विज्ञापन
Story ProgressBack

दो गांव पर 2 करोड़ बिजली बिल बकाया, ट्रांसफार्मर हटाने पहुंची टीम तो लोगों ने किया पथराव, पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे

Dholpur Crime: धौलपुर के मनिया थाना क्षेत्र के सिंगरौली गांव में ट्रांसफार्मर को जब्त करने गई पुलिस एवं डिस्कॉम की टीम पर ग्रामीणों ने लामबंद होकर पर पथराव और हमला कर दिया. पुलिस द्वारा भी ग्रामीणों पर आंसू गैस के गले दागे. हालांकि हताहत कोई नहीं हुआ है.

Read Time: 4 mins
दो गांव पर 2 करोड़ बिजली बिल बकाया, ट्रांसफार्मर हटाने पहुंची टीम तो लोगों ने किया पथराव, पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे
धौलपुर में ट्रांसफॉर्मर जब्त करने पहुंची टीम पर पथराव.

Dholpur Crime: राजस्थान में बीते कुछ दिनों से भीषण गर्मी पड़ रही है. आग उगलती गर्मी से लोग हलकान है. इस बीच कई इलाकों में जल संकट और बिजली कटौती की समस्या भी गहरी हो गई है. लेकिन भीषण गर्मी के बीच एक हैरान करने वाली खबर धौलपुर जिले से सामने आई है. जहां के दो गांवों पर बिजली विभाग का दो करोड़ रुपए बकाया होने पर बुधवार को उस समय बड़ा हंगामा हो गया जब विभागीय टीम ट्रांसफार्मर जब्त करने पहुंची. मिली जानकारी के अनुसार ट्रांसफार्मर जब्त करने गई विद्युत निगम और पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया. ग्रामीणों ने टीम पर पथराव भी किया. इस कारण धौलपुर के बड़ागांव और सिंगरौली में भारी तादाद में पुलिस जवान तैनात किए गए. दोनों गांव छावनी में तब्दील हो गए. ग्रामीणों के पथराव के बाद पुलिस की ओर से भी आंसू गैस के गोले दागे गए. 

दरअसल यह पूरी कहानी धौलपुर के मनिया थाना क्षेत्र के सिंगरौली गांव की है. जहां ट्रांसफार्मर को जब्त करने गई पुलिस एवं डिस्कॉम की टीम पर ग्रामीणों ने लामबंद होकर पर पथराव और हमला कर दिया. पुलिस द्वारा भी ग्रामीणों पर आंसू गैस के गले दागे. हालांकि हताहत कोई नहीं हुआ है. विद्युत निगम ने पुलिस के सहयोग से एक दर्जन से अधिक ट्रांसफार्मर को जब्त किया है. विद्युत निगम की 2 करोड़ से अधिक की राशि ग्रामीणों पर बकाया चली आ रही थी.

4 साल से बकाया वसूली के प्रयास हो रहे फेल

विद्युत निगम के एईएन अनुराग मित्तल ने बताया मनिया क्षेत्र के बड़ागांव एवं सिंगरौली में ग्रामिणो पर विद्युत निगम की दो करोड़ से अधिक की राशि बकाया चली आ रही थी. विगत 4 साल से विद्युत निगम के अधिकारी राशि को वसूलने का प्रयास कर रहे थे. लेकिन ग्रामीणों द्वारा निगम की राशि को जमा नहीं कराया जा रहा था. विद्युत निगम द्वारा ग्रामीणों को नोटिस जारी कर हिदायत भी दी गई थी. लेकिन ग्रामीणों ने राशि को जमा नहीं कराया. डिफाल्टर उपभोक्ताओं में घरेलू एवं खेती के भी शामिल है. 

बुधवार को सैपऊ सीओ आनंद कुमार राव एवं मनिया सीओ राजेश कुमार के नेतृत्व में डिस्कॉम के आला अधिकारियों को साथ लेकर कार्रवाई को अंजाम दिया है. कार्रवाई के दौरान डिस्कॉम एवं पुलिस ने एक दर्जन से अधिक बिजली के ट्रांसफार्मर को जब्त किया है.

पुलिस और डिस्कॉम के अधिकारियों पर पथराव

बड़गांव में ट्रांसफार्मरों को जप्त कर पुलिस और डिस्कॉम की टीम दूसरे गांव सिंगरौली पहुंच गई. सिंगरौली गांव के ग्रामीणों ने ट्रांसफार्मर उतारने का विरोध किया. इसी दौरान पुलिस और ग्रामीणों में विरोध पैदा हो गया और ग्रामीणों ने लामबंद होकर पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया. करीब आधा घंटा तक ग्रामीण और पुलिस आमने-सामने हो गए. पुलिस द्वारा भी ग्रामीणों पर आंसू गैस के गोले छोड़े गए. भारी पुलिस बल होने की वजह से ग्रामीण भाग गए. मौके से कुछ ग्रामीणों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया है.

राजनेताओं का मिलता रहा संरक्षण

बड़ागांव एवं सिंगरौली के ग्रामीणों पर करीब 4 साल से विद्युत निगम की दो करोड़ से अधिक की भारी भरकम राशि बकाया चली जा रही है. विद्युत निगम द्वारा राशि जमा कराने के पूर्व में भी प्रयास किए गए थे. लेकिन राजनीति एवं राजनेताओं के दखल की वजह से डिफाल्टर उपभोक्ता बिल जमा नहीं करा रहे थे. राजनीतिक प्रेशर की वजह से हर बार डिस्कॉम के अधिकारियों को निराशा हाथ लगती थी.

यह भी पढ़ें - 

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
1 जुलाई से लागू होने जा रहा है तीन नए कानून, सुधांश पंत ने विभागों को दिये यह निर्देश
दो गांव पर 2 करोड़ बिजली बिल बकाया, ट्रांसफार्मर हटाने पहुंची टीम तो लोगों ने किया पथराव, पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे
how much rich is banswara mp rajkumar roat who won on bharat adivasi party ticket
Next Article
Rajasthan Politics: बांसवाड़ा के लोकसभा सांसद राजकुमार रोत कितने अमीर हैं
Close
;