विज्ञापन
Story ProgressBack

उत्तराखंड टनल हादसा: 12 दिन से फंसे मजदूरों के आज निकालने की उम्मीद

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में निर्माणाधीन सिलक्यारा टनल का एक हिस्सा 12 दिन पहले धंस गया था. इस हादसे में 41 मजदूर टनल के अंदर फंस गए. इन्हे बचाने के लिए सरकार की 19 एजेंसियों द्वारा बचाव अभियान चलाया जा रहा है, आज इन मजदूरों को निकालने की उम्मीद है. 

Read Time: 3 min
उत्तराखंड टनल हादसा: 12 दिन से फंसे मजदूरों के आज निकालने की उम्मीद
फाइल फोटो

Uttarakhand Tunnel Accident: 12 नवंबर को उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में निर्माणाधीन सिलक्यारा टनल के एंट्री पॉइंट से 200 मीटर अंदर 60 मीटर तक मिट्टी धंसी, जिससे टनल का एक हिस्सा धंस गया. इस हादसे में 41 मजदूर टनल के अंदर फंस गए. सभी मजदूर बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के हैं. चारधाम रोड प्रोजेक्ट के तहत ये टनल बनाई जा रही है. 

टनल के अंदर फंसे मजदूरों तक पहुंचने के लिए बचाव अभियान शुरू किया गया. इस अभियान में केंद्र और राज्य सरकार की 19 एजेंसियां शामिल हैं.

बचाव अभियान में आ रही कई कठिनाई

शुरुआती दौर में बचाव अभियान में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. मलबे में सरिया आने से ड्रिलिंग का काम बाधित हो रहा था. इसके अलावा, टनल के अंदर ऑक्सीजन की कमी भी एक बड़ी समस्या थी. हालांकि, बचाव दल के अथक प्रयासों के परिणामस्वरूप, मजदूरों तक पहुंचने के लिए सुरंग के अंदर 45 मीटर का रास्ता साफ किया गया. 23 नवंबर को, मजदूरों तक पहुंचने के लिए बाकी 18 मीटर की खुदाई शुरू की गई.

मशीन में आई खराबी

24 नवंबर को, ड्रिलिंग के दौरान अमेरिकन ऑगर मशीन में खराबी आ गई. इससे ड्रिलिंग का काम रोकना पड़ा. मशीन को रिपेयर किया जा रहा है. अभी 16.2 मीटर ड्रिलिंग बाकी है. अधिकारियों के मुताबिक, 41 मजदूरों को आज दोपहर तक निकाल लिए जाने की उम्मीद है.

सिलक्यारा टनल हादसे के कारण

सिलक्यारा टनल हादसे के कारणों की अभी भी जांच की जा रही है. विशेषज्ञों के अनुमान के मुताबिक यह पता चला है कि हादसा मलबे की खराब गुणवत्ता के कारण हुआ हो सकता है. इसके अलावा, मौसम की स्थिति भी हादसे का कारण हो सकती है.

सिलक्यारा टनल हादसा एक गंभीर घटना

सिलक्यारा टनल हादसा एक गंभीर घटना है. इस घटना से देश भर में सुरंग निर्माण की सुरक्षा पर सवाल उठे हैं. इस घटना के बाद, केंद्र सरकार ने सुरंग निर्माण के मानकों की समीक्षा करने का फैसला किया है.

ये भी पढ़े- जोधपुरः अपने मोहल्ले में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए भावुक हुए CM गहलोत, बोले,- 'आखिरी दम तक...'

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close