विज्ञापन
Story ProgressBack

जोधपुर के DM ने लोकसभा चुनाव में लागू किया यह नया कांसेप्ट, बढ़ेगा मतदान प्रतिशत

इस कांसेप्ट के तहत जोधपुर संसदीय क्षेत्र में आने वाली प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में 20 बूथों को 'मतदान वाटिका' के रूप में विकसित किया जाएगा. हर 'मतदान वाटिका' में 50-50 पौधे लगाए जाएंगे, जो मतदान दिवस के बाद उसी स्कूल के विद्यार्थियों को भी गोद दिए जाएंगे.

Read Time: 3 min
जोधपुर के DM ने लोकसभा चुनाव में लागू किया यह नया कांसेप्ट, बढ़ेगा मतदान प्रतिशत
जोधपुर के डीएम गौरव अग्रवाल की तस्वीर

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान होने के बाद अब सभी राजनीतिक दल ताबड़तोड़ प्रचार-प्रसार में जुटे हैं. जोधपुर लोकसभा सीट राजस्थान की सबसे हॉट सीटों में एक है. यहां सभी राजनीतिक दल अपने चुनावी तैयारी में दम-खम लगा रहे हैं, तो दूसरी ओर जिला निर्वाचन विभाग भी चुनावी तैयारियों में जुट गया है. जोधपुर के जिला निर्वाचन अधिकारी और जिला कलेक्टर गौरव अग्रवाल ने एक अनूठी पहल की है. जिसके तहत अब 26 अप्रैल को होने वाले लोकसभा चुनाव के मतदान दिवस के दिन जोधपुर में 'मतदान वाटिका' का नया कॉन्सेप्ट भी लागू किया गया है. इसके जरिए मतदान प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ ही पर्यावरण के लिए भी एक अनूठा संदेश दिया जाएगा.

जोधपुर में मतदाताओं की संख्या

जोधपुर के जिला निर्वाचन अधिकारी गौरव अग्रवाल ने बताया कि लोकसभा चुनाव को किस प्रकार से वेलफेयर और शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न करवाया जाए जिसके लिए हमारी पूरी तैयारी चल रही है. हमारे जिला निर्वाचन अधिकारी क्षेत्र में कुल 10 विधानसभा क्षेत्र आते हैं, जिसमें 27.59 लाख कुल मतदाता है और प्रत्येक हजार पुरुष मतदाता पर 915 महिला मतदाता है जो कि पिछले विधानसभा चुनाव में 912 के करीब थी. वहीं इसके अलावा कुल 22000 दिव्यांग मतदाता भी है.

दिव्यांग और बुजुर्ग मतदाताओं के लिए 

इस बार निर्वाचन आयोग की ओर से दिव्यांग मतदाता और 85 वर्ष से अधिक के मतदाताओं जो बूथ पर जाकर मतदान नहीं कर सकते उनके लिए निर्वाचन आयोग ने पहली बार लोकसभा चुनाव में होम वोटिंग की सुविधा दी है. इसके तहत जोधपुर जिले में 3800 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग होम वोटिंग के जरिए करेंगे. 

नए मतदाताओं के लिए विशेष

इस बार जो नए मतदाता जुड़ेंगे उनके लिए भी कमीशन की ओर से इस बार के लोकसभा चुनाव में 'मतदान वाटिका' को एस्टेब्लिश कराया जाएगा. जहां 50-50 पौधे वृक्षारोपण कराए जाएंगे. उसके पीछे मकसद यही है कि मतदान को किस प्रकार से पॉजिटिव थिंक के साथ जोड़ा जाए. जिससे कि अगर किसी की कोई एपेथी है उसे काउंटर किया जा सके और अधिक से अधिक लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करें.

इलेक्शन कमीशन 'वोटर हेल्पलाइन' ऐप

जिला निर्वाचन अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि इलेक्शन कमीशन के दो ऐप है. जैसे सभी मतदाता जरूर डाउनलोड करें जिसमें पहला 'वोटर हेल्पलाइन' एप है जिसमें मतदाता अपनी बेसिक डिटेल वोटर आईडी से जुड़ी अन्य डॉक्यूमेंट से वोटर लिस्ट में अपना नाम पता कर सकते हैं और वहीं अगर आपका नाम वोटर लिस्ट में नहीं है तो इस ऐप के जरिए आप अपना नाम भी मतदाता सूची में जुड़वा सकते हैं. इसकी आखिरी तारीख 25 मार्च है. 

इलेक्शन कमीशन 'सी विजिल' ऐप

वहीं दूसरी 'सी विजिल' एप जिसमें अगर कहीं भी आचार संहिता का उल्लंघन दिखता है तो कोई भी व्यक्ति इस ऐप के जरिए अपने मोबाइल से ही फोटो खींचकर उसमें फोटो या वीडियो रिकॉर्ड कर अपलोड कर सकता है. जिससे हमारे यहां एक जिला निर्वाचन विभाग में कंट्रोल रूम बनाया गया है. जिसमें आप व्यक्तिगत रूप से भी शिकायत कर सकते हैं वहीं इसके अलावा हमने फ्लाइंग स्क्वॉड की टीम भी बनाई है. विधानसभा में तीन-तीन टीमों का गठन किया गया है जो तीन शिफ्ट में काम करेगी जो आपकी शिकायत पर 100 मिनट में निस्तारण भी करेगी.

ये भी पढ़ें- श्रीगंगानगर और झुंझुनूं लोकसभा सीट पर बीजेपी ने प्रत्याशी घोषित कर सभी को चौंकाया, सीटिंग MP का काटा टिकट

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close