विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान में बदला मौसम का मिजाज, ओले पड़ने से किसानों की बढ़ने लगी चिंता

मार्च में दो ऋतुओं का मेल नजर आ रहा है. माह की शुरुआत जहां पश्चिमी विक्षोभ के साथ बादल छाने और गुरुवार रात आंधी के चलने से हुई. शुक्रवार देर रात्रि से जिलेभर में आंधी तूफान और तेज गड़गड़ाहट के साथ बारिश का दौर शुरू हुआ, जो लगातार जारी है.  

Read Time: 4 min
राजस्थान में बदला मौसम का मिजाज, ओले पड़ने से किसानों की बढ़ने लगी चिंता
फाइल फोटो

Rajasthan Weather Update: राजस्थान में अचानक मौसम का मिजाज बदल गया है. कई ईलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई है. वहीं कुछ इलाकों में ओले भी पड़े हैं. इससे किसान काफी चिंतित नजर आ रहे हैं. किसानों के सालभर की मेहनत पर इस बारिश ने पानी फेर दिया है. दो दिन से हो रही बेमौसम की बारिश और आसमान में छाए बादलों ने जहां किसानों की चिंता बढ़ा दी है. वही शादी विवाह वाले परिवारों में भी व्यवस्थाएं डगमगा गई हैं और बारिश के मौसम को देखते हुए अब शादी विवाह वाले परिवारों को भी अतिरिक्त व्यवस्थाएं करनी पड़ रही हैं. 

पूर्वी राजस्थान में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय

भरतपुर और डीग क्षेत्र के साथ पूर्वी राजस्थान में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के बाद शुक्रवार दोपहर बाद से शुरू हुआ रिमझिम बारिश का दौर शनिवार को भी रुक-रुक कर जारी रहा. बयाना में शनिवार को सुबह भी रुक-रुक कर बारिश होती रही और दोपहर को फिर से घने बादल छाए रहें. 

मौसम विभाग ने तो ओले पडने की आशंका भी व्यक्त की है. इस आशंका से किसान काफी चिंतित और परेशान हो उठे हैं. किसानों का कहना है कि अगर ओलावृष्टि हुई तो गेहूं जौ चना मटर और सरसों आदि की सभी फसलें बर्बाद हो जाएगी. 

बयाना में बीते 24 घंटे में 5 एमएम बारिश दर्ज की गई है. इधर 2 दिन से चल रही तेज हवाओं और ओलावृष्टि की चेतावनी से और बारिश और भी होने की चेतावनी से किसानों की धड़कनें बढ़ गई हैं. 

किसान यूनियन ने की मुआवजे की मांग

इधर भारतीय किसान यूनियन अंबावता के राष्ट्रीय महासचिव सुरेंद्र कंसाना ने सरकार से किसानों को फसलों का मुआवजा और आर्थिक सहायता उपलब्ध कराए जाने की मांग की है. कंसाना ने बताया कि इस बार मौसम के बार-बार बदलते मिजाजों के चलते सरसों उत्पादक किसानों का काफी नुकसान हुआ है. इस बार उनकी पैदावार आम तौर पर होने वाली सरसों की पैदावार के मुकाबले आधी भी नहीं हो सकेगी. जिससे किसानों को भारी आर्थिक नुकसान होगा और उनके अरमानों पर पानी तो फिर चुका है.

लूणकरणसर में बारिश के साथ गिरे ओले

लूणकरणसर में फिर से मौसम की मार पड़ी है. मौसम के अचानक पलट जाने से कई इलाकों में ओले गिरे और बारिश हुई. तहसील के अमरपुरा, राजपुरा ढाणी और पांडूसर सहित कई क्षेत्रों में हुई बारिश के कारण गेहूं और  सरसों की फसलों को नुकसान पहुंचा है. इन दोनों फसलों को बोने में हुई मेहनत के खराब ही जाने से किसान मायूस हैं. लूणकरणसर तहसील में मौसम रात से ही खराब चल रहा था और आज दिन में बादलों के साये में पूरा इलाका रहा. दोपहर होते-होते बारिश होने लगी और थोड़ी देर में ओले भी गिरने लगे.

मौसम विभाग ने जारी किए अलर्ट, फसल बर्बाद

मौसम विभाग ने जिले में शनिवार को येलो अलर्ट जारी किया था. मौसम ऐसा कि दिन में ही रात्रि जैसा अंधेरा छा गया है. बारिश से गेहूं, जीरा, इसबगोल, बड़ी सौंफ, सरसो व मेथी की फसलों को नुकसान हो रहा है. क्योंकि ये फसलें पकने के कगार पर है. किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें है. स्थिति यह हो गयी है कि खेतो में कटी फसलों को देख किसान चिन्तित हो रहा है. खेतों में फसलों के कटने का दौर भी शुरू हुआ लेकिन बेमौसम बारिश से अब फसलों से अन्न नहीं निकल रहा.

ये भी पढ़ें- BJP Lok Sabha Candidate List: लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने 195 प्रत्याशियों की पहली लिस्ट की जारी, PM मोदी वाराणसी से लड़ेंगे चुनाव

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close