विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jan 09, 2024

जानिए कौन हैं Dr इंद्रजीत यादव, जिन्हें बनाया गया बांसवाड़ा का नया कलेक्टर

बांसवाड़ा के नए कलेक्टर के रूप में कार्यभार संभालने वाले डा. इंद्रजीत यादव ने देश के प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेज से MBBS और PG की पढ़ाई की. डा. यादव शायद प्रदेश के एक मात्र प्रशासनिक अधिकारी होंगे, जिनको बांसवाड़ा संभाग के तीनों जिलों में काम करने का मौका मिला है.

Read Time: 3 mins
जानिए कौन हैं Dr इंद्रजीत यादव, जिन्हें बनाया गया बांसवाड़ा का नया कलेक्टर
प्रतापगढ़ के जिला कलेक्टर डा. इंद्रजीत यादव फाइल फोटो

Rajasthan News: राजस्थान में राज बदलने के साथ ही प्रशासनिक अधिकारियों को बदल दिया गया. जिसके तहत प्रतापगढ़ के जिला कलेक्टर डा. इंद्रजीत यादव को बांसवाड़ा जिले के नए जिला कलेक्टर के रूप में कार्यभार सौंपा गया है. कार्यभार ग्रहण के बाद उन्होंने जनजाति जिले में अंतिम छोर पर रहने वाले लोगों के विकास के लिए काम करना शुरू कर दिया है. आइए हम जानते हैं कि कौन हैं नए जिला कलेक्टर और क्या है जिले के लिए उनकी विकास की योजनाएं.

MBBS की पढ़ाई पूरी कर बनें अफसर

जिला कलेक्टर डा. इंद्रजीत यादव ने बताया कि वह मूल रूप से हरियाणा नारनौल जिले के कादीपूरी गांव के रहने वाले हैं और उन्होंने अपनी 12 वीं तक की शिक्षा हरियाणा बोर्ड से पूरी की. इसके बाद उन्होंने मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज नई दिल्ली से MBBS किया. उन्होंने जनरल सर्जरी में MS लेडी हार्डिया मेडिकल कॉलेज से पूरा किया.

डा. इंद्रजीत यादव मन में आमजन की सेवा की ललक थी इसलिए डाक्टर बनने के बाद प्रशासनिक सेवा में जाने के लिए भी अपनी तैयारी जारी रखी और 2015 में अपना यह सपना भी उन्होंने पूरा कर लिया. उन्हें राजस्थान में प्रतिनियुक्त किया गया.

उपखंड अधिकारी से शुरू हुआ सफर

प्रशासनिक सेवा में चयन होने के बाद और विभागीय प्रशिक्षण के उपरांत डा. इंद्रजीत यादव को पहली पोस्टिंग उपखंड अधिकारी के तौर पर नागौर जिले के खींवसर में नियुक्त किया गया. इसके बाद उन्होंने जोधपुर में जिला परिषद में मुख्य कार्यकारी अधिकारी के तौर पर भी काम किया. वहीं, उन्होंने जोधपुर नगर निगम में आयुक्त के रूप में काम किया. 

तीनों जिलों में काम करने वाले पहले अफसर

डा. इंद्रजीत यादव शायद प्रदेश के एक मात्र प्रशासनिक अधिकारी होंगे, जिनको बांसवाड़ा संभाग के तीनों जिलों में जिला कलेक्टर के रूप में काम करने का मौका मिला है. जुलाई 2022 में डूंगरपुर उन्होंने जिले की कमान संभाली थी, इसके बाद अक्टूबर 2022 में ही प्रतापगढ़ जिला कलेक्टर का कार्यभार सौंपा गया. यहां करीब 14 महीने काम करने के बाद अब बांसवाड़ा जिला कलेक्टर के तौर पर नियुक्त किया गया है.

अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को मिले लाभ

जिला कलेक्टर डा. इंद्रजीत यादव ने बताया कि तीनों ही जिलों की भौगोलिक और सामाजिक स्थिति एक जैसी ही है. इसलिए वो यहां की समस्याओं से वह वाकिफ हैं. उन्होंने बताया कि उनका एक ही ध्येय है कि किस तरह से समाज के अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को सरकार की योजनाओं का लाभ मिले वह इसके लिए पूरी गंभीरता से काम करेंगे.

ये भी पढ़ें- IAS-RAS Transfer: जानिए कौन हैं IAS आलोक रंजन जिन्हें बनाया गया चित्तौड़गढ़ का नया कलेक्टर

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कौन हैं रिया डाबी? जिन्हें भजनलाल सरकार ने दी है उदयपुर की कमान
जानिए कौन हैं Dr इंद्रजीत यादव, जिन्हें बनाया गया बांसवाड़ा का नया कलेक्टर
As soon as he took charge, Baran District Collector went on a tour of the city, took a sip of tea from a tea stall
Next Article
कार्यभार संभालते ही शहर के दौर पर निकले बारां जिला कलेक्टर, चाय की थड़ी पर ली चाय की चुस्की
Close
;