विज्ञापन
Story ProgressBack

Akshaya Tritiya: 200 बोरी आटा, 25 बोरी शक्कर, 20 बोरी बेसन, 400 पीपे घी-तेल से बन रहा 50 हजार लोगों का खाना

Akshaya Tritiya: अक्षय तृतीया का पर्व 10 मई दिन शुक्रवार को मनाया जाएगा. अक्षय तृतीया के दिन कई मंगल कार्य संपन्न होते है. यह दिन नारायण-लक्ष्मी की आराधना और नई चीजों की खरीदारी के लिए भी उत्तम माना जाता है. इस मौके पर राजस्थान में एक बड़े भोज का आयोजन भी हो रहा है.

Read Time: 4 mins
Akshaya Tritiya: 200 बोरी आटा, 25 बोरी शक्कर, 20 बोरी बेसन,  400 पीपे घी-तेल से बन रहा 50 हजार लोगों का खाना
Akshaya Tritiya 2024: राजस्थान में अक्षय तृतीया पर बड़ा आयोजन.

Big Bhoj on Akshaya Tritiya: 200 बोरी आटा, 25 बोरी शक्क, 20 बोरी बेसन और 400 पीपे घी-तेल से 50 हजार लोगों का खाना तैयार हो रहा है. इस बड़े भोज को बनाने में करीब 70 महिला-पुरुष कारीगर जुटे हैं. भोज के लिए लड्डू तैयार हो चुका है. बड़े से मैदान में टेंट लगाकर पूरे आयोजन की तैयारी की जा रही है. इस बड़े भोज की रसोई 5 दिन पहले से पकवान तैयार कर रही है. 10 मई को अक्षय तृतीया के दिन 80 जोड़ों के सामूहिक विवाह समारोह में करीब 50 हजार लोगों को खाना खिलाने की व्यवस्था की गई है. यह तैयारी राजस्थान के टोंक जिले में की गई है. जहां शुक्रवार को अक्षय तृतीया के दिन माली समाज का सामूहिक विवाह सम्मेलन होना है. 

उल्लेखनीय हो कि राजस्थान अपने विभिन्न रंगों और वेशभूषा के साथ परंपराओं और आयोजन के लिए पहचाना जाता है. इसी कड़ी में सामूहिक विवाह सम्मेलन गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए वरदान जैसा है. जिनके बच्चे बेटियां ऐसे आयोजनों में विवाह के बंधन में बनते हैं, इससे न सिर्फ आयोजनों पर होने वाला खर्च बचता है बल्कि किसी भी समाज की एकजुटता और ताकत का अहसास भी ऐसे सम्मेलनों में देखा जा सकता है. 

टोंक के सोलनपुरा में हो रहा माली समाज का बड़ा आयोजन

राजस्थान के टोंक जिला मुख्यालय पर सोलनपुरा में आयोजित होने वाले माली समाज के सामूहिक विवाह सम्मेलन में समाज के 79 जोड़े विवाह के बंधन में अक्षर तृतीया के अवसर पर बधेंगे. इसके लिए टोंक में इन दोनों 50000 लोगों के लिए बनने वाले भोजन की तैयारी जोरों पर है.

एक बड़े से मैदान में इस भोज की तैयारी की जा रही है.

एक बड़े से मैदान में इस भोज की तैयारी की जा रही है.

माली समाज के सामूहिक विवाह सम्मेलन के अध्यक्ष सहित भोजन व्यवस्था को देख रहे हैं. सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि सामूहिक विवाह सम्मेलन में हमें 50 हजार लोगों के आने की उम्मीद है. इसके लिए हमने कच्ची सामग्री में 200 क्विंटल आटा, 400 पीपे तेल और घी के, 25 बोरी शक्कर के साथ ही 25 क्विंटल बेसन सहित अन्य सामग्रियां स्टॉक में रखी हुई है.

आखा तीज के अवसर पर टोंक में आयोजित होने वाले माली समाज के सामूहिक विवाह सम्मेलन की तैयारियों का जायजा लिया एनडीटीवी राजस्थान के रिपोर्टर में. जिसमें उक्त जानकारी सामने आई. देखें  सामूहिक भोज के इस आयोजन से जुड़ी कुछ खास तस्वीरें. 

टेन और घी के पीपे और बोरियों में भरा राशन का सामान.

टेन और घी के पीपे और बोरियों में भरा राशन का सामान.

भीषण गर्मी में भी पूरे उत्साह से हो रहा आयोजन

लड्डू ,नमकीन पूरी दाल की रसोई को बनाने के लिए अलग-अलग भट्टियों पर महिला और पुरुष कारीगर अपने काम में लगे हैं. लगभग 60 से 70 कारीगर जिनमें महिला पुरुष दोनों शामिल है इस रसोई को बनाने में जुटे हुए हैं. भीषण गर्मी में इतने लोगों के लिए भोजन बनाना और ऊपर से आसमान से बरसती आग के साथ ही भट्टियों के पास रहकर रसोई का इंतजाम करना किसी चुनौती से कम नहीं है. हालांकि आयोजन में जुटे लोग गर्मी के बावजूद पूरे उत्साह से लगे हैं. 

मेहमानों के लिए खाना बनाने में जुटे कारीगर.

मेहमानों के लिए खाना बनाने में जुटे कारीगर.

युवा-बुर्जुग सभी ने तय की अपनी-अपनी जिम्मेदारी

माली समाज के युवाओं बुजुर्गों ने अपनी-अपनी जिम्मेदारियां तय कर ली है. वह चाहते हैं कि ट्रैफिक व्यवस्था से लेकर भोजन व्यवस्था और सामूहिक विवाह सम्मेलन की सभी व्यवस्थाएं नियमों के तहत संचालित हो और यहां आने वाले किसी भी व्यक्ति को किसी तरह की दिक्कत ना हो.

यह भी पढ़ें - सरवर चिश्ती ने जैन संतों का अपमान किया... अढाई दिन के झोपड़े पर अब स्पीकर देवनानी ने की यह मांग
 

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan Politics: इस्तीफे के सवालों में घिरे किरोड़ी लाल मीणा, अपने ही बयानों में फंसे
Akshaya Tritiya: 200 बोरी आटा, 25 बोरी शक्कर, 20 बोरी बेसन,  400 पीपे घी-तेल से बन रहा 50 हजार लोगों का खाना
Gajendra Singh Shekhawat got Two ministry it is Minister of Culture and Minister of Tourism
Next Article
गजेंद्र सिंह शेखावत का जल शक्ति मंत्रालय सीआर पाटिल को, जानें कौन से दो नए मंत्रालय को संभालेंगे
Close
;