विज्ञापन
Story ProgressBack

Heat Wave Effect: जोधपुर के MDM अस्पताल में बढ़े आखों के मरीज, हीट वेव कनेक्शन को लेकर विशेषज्ञ ने बताई बड़ी बात

राजस्थान में भीषण गर्मी और हीट वेव के बीच बढ़ रही है आंखों की बीमारी. अस्पताल में आंखों के मरीजों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है.

Read Time: 3 mins
Heat Wave Effect: जोधपुर के MDM अस्पताल में बढ़े आखों के मरीज, हीट वेव कनेक्शन को लेकर विशेषज्ञ ने बताई बड़ी बात

Rajasthan Heat Wave: राजस्थान में भीषण गर्मी का दौर जारी है. 28 मई को चूरू जिले में तापमान के सारे रिकॉर्ड तोड़ते हुए 50.5 डिग्री पारा दर्ज किया गया है. वहीं जोधपुर में तापमान 48 डिग्री तक चला गया है. वहीं हीट वेव की वजह से जिले में आखों की बीमारी भी बढ़ रही है. जोधपुर के सबसे बड़े अस्पताल मथुरादास माथुर अस्पताल (MDM Hospital) के नेत्र रोग विभाग में आखों की मरीज की बढ़ती संख्या इस बात का सबूत दे रही है. यहां सामान्य दिनों की तुलना में ओपीडी में 30 प्रतिश से अधिक मरीजों की बढ़ोतरी हुई है. इसमें से अधिकांश मरीज आंखों की एलर्जी, जलन और आखों में सूखापन जैसे शिकायतों के साथ आ रहे हैं.  

आपको बता दें कि एमडीएम अस्पताल जोधपुर संभाग का सबसे बड़ा अस्पताल है. यहां जोधपुर के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रो के साथ ही अन्य जिलों के गंभीर मरीज भी इसी अस्पताल में उपचार लेने के लिए आते हैं. इस भीषण गर्मी में लगातार आंखों की समस्याओं के बढ़ते मामले भी चिंताजनक है. अस्पताल में लगातार बढ़ रहे आंखों के मरीजों की संख्या को लेकर भी अस्पताल प्रशासन अलर्ट मोड़ पर है.

बच्चों की आंखों की समस्या में वृद्धि

एनडीटीवी से खास बातचीत करते हुए एमडीएम अस्पताल के नेत्र रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ अरविंद चौहान ने बताया कि जोधपुर के एमडीएम अस्पताल में पूरे संभाग भर के मरीज उपचार लेने के लिए आते हैं. इस हीट वेव के चलते आंखों के मरीजों की संख्या में भी वृद्धि हुई है. जिसमें आंखों की एलर्जी और कुछ मरीजों में आंखों में ड्राइनेस के अधिक मामले सामने आ रहे हैं. सामान्य दिनों की तुलना में नेत्र रोग विभाग की ओपीडी में भी 30 प्रतिशत की वर्द्धि हुई है. वहीं इन दिनों स्कूली बच्चों की छुट्टियों के चलते बच्चे टीवी और मोबाइल में अधिक स्क्रीन टाइम दे रहे हैं. ऐसे बच्चों में भी आंखों की समस्याओं के काफी मामले बढ़े हैं. हीट वेव और गर्मी से जिस प्रकार से शरीर को ढककर उसे बचाया जाता है ठीक उसी प्रकार आंखों का भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है. आंखों की समस्या से पहले कुछ लक्षण भी सामान्य तौर पर आने शुरू हो जाते हैं. जिसमें मुख्यतः आंखों का लाल रहना और उसके अलावा आंखों में और सिर में भी लगातार दर्द रहना और कुछ मरीजों की आंखों में एकदम से अंधेरा साथ अच्छा जानता है. जो मुख्य लक्षण होते हैं जहां इन लक्षणों को पहले ही पहचान कर समय रहते उपचार लेने की आवश्यकता है.

आंखों के लिए बेहतर आहार है जरूरी

एमडीएम अस्पताल के नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. अरविंद चौहान ने बताया कि आंखों की बेहतरी के लिए बेहतर आहार की भी आवश्यकता होती है. जिसमें अच्छे विटामिन युक्त फल ले जिसमें पपीता, गाजर का सेवन करें. इसके अलावा ज्यादा पानी पीएं, आंखों पर ठंडे पानी का छिड़काव करें और विशेष परिस्थितियों में डॉक्टर से परामर्श भी ले सकते हैं. वहीं आजकल कई ऐसे मरीज है जो डॉक्टर के पास जाने की बजाय सीधा दवाई काउंटर से ही दवाई ले लेते हैं. आंखों के मरीजों को इस प्रकार के प्रयोग से भी बचना चाहिए, क्योंकि घर में पड़ी दवाई और बिना चिकित्सक के परामर्श के ली गई दवाई से आंखों पर प्रभाव पड़ सकता है.

यह भी पढ़ेंः Rajasthan HeatWave: जैसलमेर का तापमान 48.7 डिग्री पहुंचा तापमान; 40 साल में चौथा सबसे गर्म दिन, 2 दिन का Red Alert

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan Politics: '6 महीने में गिर जाएगी NDA सरकार', सांसद भजनलाल जाटव ने कर दी बड़ी भविष्यवाणी
Heat Wave Effect: जोधपुर के MDM अस्पताल में बढ़े आखों के मरीज, हीट वेव कनेक्शन को लेकर विशेषज्ञ ने बताई बड़ी बात
Sikar Nirjala Ekadashi devotees in Khatushyam temple for offer prayer in babashayam darbaar
Next Article
Sikar: निर्जला एकादशी पर खाटूश्याम में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब, धोक लगाकर मांगी सुख-समृद्धि की कामना की
Close
;