विज्ञापन
Story ProgressBack

जैसलमेर में भारत-पाक सीमा पर पकड़े गए 2 संदिग्ध कश्मीरी युवक, पूछताछ जारी

जैसलमेर में BSF के जवानों ने 2 संदिग्ध कश्मीरी नागरिकों को पकड़ा है. जानकारी के अनुसार सीमा क्षेत्र में पकड़े गए दोनों कश्मीरी बिना परमिशन के घूम रहे थे. पुलिस अब दोनों कश्मीरी नागरिकों को संयुक्त जांच कमेटी के सुपुर्द करेगी.

Read Time: 3 min
जैसलमेर में भारत-पाक सीमा पर पकड़े गए 2 संदिग्ध कश्मीरी युवक, पूछताछ जारी
अवैध तरीके से घूमते पकड़े गए दोनों कश्मीरी नागरिक

राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी ने सरकार बनाने की कवायद शुरू कर दी है. ऐसे में प्रदेश में कानून व्यवस्था को और कड़ा किया जा रहा है. बुधवार को भारत-पाक अंतर्राष्ट्रीय सीमा से सटे सरहदी जिले जैसलमेर में BSF के जवानों ने 2 संदिग्ध कश्मीरी नागरिकों को पकड़ा है. जानकारी के अनुसार सीमा क्षेत्र में पकड़े गए दोनों कश्मीरी बिना परमिशन के घूम रहे थे. दोनों संदिग्ध रोजाणियो की बस्ती में घूम रहे थे, ग्रामीणों ने सीमा सुरक्षा बल को इसकी जानकारी देकर मौके पर बुलाया. 108 बीएन बटालियन के जवानों ने कश्मीरियों को पकड़ा और पूछताछ के बाद उनको सम थाना पुलिस के सुपुर्द किया.

नहीं दे पाए पुलिस को संतोषजनक जवाब

जानकारी के अनुसार जिले की सम थाना पुलिस अब दोनों कश्मीरी नागरिकों को संयुक्त जांच कमेटी के सुपुर्द करेगी. सम थाना प्रभारी ऊर्जा राम ने बताया कि सम थाना के प्रतिबंधित इलाके में पकड़े गए दोनों कश्मीरी नागरिक सरहदी इलाके में आने का संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए. इसलिए अब दोनों को संयुक्त जांच कमेटी के सुपुर्द किया जाएगा. जहां सभी सुरक्षा एजेंसियां उनसे कड़ाई से पूछताछ करेंगी और प्रतिबंधित इलाके में आने का कारण जानेंगी.

जांच एजेंसियां करेंगी पूछताछ

ऊर्जा राम ने बताया कि 108 बीएन बटालियन BSF के कम्पनी कमान्डर ने बताया कि मंगलवार देर शाम सीमा क्षेत्र में गांव रोजाणियो की बस्ती में दो संदिग्ध व्यक्ति देखे गए. बीएसएफ की फील्ड टीम को सूचना मिलने पर कंपनी कमांडर अपने पांच जवानो के साथ रात को गांव रोजाणियो की बस्ती पहुंचे. गांव में दो व्यक्ति जम्मू कश्मीर के मोहम्मद रियाज (43) निवासी और मकसूद अहमद (40) निवासी जिला पुंछ जम्मू निवासी मिले.

संदेहास्पद दोनों का राजस्थान आना

दोनों व्यक्ति सीमा क्षेत्र के गांव में मौजदूगी का कोई संतोषजनक जवाब नही दे पाए. दोनों का मेडिकल करवाया गया और दोनों को सम थाना पुलिस को सौंपा गया. ऊर्जा राम ने बताया कि अब दोनों को संयुक्त जांच कमेटी के सुपुर्द किया जाएगा जहां उनसे सभी जांच एजेंसियां पूछताछ कर जैसलमेर आने का कारण जानेगी. प्रदेश में नई सरकार का गठन होना इसलिए इन लोगों की गतिविधि संदेहास्पद मानी जा रही है, हो सकता है किसी नई चाल को पूरा करने वे राजस्थान में आएं हों.

यह भी पढ़ें- मिलिट्री इंटेलिजेंस ने दुकान से अवैध आर्मी यूनिफॉर्म किया बरामद, युवक गिरफ्तार

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • 24X7
Choose Your Destination
Close