विज्ञापन
Story ProgressBack

Counting Day: 3 दिसंबर को होगी वोटों की गिनती, 36 केंद्रों पर खुलेगा 199 उम्मीदवारों का भाग्य

राजस्थान विधानसभा चुनाव के परिणाम 3 दिसंबर को आएंगे. चुनाव आयोग ने मतगणना के तैयारियां भी पूरी कर ली हैं. सुबह 8 बजे से सभी 36 केंद्रों पर पोस्टल बैलेट और 8.30 बजे से ईवीएम के माध्यम से मतगणना आरंभ हो जाएगी.

Read Time: 3 min
Counting Day: 3 दिसंबर को होगी वोटों की गिनती, 36 केंद्रों पर खुलेगा 199 उम्मीदवारों का भाग्य
प्रतीकात्मक तस्वीर

Rajasthan Vote Counting2023: राजस्थान विधानसभा चुनाव के बाद ईवीएम में बंद 199 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला आगामी 3 दिसंबर का होगा जब ईवीएम में बंद जनता के वोटों की गिनती शुरू होगी. मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया मतगणना दलों के लिए सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों, उप जिला निर्वाचन अधिकारियों, रिटर्निंग अधिकारियों, अतिरिक्त रिटर्निंग अधिकारियों व आईटी स्टाफ को बुधवार को ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा.

3 दिसंबर को सुबह 8 बजे से सभी केंद्रों पर पोस्टल बैलेट और 8.30 बजे से ईवीएम के माध्यम से मतगणना आरंभ हो जाएगी. उन्होंने बताया कि जयपुर, जोधपुर व नागौर में दो-दो केंद्रों पर और शेष 30 निर्वाचन जिलों में एक-एक केंद्र पर वोटों की गिनती की जाएगी. इस तरह 199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 36 केंद्रों पर मतगणना की जाएगी.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि बुधवार दोपहर 12 से 1 बजे तक ईटीपीबीएमस मतगणना, दोपहर 1 से 2.30 बजे तक पोस्टल बैलेट काउंटिंग एवं 3 बजे से शाम 5 बजे तक ईवीएम मतगणना को लेकर प्रशिक्षण दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि जयपुर के खेतान पोलिटेक्निक कॉलेज में अंतर्जिला पोस्टल बैलेट केन्द्र का निरीक्षण किया गया. इस दौरान उन्होंने डाक मतपत्रों की गणना के लिए की जा रही तैयारियों को देखा साथ ही आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए. 

सुरक्षा के पुख्ता इंतेजाम

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतगणना स्थल और उसके आस-पास के क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. मतगणना स्थल पर प्रवेश के लिए त्रि-स्तरीय सुरक्षा की व्यवस्था की गई है, ताकि मतगणना स्थल पर किसी तरह का कोई व्यवधान न होने पाए. उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि आयोग के निर्देशों की पालना करते हुए परिणाम बिना किसी त्रुटि एवं देरी के समय रहते घोषित किए जाएं. 

‘मैंडेटरी वैरीफिकेशन‘पद्धति होगी लागू

मतगणना में पूर्ण निष्पक्षता बनी रहे इसके लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा अपनाई जा चुकी 'मैंडेटरी वैरीफिकेशन' पद्धति को भी लागू किया जाएगा. इसमें संपूर्ण मतगणना के बाद प्रत्येक विधानसभा के मतदान केंद्रों से लॉटरी से 5-5 वीवीपैट का चयन कर उसकी पर्चियों की गणना कर ईवीएम से प्राप्त मतों से मिलान किया जाएगा.

EPBPMS मतपत्र को लेकर दिए आवश्यक निर्देश

रिटर्निंग ऑफिसर-पर्यवेक्षकों की निगरानी और उम्मीदवार या उनके एजेंटों के समक्ष वीवीपैट मशीन से निकली पर्चियों की मतगणना और मिलान होगा.बता दें, सेवा नियोजित मतदाताओं के लिए इलेक्ट्रोनिक पोस्टल बैलेट पेपर मैनेजमेंट सिस्टम (ईपीबीपीएमएस) से जारी किए गए मतपत्र 3 दिसंबर 2023 को सुबह 8 बजे से पहले मतगणना केंद्रों तक आवश्यक रूप से पहुंच जाने चाहिए.

ये भी पढें- राहुल गांधी को 'राष्ट्रीय शर्म' बताने का मुद्दा गरमाया, कांग्रेस नेताओं ने चुनाव आयोग से की शिवराज की शिकायत

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close