुलिस थाना प्रतापनगर टीम ने केन्द्रीय कारागृह अजमेर से मुख्य आरोपी सतपाल फौजी और उसके साथी आरोपी विकाश शर्मा, जितेन्द्र सोनी और विक्रमजीत को प्रोडेक्शन वारंट से गिरफ्तार किया.

पारिवारिक कारणों से छोड़ दी थी फौज की नौकरी

जानकारी के मुताबिक गिरोह का मास्टरमाइंड सतपाल सिंह उर्फ फौजी सेना में था. पारिवारिक कारणों से फौज की नौकरी छोड़ने के बाद वो हरियाणा अपने घर लौट आया और अपराध जगत मे सक्रिय हो गया. सतपाल ने उत्तरप्रदेश, गुजरात राजस्थान, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, महाराष्ट्र और दिल्ली में ताबडतोड वारदातों को अंजाम दिया. 

लग्जरी गाड़ियों से पॉश इलाकों 

आरोपी सतपाल सिंह उर्फ सतपाल फौजी शातिर व बदमाश प्रवृति का है, जिस पर पूर्व में हत्या, चोरी, लूट, डकैती और नकबजनी की 100 से अधिक वारदातें कर रखी है. शातिर आरोपी अपनी लग्जरी कार से आते और पॉश कॉलोनी वाले फ्लैट में जाकर वहां के सुरक्षाकर्मी और आसपास के लोगों को चकमा देकर वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते है. अब पुलिस की टीम इन चारों से पूछताछ कर रही है. 
 

यह भी पढ़ें - उदयपुर सांसद मन्नालाल रावत को धमकी देने वाला युवक गिरफ्तार, बताया भाजपा नेता से क्यों था नाराज

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बांसवाड़ा में 7 सरकारी शिक्षक समेत ग्राम विकास अधिकारी को किया गया बर्खास्त, जानें वजह
फौज की नौकरी छोड़ करने लगा चोरी, गैंग बनाकर लग्जरी गाड़ियों से पॉश इलाकों में 100 से अधिक चोरी की, ऐसे हुआ गिरफ्तार
Rajasthan Budget: Kirori Lal Meena not reach House even on budget day, Vasundhara Raje Ashok Gehlot were also not seen
Next Article
बजट के दिन भी सदन नहीं पहुंचे किरोड़ी लाल, वसुंधरा-गहलोत भी नहीं आए नजर, चुनाव हारे इन नेताओं की मौजूदगी ने चौंकाया
Close
;