विज्ञापन
Story ProgressBack

Khatu shyam ji news: मौत से पहले फेसबुक लाइव में खाटू श्याम के भजन पर नाचती नजर आईं आरती, वीडियो आया सामने

Khatu Shyam Special Devotee Aarti Died: अजमेर की रहने वाली आरती की सड़क हादसे में मौत हो गई. पदयात्रा करते हुए लगभग 25 हजार निशान बाबा श्याम को चढ़ा चुकी हैं. 

Read Time: 3 mins
Khatu shyam ji news: मौत से पहले फेसबुक लाइव में खाटू श्याम के भजन पर नाचती नजर आईं आरती, वीडियो आया सामने
खाटू श्याम की भक्त आरती की सड़क हादसे में मौत हो गई. मौत से पहले फेसबुक लाइव आकर बाबा के भजन पर आरती थिरकीं.

Khatu Shyam Special Devotee Aarti Died: अजमेर में लोग आरती को कलयुग की मीरा के नाम से पहचाना जाता है. आरती करीब 14 साल से खाटू श्याम की पदयात्रा करती थीं. लगातार बाबा श्याम को निशान चढ़ाती थीं. खाटू श्याम रींगस में हुए सड़क हादसे में बुधवार को आरती की मौत हो गई. आरती बाबा की भक्ति के लिए सरकारी नौकरी भी छोड़ दीं. पैदल चलकर बाबा को निशान चढ़ाती थीं.

21 और 51 निशान लेकर जाती थी आरती   

आरती 2 साल पहले सुर्खियों आईं. उन्होंने संकल्प लिया कि वह देवउठनी एकादशी तक बाबा के दर पर 5100 ध्वज चढ़ाएगी. वह अपना संकल्प पूरा करने के लिए खुद ही खाटू आई थीं. आरती कभी 21 तो कभी 51 निशान लेकर बाबा खाटू श्याम जाती थीं. आरती करीब 9 साल से बाबा को निशान चढ़ाने खाटू श्याम जाती थीं. बताया जा रहा है कि करीब 25 हजार से अधिक निशान बाबा खाटू श्याम के दरबार में चढ़ा चुकी थीं. 

खाटू श्याम की विशेष भक्त आरती की सड़क हादसे में मौत हो गई.

खाटू श्याम की विशेष भक्त आरती की सड़क हादसे में मौत हो गई.

पिछले 15 सालों से अब तक 25 हजार ध्वज चढ़ा चुकी आरती 

बाबा खाटू श्याम की भक्ति में आरती इतनी लीन हो गई की उसने रोजाना बाबा को करीब 70 किलो वजन के झंडे रोजाना चढ़ना शुरू कर दिया. वह रोजाना सर्दी, गर्मी और बरसात में पैदल सड़क मार्ग से ध्वज लेकर नाचती गाती खाटू श्याम मंदिर पहुंचती और झंडा चढ़ाती थी. मीरा का सभी सोशल मीडिया साइट पर कलयुग की मीरा के नाम से फेसबुक यूट्यूब और इंस्टाग्राम पेज बना हुआ है,जिसमें लाखों लोग उनसे जुड़े हैं. हादसे के बाद उनके चाहने वाले उन्हें श्रद्धांजलि देते नजर आ रहे हैं. 

बस ड्राइवर नहीं लेता था किराया 

जयपुर से खाटू श्याम तक कोई भी किराया नहीं लेता था. उस समय कोई भी रोडवेज बस, प्राइवेट बस या प्राइवेट वाहन चालक आरती को अपने वाहन में बैठा लेते थे, उससे किराया भी नहीं लेते थे. कभी-कभी तो निजी वाहन चालक आरती को अपने घर पर रहने और खाने की भी नि:शुल्क व्यवस्था करते थे.  

दोपहर बाद आरती टांक उर्फ मीरा का पार्थिव देह पहुंचेगा अजमेर

आरती के पिता रामस्वरूप टांक ने बताया के पोस्टमार्टम के बाद लाश अजमेर उनके निवास स्थान पहुंचेगी. हादसे की जानकारी मिलने के बाद उनके निवास स्थान पर उनके चाहने वाले और परिजन बड़ी संख्या पर मौजूद हैं. दोपहर 2:00 बजे बाद उनके पार्थिव देह का अंतिम संस्कार स्थानीय मुक्तिधाम में किया जाएगा. 

यह भी पढ़ें: भाजपा-कांग्रेस के बाद राजस्थान की राजनीति में तीसरी शक्ति बन गई ये पार्टी, मात्र 8 महीने पहले बनी


 

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
जयपुर हेरिटेज मेयर ने रिश्वत लेकर जारी किए थे पट्टे, ACB को मिले सबूत
Khatu shyam ji news: मौत से पहले फेसबुक लाइव में खाटू श्याम के भजन पर नाचती नजर आईं आरती, वीडियो आया सामने
Drug trade is increasing in Rajasthan, heroin worth Rs 30 crore arrived Sri Ganganagar from Pakistan in two days
Next Article
राजस्थान में बढ़ रहा है नशे का कारोबार, पाकिस्तान से आयी दो दिन में 30 करोड़ की हिरोइन
Close
;