विज्ञापन
Story ProgressBack

नाथद्वारा में सी पी जोशी को हराएंगे विश्वराज सिंह, जानें मुकाबले को लेकर क्या बोले पूर्व मेवाड़ राजवंश के कुंवर

महान राजपूत राजा और योद्धा महाराणा प्रताप के वंशज, विश्वराज सिंह उस परिवार से आते हैं, जिसने सदियों तक मेवाड़ साम्राज्य पर शासन किया है और अब वह लोकतंत्र में 'जनप्रतिनिधि' बनना चाह रहे हैं. दिल्ली में भाजपा में शामिल होने के बाद पार्टी ने उन्हें राजसमंद जिले के नाथद्वारा से पार्टी का उम्मीदवार घोषित कर दिया था.

Read Time: 4 min
नाथद्वारा में सी पी जोशी को हराएंगे विश्वराज सिंह, जानें मुकाबले को लेकर क्या बोले पूर्व मेवाड़ राजवंश के कुंवर
कुंवर विश्वराज सिंह (फाइल फोटो)

राजस्थान में मेवाड़ के पूर्व शाही परिवार के सदस्य कुंवर विश्वराज सिंह मेवाड़ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के खिलाफ विधानसभा चुनाव में अपनी जीत को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं. कुंवर विश्वराज सिंह नाथद्वारा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे है.

गौरतलब है महान राजपूत राजा और योद्धा महाराणा प्रताप के वंशज, विश्वराज सिंह उस परिवार से आते हैं, जिसने सदियों तक मेवाड़ साम्राज्य पर शासन किया है और अब वह लोकतंत्र में 'जनप्रतिनिधि' बनना चाह रहे हैं. दिल्ली में भाजपा में शामिल होने के बाद पार्टी ने उन्हें राजसमंद जिले के नाथद्वारा से पार्टी का उम्मीदवार घोषित कर दिया था.

साल 2008 के विधानसभा चुनावों में नाथद्वारा सीट पर एक दिलचस्प लड़ाई देखी गई थी जब जोशी भाजपा के कल्याण सिंह से एक वोट से चुनाव हार गए थे.

नाथद्वारा सीट पर मौजूदा विधायक और विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी कांग्रेस के उम्मीदवार हैं. जोशी नाथद्वारा से पांच बार के विधायक हैं, जहां कांग्रेस निर्वाचन क्षेत्र में अपने विकास कार्यों पर भरोसा कर रही है, वहीं, भाजपा इस मुकाबले को मेवाड़ के गौरव से जोड़कर सीट जीतने की उम्मीद कर रही है.

कांग्रेस नेता सीपी जोशी के खिलाफ अपने मुकाबले पर विश्वराज सिंह ने कहा कि वह कई वर्षों से राजनीति में हैं और जहां तक चुनौतियों का सवाल है, यह श्रीनाथजी और हल्दीघाटी की भूमि है और मुझे विश्वास है कि भाजपा यहां जीतेगी.

विश्वराज सिंह ने कहते हैं, कई लोग मुझसे पूछते हैं और उन्हें संदेह है कि मैं लोकतंत्र में कैसे तालमेल बिठा पाऊंगा. मेरा कहना है कि (पूर्व शाही) परिवार लगभग 1500 वर्षों से वहां है, जो एक लंबा समय है और यह तभी हो सकता है जब आप लोगों से जुड़े हों. उन्होंने कहा, 'राजतंत्र' और 'लोकतंत्र' शासन के अलग-अलग रूप हैं, लेकिन अंतिम लक्ष्य लोगों की सेवा करना और विकास करना है.

उन्होंने आगे कहा, “जहां तक लोकतंत्र की बात है तो मेरे पिता महेंद्र सिंह भी सांसद रहे हैं, नाना भी सांसद रहे हैं. हमारे परिवार के लोग राजनीति में रहे हैं. हम हमेशा लोगों से मिलते रहे हैं, अब तरीका बदल गया है, पहले हम 'राजतंत्र' में मिलते थे, अब हम 'लोकतंत्र' में जनता से मिलते हैं.

श्रीनाथजी मंदिर के लिए प्रसिद्ध नाथद्वारा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं और यह मेवाड़ क्षेत्र का एक हिस्सा है. इस निर्वाचन क्षेत्र में राजपूत और ब्राह्मण मतदाताओं का वर्चस्व है. इसके बाद ओबीसी और आदिवासी वोटों का नंबर आता है. यहां दो लाख पैंतीस हजार मतदाता हैं.

विश्वराज सिंह 17 अक्टूबर को दिल्ली में भाजपा में शामिल हुए और 21 अक्टूबर को जारी दूसरी सूची में उन्हें पार्टी का उम्मीदवार घोषित किया गया. विश्वराज सिंह ने कहा कि जब देश का नेतृत्व सक्षम और दूरदर्शी नेता कर रहे है तो उनका समर्थन करना चाहिए और इसी वजह से वह पार्टी में शामिल हुए हैं.

उल्लेखनीय है मेवाड़ी पगड़ी पहनकर, वह अपने परिवार के सदस्यों और समर्थकों के साथ निर्वाचन क्षेत्र में घूमते हैं और लोग उनका राजनीति नेता के रूप में नहीं ,बल्कि पूर्व शाही परिवार के सदस्य के रूप मे स्वागत करते हैं. राजसमंद से सांसद और जयपुर के पूर्व राजपरिवार की सदस्य दीया कुमारी ने विश्वराज सिंह को भाजपा में लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. सांसद दीया कुमारी जयपुर के विद्याधर नगर विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा चुनाव लड़ रही हैं.

ये भी पढ़ें-नामांकन से पहले अदला-बदली, कर्नल सोनाराम हुए कांग्रेसी, तो गिर्राज सिंह मलिंगा ने थामा कमल

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close