विज्ञापन
Story ProgressBack

अलवर में बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत से मचा हड़ंकप, हीटवेव की आशंका

Bats Death in Alwar: अलवर जिले के पर्यटक स्थल सिलीसेढ़ झील परिसर में इन दिनों बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत का मामला देखने को मिला है

Read Time: 2 mins
अलवर में बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत से मचा हड़ंकप, हीटवेव की आशंका

Bats Death in Alwar: अलवर जिले के पर्यटक स्थल सिलीसेढ़ झील परिसर में इन दिनों बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत का मामला देखने को मिला है. जिले में बड़ी तादाद में अज्ञात कारणों से चमगादड़ों की मौत हो रही है. सिलीसेढ़ टिकट विंडो  और उसके आसपास  के  झील की पाल के एरिया में बने पार्क में बड़ी संख्या में चमगादड़ मृत अवस्था में पाए गए है. चमगादड़ों की भारी संख्या में मौत का मामला सामने आने से आसपास चर्चा का विषय बन गया है. साथ ही प्रशासन में हड़कंप मच गया है. इसके बाद इनकी मौत को लेकर जांच की मांग की जा रही है कि आखिर किन कारणों के चलते इतनी सारी संख्या में चमगादड़ों की मौत आखिर कैसे हुई.

भीषण गर्मी बन सकती है वजह

सिलीसेढ़  घूमने आए पदम चंद गुर्जर ने बताया कि इन दिनों तेज भीषण गर्मी पड़ रही है. जिसके कारण भी हो सकता है कि चमगादड़ों की मौत हो रही हो. बता दें कि अलवर जिले के सिलीसेढ़ क्षेत्र में ही चमगादड़ बड़ी संख्या में पाए जाते है, लेकिन यहां अब इनकी बड़ी तादाद में हो रही मौतें परेशान कर रही है. 

क्या चमगादड़ तेज गर्मी सहन कर सकते हैं

चमगादड़ों के पंख नहीं झिल्ली होती है. वह 40 डिग्री सेल्सियस तक की गर्मी को सहन कर सकते है. उसके बाद तक के तापमान को सहना उनके लिए काफी मुश्किल होता है. इसलिए गर्मी के दिनों में चमगादड़ सूर्यास्त के बाद ही निकलते थे. उन्हें जिंदा रहने के लिए उपयुक्त तापमान की जरूरत होती है. लेकिन अलवर की सिलीसेढ़ झील के पास भारी संख्या में चमागदड़ों का मरना जांच का विषय बन गया है. 

यह भी पढ़ें: भीलवाड़ा लोकसभा सीट पर 2019 में रिकॉर्ड 6 लाख वोटों से जीती थी भाजपा, क्या इस बार लगा पाएगी जीत की हैट्रिक ? 

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
RSS प्रचारक ने ‘बड़ा परिवार सुखी परिवार’ कर दिया नारा, बोले-2047 तक देश की जनसंख्या युवा होनी चाहिए
अलवर में बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत से मचा हड़ंकप, हीटवेव की आशंका
Barmer's Maili Dam lying barren for 16 years, water stagnation due to illegal mining and encroachment
Next Article
Rajasthan: 16 साल से बंजर पड़ा बाड़मेर का मेली बांध, अवैध खनन और अतिक्रमण से नहीं हो रहा जल का ठहराव
Close
;