विज्ञापन
Story ProgressBack

टोंक के शहीद कांस्टेबल खुशीराम बैरवा के घर पहुंचे सचिन पायलट, परिजनों से मुलाकात कर सरकार से की यह मांग

Sachin Pilot Tonk Visit: मंगलवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव सचिन पायलट अपने विधानसभा क्षेत्र टोंक पहुंचे. इस दौरान पालयट हाल ही बजरी माफिया के हमले में शहीद हुए पुलिस कांस्टेबल खुशीराम बैरवा के घर भी पहुंचे. उनके परिजनों से मुलाकात कर पायलट ने सरकार से बड़ी मांग की.

Read Time: 4 mins
टोंक के शहीद कांस्टेबल खुशीराम बैरवा के घर पहुंचे सचिन पायलट, परिजनों से मुलाकात कर सरकार से की यह मांग
टोंक में शहीद कांस्टेबल खुशीराम बैरवा के घर पहुंचे सचिन पायलट.

Sachin Pilot Tonk Visit: राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव सचिन पायलट (Sachin Pilot) मंगलवार को टोंक के दौरे पर रहे. इस दौरान पायलट शहीद पुलिस कांस्टेबल खुशीराम बैरवा (Martyr Constable Khushiram Bairwa) के घर भी पहुंचे. टोंक के देवली भांची गांव में पहुंचकर कांग्रेस नेता ने शहीद कांस्टेबल खुशीलाल बैरवा की तस्वीर पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए. उनके परिजनों से मुलाकात कर उनका ढांढस बंधाया और फिर सरकार और प्रशासन से इस मामले में बड़ी मांग कर दी. पायलट ने कहा कि जो घटना हुई, वह दर्दनाक है. हमारे नौजवान हेड कास्टेबल की मौत हुई है. मुझे लगता है पुलिस, प्रशासन और सरकार को एक गहन निष्पक्ष जांच करवानी चाहिए जिससे मामले का पूरा सच सामने आए.

बजरी माफिया के हमले में शहीद हुए थे कांस्टेबल

मालूम हो कि टोंक के पुलिस कांस्टेबल खुशीराम बैरवा को बीते दिनों बजरी माफियों ने ट्रैक्टर ने टक्कर मार दी थी. इस हादसे में कांस्टेबल की मौत हो गई. कांस्टेबल की मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने जमकर हंगामा और नारेबाजी की थी. कुछ लोगों सचिन पायलट के खिलाफ भी नारेबाजी की थी. लेकिन मंगलवार को पायलट जब शहीद के घर पहुंचे तो उनके परिजनों ने अपनी तकलीफ उन्हें बताई. 

बजरी माफिया पर सख्त कदम उठाए सरकारः पायलट

शहीद के परिजनों से मुलाकात के बाद पायलट ने कहा हम चाहेंगे कि सरकार इनके पूरे परिवार को जो मापदंडों के अनुसार पूरी मदद करे. इनके छोटे-छोटे 3 बच्चे हैं, उनका ध्यान दें. हम चाहेंगे कि इस पूरे मामले का खुलासा हो एक व्यक्ति को डिटेन किया है लेकिन सख्त से सख्त सजा मिले बजरी के मामले में सरकार को सख्त कदम उठाने चाहिए. अगर सरकार और प्रशासन सख्ती से नहीं निपटेगी तो माफियाओ में साहस बढ़ेगी. ऐसी घटनाओं से लोगों का मनोबल टूटता है. पायलट ने कहा कि हम सदन में भी अपनी बात रखेंगे.

शहीद के परिजनों की मांग को पूरा करें सरकार

सचिन पायलट ने सोशल मीडिया मंच एक्स पर शहीद के घर का एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा- आज टोंक के देवली भांची गांव में टोंक–सवाई माधोपुर सांसद हरीशचंद्र मीणा के साथ पहुंचकर शहीद हेड कांस्टेबल खुशीराम बैरवा को श्रद्धासुमन अर्पित किए. शोक-संतप्त परिजनों से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाया. खुशीराम जी ने अपने कर्त्तव्य का निर्वहन करते हुए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया. सरकार एवं प्रशासन से मांग हैं कि पीड़ित परिवार को जल्द से जल्द न्याय मिले और उनकी मांगों को सरकार पूरा करे.

टोंक में बालिका उच्च विद्यालय का लोकार्पण

इससे पहले सचिन पायलट ने टोंक में राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यायल कोहना टोंक के नए भवन का लोकार्पण किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि 4 करोड़ की लागत से बने इस भवन में कोई कमी नहीं है. बच्चों के लिए पढ़ने के लिए अच्छा वातावरण वह स्ट्रक्चर मिलेगा. आज दुनिया बदल रही है ऐसे समय में शिक्षा प्रणाली को भी बदलने की जरूरत है, उन्होंने कहा कि सभी तरह की शिक्षा बच्चों को मिले. उन्होंने कहा कि बच्ची की दो परिवार में महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है. 

जम्मू कश्मीर की आतंकी घटना पर पायलट बोले- यह चिंता का विषय

जम्मू कश्मीर में बढ़ती आतंकवादी घटनाओं पर पायलट ने कहा कि कठुआ में हमारे सैनिकों पर घात लगाकर किया गया यह हमला कायरता का परिचय हैं. हमारे नौजवानों पर घात लगाकर हमला किया गया. हमने जवाब भी दिया. लेकिन इस तरह की घटनाएं बढ़ रही है जो चिंता का विषय है. वही पायलट ने प्रदेश में होने वाले उपचुनावों को लेकर कहा कि हम बेहतर उम्मीदवार उतारेंगे ओर उपचुनाव जीतेंगे. 

बुधवार को पेश होने वाले राजस्थान के बजट पर सचिन पायलट ने कहा कि मुझे तो इस बजट से कम उम्मीदें है, क्योंकि सरकार अंतरिम बजट की घोषणाएं ही पूरी नहीं कर सकी. फिर भी सरकार को गरीब, किसान और युवाओं को ध्यान में रखकर बजट पेश करना चाहिए.

केंद्र सरकार पर भी पायलट ने बोला हमला

केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते पायलट ने कहा कि एक तरफ चीन हमारी सीमा में आकर अतिक्रमण कर रहा है, दूसरी तरफ जम्मू कश्मीर में सरकार दावा कर रही कि स्थिति सामान्य है, सुप्रीम कोर्ट के अनुसार वहां सितंबर से पहले विधानसभा चुनाव करवाना है. अभी हाल में वहां लोकसभा चुनाव हुए हैं. उसके बावजूद एक के बाद एक हमले हो रहे कभी श्रदालुओं पर, कभी सैनिकों पर और कभी नागरिकों पर एक के बाद एक हमले हो रहे जो बहुत चिंता का विषय है सरकार को सख़्त उठाना चाहिए.

यह भी पढ़ें - Rajasthan Politics: किरोड़ी लाल के इस्तीफे पर सचिन पायलट बोले- ...ये सरकार की विफलता

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Vegetables Price: राजस्थान में फलों से ज्यादा महंगी मिल रही हैं सब्जियां, 120 रुपए किलो में बिक रहा टमाटर
टोंक के शहीद कांस्टेबल खुशीराम बैरवा के घर पहुंचे सचिन पायलट, परिजनों से मुलाकात कर सरकार से की यह मांग
Who is Shiv Singh Shekhawat, who had a dispute with Mahipal Makrana in Jaipur, received death threats in June
Next Article
कौन हैं शिव सिंह शेखावत, जिनका जयपुर में महिपाल मकराना से हुआ विवाद, जून में मिली थी जान से मारने की धमकी
Close
;