विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान में गांधी वाटिका ट्रस्ट एक्ट को निरस्त करेगी भजनलाल सरकार, जानें क्यों लिया गया यह फैसला

भजनलाल सरकार की कैबिनेट बैठक में महात्मा गांधी की जीवनी पर आधारित संग्रहालय 'गांधी वाटिका' के संचालन और प्रबंधन के लिए गांधी वाटिका ट्रस्ट एक्ट को समाप्त करने का फैसला लिया है.

राजस्थान में गांधी वाटिका ट्रस्ट एक्ट को निरस्त करेगी भजनलाल सरकार,  जानें क्यों लिया गया यह फैसला
गांधी वाटिका ट्रस्ट

Rajasthan Gandhi Vatika: राजस्थान की पिछली गहलोत सरकार द्वारा लाए गए 'गांधी वाटिका ट्रस्ट अधिनियम 2023'(Gandhi Vatika Trust Act) को भजनलाल सरकार ने निरस्त करने का फैसला किया है. राजस्थान सरकार ने महात्मा गांधी की जीवनी पर आधारित संग्रहालय 'गांधी वाटिका' के संचालन और प्रबंधन के लिए गांधी वाटिका ट्रस्ट एक्ट को समाप्त करेगी. इसके लिए विधानसभा में विधेयक भी लाया जाएगा. यह फैसला मंगलवार (2 जुलाई) को भजनलाल सरकार की कैबिनेट बैठक में किया गया है.

कैबिनेट बैठक के बाद संसदीय कार्य मंत्री जोगाराम पटेल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि गांधी वाटिका ट्रस्ट अधिनियम को निरस्त करने का फैसला किया गया क्योंकि अधिनियम में कुछ खामियां थीं. उन्होंने कहा कि पिछली कांग्रेस सरकार ने गांधी वाटिका ट्रस्ट को ऐसे असीमित अधिकार दिए जिनकी जरूरत नहीं थी. उन्होंने कहा कि गांधी वाटिका का संचालन जारी रहेगा.

अध्यक्ष को हटाने का एक्ट में नहीं है प्रावधान

संसदीय कार्य मंत्री जोगाराम पटेल ने बताया कि गांधी वाटिका न्यास, जयपुर अधिनियम-2023 को समाप्त करने के लिए विधानसभा में विधेयक लाया जाएगा. उन्होंने बताया कि 2023 में लाए गए अधिनियम की विभिन्न धाराओं में उपाध्यक्ष को असीमित वित्तीय शक्तियां दी गई थी.

ट्रस्ट से संबंधित किसी भी प्रकार की स्थावर सम्पत्ति का विक्रय, बंधक या निपटान करने का अधिकार उपाध्यक्ष को दिया गया था. मनोनीत उपाध्यक्ष को हटाने के संबंध में किसी भी प्रकार का प्रावधान भी उक्त अधिनियम में नहीं किया गया था. ये प्रावधान राज्य हित में नहीं हैं. उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि गांधी दर्शन संग्रहालय का संचालन किया जाता रहेगा.

उन्होंने बताया कि राज्य में अन्य विभागों के अधीन संचालित संग्रहालयों का संचालन संबंधित विभाग द्वारा ही किया जा रहा है, ऐसी स्थिति में गांधी दर्शन संग्रहालय के संचालन एवं प्रशासनिक क्रियान्वयन हेतु गांधी वाटिका न्यास की आवश्यकता नहीं है.

जानकारी के लिए बता दें, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खरगे, राहुल गांधी एवं तत्‍कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पिछले सात 23 सितंबर को जयपुर के सेंट्रल पार्क में बनी ‘गांधी वाटिका' का लोकार्पण किया था. नई पीढ़ी को महात्मा गांधी के विचारों से परिचित कराने के लिए 85 करोड़ रुपए की लागत से यह गांधी वाटिका की विषय वस्तु गांधीवादी विचारकों की समिति के मार्गदर्शन में तैयार की गई है.

यह भी पढ़ेंः भजनलाल सरकार ने कैबिनेट बैठक में लिए अहम फैसले, जानें किन-किन चीजों को मिली मंजूरी

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
किरोड़ी लाल मीणा के लिए सीएम भजनलाल को लिखा खून से पत्र, कहा- 'राजस्थान को उनकी जरूरत है'
राजस्थान में गांधी वाटिका ट्रस्ट एक्ट को निरस्त करेगी भजनलाल सरकार,  जानें क्यों लिया गया यह फैसला
Sawai Madhopur Mother hanged her 6 year old son then she hanged herself
Next Article
Rajasthan: पहले 6 साल के बेटे को फांसी पर लटकाया, फिर खुद भी फंदे पर झूलकर तड़प-तड़प कर दे दी जान
Close
;