विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान में हो सकता है बिजली संकट! 1200 मेगावाट बिजली उत्पादन करने वाली थर्मल पावर प्लांट शटडाउन

राजस्थान में 1200 मेगावाट बिजली उत्पादन करने वाली थर्मल पावर प्लांट को बंद करना पड़ा है. झालावाड़ की काली सिंध थर्मल पावर प्लांट की दो यूनिट से बिजली उत्पादन को बंद कर दिया गया है.

Read Time: 3 mins
राजस्थान में हो सकता है बिजली संकट! 1200 मेगावाट बिजली उत्पादन करने वाली थर्मल पावर प्लांट शटडाउन

Rajasthan Electricity: राजस्थान में जहां एक ओर बिजली उत्पादन के लिए लगातार कवायद की जा रही है. हाल ही में भजनलाल सरकार ने सोलर पावर प्लांट योजना को मंजूरी दी है. जबकि उर्जा मंत्री हीरालाल नागर राजस्थान को बिजली बेचने वाली अग्रणी राज्य बनाने पर जोर दे रहे हैं. लेकिन इसके इतर राजस्थान में 1200 मेगावाट बिजली उत्पादन करने वाली थर्मल पावर प्लांट को बंद करना पड़ा है. झालावाड़ की काली सिंध थर्मल पावर प्लांट की दो यूनिट से बिजली उत्पादन को बंद कर दिया गया है. अब इससे राजस्थान के कई जगहों पर बिजली संकट की आशंका जताई जा रही है.

आपको बता दें झालावाड़ स्थित काली सिंध थर्मल पावर परियोजना पिछले कुछ समय से लगातार परेशानियों से जूझ रहा है. भीषण गर्मी के बीच भी बॉयलर ट्यूब लीकेज होने के चलते एक यूनिट को बंद करना पड़ा था. जिससे 600 मेगावाट बिजली की सप्लाई बंद हो गई थी. लेकिन अब यहां स्थित दोनों ही यूनिट से बिजली उत्पादन को बंद करना पड़ा है. हालांकि इस बार दोनों यूनिट बिजली उत्पादन करने में ठीक है. लेकिन इसके अब इसे ट्रांसमिशन में दिक्कत आ गई है.

Latest and Breaking News on NDTV

ग्रिड तक नहीं पहुंच रही बिजली

काली सिंध थर्मल पावर प्लांट के दोनों यूनिट से बिजली उत्पादन सुचारू रूप से हो रहा है. लेकिन ट्रांसमिशन लाइन में बड़े फॉल्ट की वजह से बिजली ग्रिड तक पहुंच नहीं पा रही है. इस वजह से दोनों यूनिट को शटडाउन करना पड़ा है. दोनों इकाईयां बंद होने की वजह से कुल 2 लाख 88 हजार यूनिट बिजली उत्पादन बंदहो गया है. ऐसे में राजस्थान के कई इलाकों में बिजली संकट गहराने की उम्मीद की जा रही है.

बताया जा रहा है कि ट्रांसमिशन लाइन में फॉल्ट आने से ग्रिड स्टेशन पर ट्रिपिंग आ गई. यानी पावर प्लांट से जो बिजली उत्पदान किया जा रहा है उसे ग्रिड तक नहीं पहुंच रहा है. और ग्रिड से ही बिजली की सप्लाई की जाती है. ऐसे में लोगों तक बिजली नहीं पहुंच रही है. वहीं ग्रिड तक लाइन पहुंचाने के लिए दूसरी कोई लाइन नहीं है. ऐसे में बिजली उत्पादन व्यर्थ जा रहा था. इस वजह से पावर प्लांट को शटडाउन कर दिया गया है.

परियोजना के मुख्य अभियंता के एल मीणा ने जानकारी देते हुए बताया कि प्लांट से वितरण निगम के  ग्रिड तक जाने वाली 440 केवी सप्लाई लाइन में अचानक फाल्ट आ गया था. जिसके चलते प्लांट की दोनों इकाई को बंद करना पड़ा. ऐसे में बाद में निगम के निर्देश पर प्लांट की सिंगल यूनिट को कम लोड पर शुरू कर विद्युत उत्पादन चालू करवाया दिया गया है. वहीं दूसरी तरफ प्रसारण निगम की टीमें लाइन का फाल्ट ठीक करने में लगी हुई है. इसके ठीक होते ही दोनों यूनिटों को पूरी तरह से शुरू कर दिया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः Jaipur Building Fire: जयपुर के रघु विहार में तीन मंजिला इमारत में लगी आग, दमकल की कई गाड़ियां मौके पर पहुंची

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan: पीबीएम अस्पताल की इस सुविधा से मिलेगा बीकानेर संभाग को फायदा, मरीजों के इलाज के लिए जयपुर से आएंगे डॉक्टर
राजस्थान में हो सकता है बिजली संकट! 1200 मेगावाट बिजली उत्पादन करने वाली थर्मल पावर प्लांट शटडाउन
Ravindra Bhati's Shiv Vidhan Sabha and Vasundhara Raje's plan ignored in Rajasthan Budget 2024 Know What Barmer get and what is Disappointment
Next Article
बजट में रविंद्र भाटी की शिव विधानसभा और वसुंधरा की योजना की अनदेखी, जानें बाड़मेर को क्या मिला और क्या है निराशा
Close
;