विज्ञापन
Story ProgressBack

Rajasthan: गलत ग्रुप का खून चढ़ाने से हुई थी सचिन की मौत, सरकार ने 'सड़क हादसा' बताकर परिजनों को सौंपे 5 लाख

दौसा जिला कलेक्टर देवेंद्र कुमार ने मुख्यमंत्री राहत कोष से एसएमएस अस्पताल में गलत खून चढ़ाने की वजह से हुई मौत को सड़क हादसा बताकर 5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता जारी की है.

Read Time: 3 mins
Rajasthan: गलत ग्रुप का खून चढ़ाने से हुई थी सचिन की मौत, सरकार ने 'सड़क हादसा' बताकर परिजनों को सौंपे 5 लाख
सचिन शर्मा के परिजन.

Rajasthan News: गलत ब्लड ग्रुप का खून चढ़ाने से जयपुर के सबसे बड़े अस्पताल (SMS Hospital) में बीते दिनों बसवा के सचिन शर्मा (Sachin Sharma) की मौत हुई थी. इसके बाद जब सचिन के शव को एंबुलेंस से उसके गांव लाया गया तो परिवार के लोगों के पास एंबुलेंस को देने का पैसा तक नहीं था. उस वक्त गांव वालों ने मिलकर सचिन के परिवार की मदद की और एंबुलेंस का पैसा दिया. इसके बाद सभी ने अंतिम संस्कार का भी इंतजाम कराया.

सड़क हादसा बताकर दी सहायता

इस दौरान गांव वालों ने मिलकर वॉट्सऐप पर एक मुहिम भी चलाई और मृतक सचिन के परिवार के लिए छोटी-छोटी धनराशि इकट्ठी करनी शुरू की. इसके बाद भी सरकार नहीं चेती, जिसके चलते बीते कल सचिन के ताऊ और सचिन की बहन पानी की टंकी पर चढ़ गए और न्याय की मांग करते रहे. आनन-फानन में दौसा जिला कलेक्टर देवेंद्र कुमार यादव के डिजिटल हस्ताक्षर से मुख्यमंत्री सहायता कोष में से 5 लाख की आर्थिक सहायता राशि सचिन के परिवार को दी. लेकिन यह आर्थिक सहायता भी सरकार ने अपनी गलती ना मानते हुए सड़क हादसा बता कर जारी की.

Latest and Breaking News on NDTV

Photo Credit: NDTV Reporter

50 लाख रुपये और नौकरी की मांग

जैसे ही 'सड़क हादसे में सचिन की मौत' वाला लेटर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो विपक्ष हमलावर हो गया. सबसे पहले बांदीकुई नगर पालिका के वाइस चेयरमैन राजेश शर्मा ने राजस्थान की भजनलाल सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, 'सरकार अपनी नाकामी को छुपाने के लिए अब सचिन शर्मा की मौत को सड़क हादसे का रंग दे रही है, जो गलत है.' वहीं सचिन शर्मा की मौत को लेकर कांग्रेस पहले से ही हमलावर है. राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasra) ने एक्स पर अपनी एक पोस्ट के जरिए भजनलाल सरकार को घेरते हुए सचिन शर्मा के परिवार को 50 लाख रुपए तथा एक आदमी को सरकारी नौकरी देने की मांग तक कर डाली है.

9 दिन बाद मिले सिर्फ 5 लाख रुपये

वहीं राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने एक्स पर लिखा, 'एसएमएस अस्पताल में गलत ब्लड ग्रुप का खून चढ़ाने के कारण जान गंवाने वाले सचिन शर्मा के परिजनों से मुलाकात की. इस मामले में राज्य सरकार ने बेहद असंवेदनशील रवैया अपनाया है. आर्थिक रूप से बेहद कमजोर परिवार की आजीविका कमाने वाले सचिन शर्मा की मृत्यु के 9 दिन बाद परिजनों को केवल 5 लाख रुपये की मामूली सहायता देना नाकाफी है. इस सहायता के लिए भी परिजनों को प्रदर्शन करने पर मजबूर होना पड़ा. मेरी सरकार से मांग है कि सरकारी लापरवाही के इस मामले को विशेष प्रकृति का मानकर परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता एवं एक परिजन को रोजगार दिया जाए.'

ये भी पढ़ें:- राजस्थान में पेपर लीक वाले SI, टॉपर समेत 15 हिरासत में, क्या रद्द हो जाएगी भर्ती परीक्षा?

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan Politics: हरीश चौधरी की कविता से क्यों हुआ विवाद? विरोध करने सत्ता पक्ष के साथ खड़े हो गए रविंद्र सिंह भाटी
Rajasthan: गलत ग्रुप का खून चढ़ाने से हुई थी सचिन की मौत, सरकार ने 'सड़क हादसा' बताकर परिजनों को सौंपे 5 लाख
Dummy candidates caught in 10th-12th open examination, were giving exam in place of Sarpanches in Barmer Rajasthan
Next Article
अब 10वीं-12वीं की ओपन परीक्षा में भी पकड़े गए डमी कैंडिडेट, सरपंचों के बदले दे रहे थे परीक्षा
Close
;