विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान में महिला को डायन बताकर निर्वस्त्र कर पीटने के मामले में मानवाधिकार आयोग ने लिया संज्ञान, SP से मांगी रिपोर्ट

महिला को डायन बताकर पीटने की घटना के मामले में राजस्थान राज्य मानव अधिकार आयोग ने  पुलिस अधीक्षक से दस दिन में तथ्यात्मक रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए हैं.

Read Time: 3 min
राजस्थान में महिला को डायन बताकर निर्वस्त्र कर पीटने के मामले में मानवाधिकार आयोग ने लिया संज्ञान, SP से मांगी रिपोर्ट
महिला को डायन बताकर निर्वस्त्र कर पीटने के मामले में मानवाधिकार आयोग ने लिया संज्ञान

Rajasthan News: हाल ही में राजस्थान के बांसवाड़ा में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया था. जहां एक खबर सामने आई थी कि मोटागांव थाना क्षेत्र की एक महिला को डायन बताकर उसे निर्वस्त्र करके पीटा गया. यह कृत्य महिला के पूर्व सरपंच पति, सौतन और सास ने मिलकर किया. हालांकि इस घटना को 14 फरवरी को अंजाम दिया गया है ऐसी बात सामने आई है. लेकिन मामले में पुलिस को शिकायत 21 फरवरी को की गई. अब 26 फरवरी को इस मामले में राजस्थान राज्य मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लिया है. जबकि पुलिस अधीक्षक (SP) से रिपोर्ट तलब की है.

महिला को डायन बताकर पीटने की घटना के मामले में राजस्थान राज्य मानव अधिकार आयोग ने  पुलिस अधीक्षक से दस दिन में तथ्यात्मक रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए हैं. मानव अधिकार आयोग ने मीडिया रिपोर्ट के आधार पर प्रसंज्ञान लेते हुए रिपोर्ट मांगी है. 

कार्यवाहक अध्यक्ष जस्टिस रामचंद्र सिंह झाला ने जिला प्रशासन के माध्यम से पुलिस अधीक्षक को 6 मार्च तक घाटोल थाना क्षेत्र में महिला को निर्वस्त्र कर मारपीट करने को मानव अधिकार हनन का गंभीर मामला बताते हुए रिपोर्ट पेश करने के आदेश जारी किया है. वहीं इसी क्षेत्र में पूर्व में घटी एक अन्य घटना का उल्लेख करते हुए उसकी भी अलग से रिपोर्ट मांगी गई है.

खाट से बांधकर पीटा, पति ने मुक्के मारे

पीड़िता ने शिकायत में बताया, 'सोतन का बेटा बीमार हुआ तो पति, सौतन व सास मुझे डायन कहकर प्रताड़ित करने लगे. पिछली 14 फरवरी को रात 12 बजे पति आया, यह कहते हुए चोटी पकड़कर मारपीट की कि तूने बेटे पर जादू टोना कर बीमार कर दिया है. इसी दौरान पहली पत्नी और सास भी आ गई और डायन कहते हुए मुझ पर नींबू छिड़का. दोनों ने मेरे हाथ पकड़ लिए और पति ने मुझे निर्वस्त्र कर पीटा. बाद में खाट से बांधकर बुरी तरह पीटा. पति ने मुंह पर मुक्के मारे, जिससे वह खाना तक नहीं खा पाई. उसे बांधकर कमरे में बंद कर दिया.'

संयोग से मिलने पहुंचे पिता ने बचाई जान

पीड़िता के पिता ने बताया, 'मैं तो 15 फरवरी को संयोग से बेटी के घर पहुंचा था. सांकळ (जंजीर) खोलकर भीतर गया तो बेटी को खाट से बंधी देख सन्न रह गया. बेटी को छुड़ाया. पास ही उसकी सौतन के साथ रह रही दोनों बेटियों को भी छुड़ाया. इस दौरान भी मेरी बेटी पर हमले का प्रयास किया गया और मुझे जान से मारने की धमकी दी गई. बाद में मैं बेटी को जगपुरा अस्पताल ले गया, जहां से डॉक्टरों ने उसे बांसवाड़ा रेफर कर दिया.'

पुलिस ने इन दोनों मामलों में 16 लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए अभी तक तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं पुलिस पर मामले में देरी से एक्शन करने का आरोप भी लगा है.

यह भी पढ़ेंः राजस्थान की जुड़वा बहनों ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखी भावुक चिट्ठी, कहा- 'पापा-मम्मी का तबादला करा दीजिए'

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close