विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Sep 04, 2023

पकड़ा गया ठग बैंक मैनेजर, खाताधारकों का पैसा सगे-संबंधियों को ट्रांसफर कर फरार था आरोपी

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि गिरफ्तार पूर्व बैंक मैनेजर ने अपने साथियों की मदद से ऐसे खातों की रकम दूसरे खातों में ट्रांसफर कर दी. जिसके खाताधारक की मौत हो गई, या लंबे समय से बंद पड़े थे. इस वारदात में राहुल के साथ कियोस्क शाखा के राहुल मेहता, हरी प्रिया के साथ कई लोगों के अपराध में शामिल होने का अंदेशा है. 

Read Time: 3 mins
पकड़ा गया ठग बैंक मैनेजर, खाताधारकों का पैसा सगे-संबंधियों को ट्रांसफर कर फरार था आरोपी
छत्तीसगढ़ पुलिस ने अजमेर जिले से मां-बेटे को गिरफ्तार किया
अजमेर:

बैंक खाताधारकों को साढ़े तीन करोड़ का चूना लगाकर फरार चल रहे एक पूर्व बैंक मैनेजर को छत्तीसगढ़ पुलिस ने अंततः रविवार को अजमेर से गिरफ्तार कर लिया. आरोप है कि छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के ग्रामीण बैंक में बैंक मैनेजर के रूप में तैनाती के दौरान उसने 165 अकाउंट से करीब साढे़ 3 करोड़ रुपए निकालकर अपने सगे-संबंधियों के खातों में डाल दिए.

छत्तीसगढ़ पुलिस ने रामगंज थाना क्षेत्र के गोविंद नगर से आरोपी पूर्व मैनेजर राहुल कुमार शर्मा और उसकी मां वीणा शर्मा को गिरफ्तार किया. रविवार को छत्तीसगढ़ पुलिस राहुल शर्मा के घर पहुंची और वहां से दोनों मां-बेटे को गिरफ्तार कर अजमेर के अवकाश कालीन मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश कर ट्रांजिट रिमांड लेकर छत्तीसगढ़ ले गई. 

शाखा प्रबंधक के रूप में कार्य कर रहा था आरोपी

छत्तीसगढ़ पुलिस ने बताया कि राहुल शर्मा बैंक के गेट की चाबी, तिजोरी और एफ आर एफ सी की चाबी, बैंक का मोबाइल हैंडसेट, सिम लेकर फरार हो गया. वह 31 नवंबर 2021 से 18 जुलाई 2022 तक शाखा प्रबंधक के रूप में कार्य कर रहा था. मामले का खुलासा तब हुआ जब तिजोरी को डुप्लीकेट चाबी मंगवाकर खोला गया और मौके से खाताधारक हेमेश्वर, गीता पटेल और वीना शर्मा के गोल्ड के पैकेट गायब मिला.

परिचितों के खाते में ट्रांसफर किया ग्राहकों का पैसा

रिपोर्ट के मुताबिक गायब हुए गोल्ड पैकेट की कीमत करीब डेढ़ लाख रुपए थी, जिसे अपने साथ लेकर आरोपी और पूर्व शाखा प्रबंधक राहुल शर्मा फरार हो गया था. जांच आगे बढ़ी तो पता कि आरोपी ने करीब 150 से ज्यादा खाता धारकों के बैंक अकाउंट से करीब 3:30 करोड़ रुपए अपनी मां और परिचितों के खाते में ट्रांसफर कर दिए थे. 

आरोपी ने लंबे समय से बंद खातों से निकाली राशि

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि गिरफ्तार पूर्व बैंक मैनेजर ने अपने साथियों की मदद से ऐसे खातों की रकम दूसरे खातों में ट्रांसफर कर दी. जिसके खाताधारक की मौत हो गई, या लंबे समय से बंद पड़े थे. इस वारदात में राहुल के साथ कियोस्क शाखा के राहुल मेहता, हरी प्रिया के साथ कई लोगों के अपराध में शामिल होने का अंदेशा है. 

अपनी मां के खाते में जमा कराए किसानो के पैसे

आरोपी पूर्व शाखा प्रबंधक राहुल शर्मा ने भोले- भाले और कम पढ़े लिखे किसानों को भी निशाना बनाकर उनके खातों में जमा रकम को अपनी मां के खाते में जमा करवाए. यही नहीं, आरोपी ने रायपुर और दूसरे शहरों में रहने वाले रिश्तेदारों के खातों में भी कुछ राशि ट्रांसफर करवाए.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
India Post Bharti 2024: डाक विभाग में 10वीं पास के लिए बंपर भर्ती, 44 हजार पदों के लिए आवेदन शुरू
पकड़ा गया ठग बैंक मैनेजर, खाताधारकों का पैसा सगे-संबंधियों को ट्रांसफर कर फरार था आरोपी
Father's death shown in an accident for Rs 50 lakh, compassionate appointment taken in Banswara
Next Article
बांसवाड़ा: 50 लाख रुपये के लिए पिता की एक्सीडेंट में दिखा दी मौत, ले ली अनुकंपा नियुक्ति; पुत्र समेत 3 गिरफ्तार
Close
;