विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान के मेवात में चला ऑपरेशन एंटीवायरस, 15 साइबर ठगों का किया गया पर्दाफाश

डीग के जुरहरा थाना पुलिस और डीएसटी टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए गांव बामनी के जंगलों से 15 साईबर ठगों को पकड़कर एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है.

राजस्थान के मेवात में चला ऑपरेशन एंटीवायरस, 15 साइबर ठगों का किया गया पर्दाफाश

Rajasthan News: वैसे तो देश में साईबर ठगी के मामले में जामताड़ा का नाम सबसे पहले लिया जाता है. वहीं अब राजस्थान के मेवात को इस मामले में दूसरे नंबर पर माना जाने लगा है. जहां अन्य राज्यों की पुलिस अपने क्षेत्र में ठगी के शिकार हुए लोगों के मुकदमें के आरोपियों को पकड़ने के लिए डेरा डाले रहती है. वहीं स्थानीय पुलिस की मदद से इन आरोपियों को पकड़कर अपने साथ ले जाती है. इन्हीं साईबर ठगी के बढ़ते मामलों को लेकर मेवात में ऑपरेशन एंटीवायरस अभियान चलाया गया.

आईजी राहुल प्रकाश ने एक आभियान चलाया जिसका नाम ऑपरेशन एंटीवायरस  रखा गया जिस अभियान के तहत डीग एसपी राजेश कुमार मीणा के नेतृत्व में रविवार को जुरहरा थाना पुलिस और डीएसटी टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए गांव बामनी के जंगलों से 15 साईबर ठगों को पकड़कर एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है. जिनके  पास मौके से 23 मोबाइल 14 फर्जी एटीएम कार्ड 3 फर्जी सिम एक क्यू आर कोड स्कैनर जब्त किया है.

साइबर ठगों के पैसे निकालते थे गिरोह

पुलिस के मुताबिक यह सभी साईबर ठग अभी तक आस पास के कई राज्यों के भोले भाले लोगों को अपने जाल में फंसाकर उनके साथ ठगी कर चूके हैं, यह गिरोह फर्जी एटीएम के द्वारा यह है साईबर ठगों के रूपयों को निकालने का भी काम करते हैं. 

कैसे लगाते थे चूना

ओएलएक्स व सोसियल मीडिया पर गाड़ी व अन्य सामान को सस्ते दामों में बेचने का फर्जी विज्ञापन डालकर  देश की भोली भाले लोगों को अपने जाल में फंसा कर कोरियर और बिल्टी के नाम पर क्यू आर कोड के जरिए अपने खातों में मोटी रकम डलवा लेते थे. इसके अलावा फेसबुक पर फर्जी सुंदर लड़की की फोटो लगाकर सामने वाले शख्स को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजकर अपना दोस्त बनकर और उसका व्हाट्सएप नंबर लेकर वीडियो कॉलिंग के जरिए फर्जी न्यूड वीडियो दिखाकर सामने वाले शख्स को उत्तेजित करके उसकी नग्न वीडियो रिकॉर्ड कर लेते, फिर फर्जी सिम के द्वारा पुलिस ऑफिसर बनकर सामने वाले शख्स को धमकी देकर ब्लैकमेल करते हैं. इसके बाद अपने द्वारा बताए हुए एक फर्जी खाते में पैसे डलवा लेते हैं. साथ में धमकी देते हैं अगर किसी को बताया तो आपके ऊपर मुकदमा दर्ज कर लिया जाएगा और आपकी न्यूड विडियो वायरल हो जाएगी जिसको देखते हुए सामने बाला पीड़ित डर और सहम जाता है आगे कोई कदम नहीं उठाता हैं.

डीग पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार मीणा ने बताया ऑपरेशन एंटीवायरस के तहत डीग जिले की सभी थानों की पुलिस लगातार साईबर ठगों को चिन्हित कर उनके ऊपर लगातार कार्रवाई कर रही है. साथ में हम टेक्निकल प्रोसेसिंग का भी यूज कर रहे हैं जिनके जरिए इन साइबर ठगों को रोका जा सके.

यह भी पढ़ेंः राजस्थान पुलिस को नशे के फैक्ट्री की भनक तक नहीं, मुंबई पुलिस ने दबिश देकर किया खुलासा

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
किरोड़ी लाल मीणा के लिए सीएम भजनलाल को लिखा खून से पत्र, कहा- 'राजस्थान को उनकी जरूरत है'
राजस्थान के मेवात में चला ऑपरेशन एंटीवायरस, 15 साइबर ठगों का किया गया पर्दाफाश
Sawai Madhopur Mother hanged her 6 year old son then she hanged herself
Next Article
Rajasthan: पहले 6 साल के बेटे को फांसी पर लटकाया, फिर खुद भी फंदे पर झूलकर तड़प-तड़प कर दे दी जान
Close
;