विज्ञापन
Story ProgressBack

Crack Land Barmer: अब बाड़मेर में जमीन में आई दरार, रहस्य जानने के लिए पहुंचे ग्रामीण

Crack Land Barmer: बीकानेर के बाद अब बाड़मेर में जमीन में दरार आई है. राजस्थान में यह दूसरी घटना है. जमीन दरार आने की घटना सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

Read Time: 3 mins
Crack Land Barmer: अब बाड़मेर में जमीन में आई दरार, रहस्य जानने के लिए पहुंचे ग्रामीण
बाड़मेर जमीन में दरार आ गई.

Crack Land Barmer: बाड़मेर से 35 किलोमीटर दूर नागाणा गांव के पास जमीन में दरार आने से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है. जमीन में दरार आने की घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. घटना नागाणा गांव में केयर्न वेदांता के ऑयल फील्ड मंगला प्रोसेसिंग टर्मिनल एमपीटी के पास की है. गांव वालों ने आशंका जताई है कि पास की कयर्न वेदांता का ड्रिलिंग का काम चल रहा है. उसी वजह से दरार हो सकती है.  16 अप्रैल को बीकानेर में भी डेढ़ बीघा जमीन धंस गई थी. 

बीकानेर में 16 अप्रैल को डेढ़ बीघा जमीन धंस गई थी

बीकानेर की लूणकरणसर तहसील के सहजरासर गांव में 16 अप्रैल को करीब डेढ़ बीघा जमीन धंस गई थी. 24 अप्रैल को जीएसआई यानी जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम मौके पर पहुंची. जमीन धंसने के कारणों का पता लगा रही है. जमीन धंस जाने के बाद जब भूगर्भ शास्त्री डॉ. देवेश खंडेलवाल से इसकी वजह पूछी गई तो उनका यही कहना था कि किसी जमाने में यहां जमीन के नीचे पानी का कोई प्राकृतिक स्त्रोत रहा होगा, जिसके सूख जाने के बाद यहां वैक्यूम बन गया. अचानक उसके खत्म हो जाने से जमीन धंस गई होगी. लेकिन, असली कारण का पता जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम बताएगी. 

बीकानेर में करीब 70 फीट जमीन धंस गई थी.

बीकानेर में करीब 70 फीट जमीन धंस गई थी.

स्थानीय लोग प्राकृतिक आपदा मान रहे थे  

बीकानेर से आए भू-वैज्ञानिकों ने वॉटर लॉगिंग को जमीन के धँसने की वजह बताई थी, वहीं स्थानीय लोग इस बात को मानने को तैयार नहीं थे. उनका ये कहना था कि ये इलाका रेगिस्तान है और सदियों से ऐसा ही रहा है. ऐसे जमीन के नीचे पानी के जमा होने का सवाल ही पैदा नहीं होता. कुछ लोग इसे प्राकृतिक आपदा मान रहे थे, वहीं कई लोग इसे दैवीय प्रकोप भी कह रहे हैं. सबके अपने-अपने तर्क थे. 

स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता ने पीएम मोदी को लेटर भेजा था

सामाजिक कार्यकर्ता श्रेयांश बैद ने इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी पत्र भेजा था. वैज्ञानिक तरीके से जांच कराने की मांग की थी. उनका कहना है कि ये प्राकृतिक आपदा है. लेकिन, कारणों की जांच होनी.चाहिए, जिससे आने वाले वक़्त में कोई हादसा ना हो. साथ ही अगर कोई हादसा होता है तो लोग अपना बचाव कर सकें.

अचानक हुई भूगर्भीय घटना ने लोगों को हैरत में डाला

डेढ़ बीघा जमीन में अचानक 70 फुट नीचे धंसने की घटना लोगों के लिए आश्चर्य का विषय बन गई. आसपास के लोगों ने क्षेत्र में कई सालों पहले बिजली गिरी थी. ग्रामीणों का मानना है कि इस वजह से हर साल मिट्टी धंसती गई. इसके चलते लोगों ने इस स्थान को 'बिजलगढ़' का नाम दे दिया. लोगों ने बताया कि जमीन धंसने की घटना को लेकर उन्होंने कई बार प्रशासन को इस मामले की सूचना दी है. 

यह भी पढ़ें: कैबिनेट मंत्री किरोड़ी लाल मीणा ने क्यों कहा, सत्ता में होने की वजह से मेरी कुछ सीमाएं हैं वरना...?

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Sonakshi-Zaheer Wedding: जानें सोनाक्षी सिन्हा और जहीर इकबाल के शादी की ये खास बातें
Crack Land Barmer: अब बाड़मेर में जमीन में आई दरार, रहस्य जानने के लिए पहुंचे ग्रामीण
Rajasthan Budget 2024: Deputy CM Diya Kumari gave big hints before presenting the budget, the budget will be special before the by-elections.
Next Article
Rajasthan Budget 2024: डिप्टी सीएम दीया कुमारी ने बजट पेश करने से पहले दिये बड़े संकेत, उपचुनाव से पहले बजट होगा खास
Close
;