विज्ञापन
Story ProgressBack

सुसाइड पर लगाम लगाने के लिए कोटा पुलिस की नई पहल, फेसबुक-इंस्टा से मिलेगा अलर्ट

Kota Suicide Alert: कोटा में बढ़ते सुसाइड मामलों के बीच कोटा पुलिस ने नए पहल की शुरुआत की है. अब सुसाइड से संबंधित कोई गतिविधि का अलर्ट सीधा पुलिस के पास पहुंचेगा.

Read Time: 3 mins
सुसाइड पर लगाम लगाने के लिए कोटा पुलिस की नई पहल, फेसबुक-इंस्टा से मिलेगा अलर्ट
प्रतीकात्मक तस्वीर

Kota Suicide Prevention Initiative: कोटा में कोचिंग स्टूडेंट के बढ़ते सुसाइड मामलों को लेकर कोटा पुलिस की ओर से लगातार रोकथाम को लेकर पहल की जा रही है. कोटा कोचिंग स्टूडेंट्स सुसाइड केस रोकने के लिए पुलिस ने एक नई पहल शुरू की है. पुलिस की इस नई पहल ने एक कोचिंग स्टूडेंट की जान भी बचा ली. दरअसल पुलिस ने मेटा 'मैटास्किमा टैगिंग और एस्केमा' से कोलैबोरेशन किया है.

अब कोई भी फेसबुक और इंस्टाग्राम पर तनाव, सुसाइड की मंशा जाहिर करने वाले और स्वयं को नुकसान पहुंचाने वाले मैसेज, फोटो, वीडियो जैसी कुछ भी पोस्ट डालेगा तो मेटा इसे तुरंत अपने एल्गोरिदम (सिस्टम) में फ्लैग (चिह्नित) कर देगा. इसकी जानकारी तुरंत कोटा पुलिस से शेयर करेगी. पुलिस तुरंत अलर्ट होकर उस व्यक्ति तक पहुंच जाएगी.

पुलिस को जानकारी में पोस्ट की गई सामग्री और व्यक्ति का टेक्निकल विवरण मिलेगा. कोटा पुलिस इस जानकारी को पूरे प्रदेश में संबंधित जिले की पुलिस से शेयर करेगी. संबंधित जिले की पुलिस टीम मौके पर जाकर संबंधित व्यक्ति को सुसाइड करने से रोकेगी और परिजनों को सतर्क किया जाएगा.

एक छात्र की बचा ली जान

कोटा पुलिस द्वारा शुरू की गई इस पहल का असर भी देखा गया है. झुंझुनूं जिले में पहला केस आ चुका है. कोटा पुलिस ने झुंझुनूं जिले के एसपी को इसकी जानकारी दी. वह एक लड़का था, जो डिप्रेशन का शिकार था और आत्मघाती कदम उठाने की मंशा जाहिर हो रही थी. उसने फेसबुक पर सुसाइड को लेकर कुछ लिखा था. पुलिस ने उसके परिजनों से संपर्क किया और उसे ऐसा करने से रोक लिया गया.

कोटा अभय कमांड सेंटर

राजस्थान डीजीपी यूआर साहू ने पूरे प्रदेश में इस पहल को लागू करने के आदेश जारी किए हैं. कोटा में सुसाइड रोकने के प्रयास के तहत जब पुलिस ने मेटा से बातचीत शुरू की तो पता चला कि मेटा का सिस्टम सिर्फ एक जिले को केंद्रित करके यह काम नहीं कर सकता. उच्च अधिकारियों के निर्देशन में कोटा पुलिस ने पूरे राजस्थान के लिए काम करने को कहा तो मेटा कंपनी तैयार हो गई. मेटा कंपनी की ओर से जो मेल या जानकारी कोटा पुलिस को दी जाएगी, उसकी मॉनिटरिंग के लिए 24 घंटे की टीम लगाई है.  

कोटा के अभय कमांड सेंटर में तकनीक से ट्रेंड पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. इस मॉडल को कोटा पुलिस प्रदेश में संचालित कर रही है. सिटी एसपी डॉ अमृता दुहन ने बताया कि सुसाइड रोकने की दिशा में मेटा (फेसबुक और इंस्ट्राग्राम) से यह करार की एक शुरुआत है. पुलिस जल्द ही गूगल और यूट्यूब से भी ऐसा कोलोब्रेशन करने की तैयारी कर रही है. पुलिस को इन कंपनियों का सहयोग मिला तो इस दिशा सकारात्मक नतीजे आएगे.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस ने दी आंदोलन की चेतावनी, 4 जून के बाद सड़कों पर आएंगे कार्यकर्ता, जानें विरोध की वजह...

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Sonakshi-Zaheer Wedding: जानें सोनाक्षी सिन्हा और जहीर इकबाल के शादी की ये खास बातें
सुसाइड पर लगाम लगाने के लिए कोटा पुलिस की नई पहल, फेसबुक-इंस्टा से मिलेगा अलर्ट
Rajasthan Budget 2024: Deputy CM Diya Kumari gave big hints before presenting the budget, the budget will be special before the by-elections.
Next Article
Rajasthan Budget 2024: डिप्टी सीएम दीया कुमारी ने बजट पेश करने से पहले दिये बड़े संकेत, उपचुनाव से पहले बजट होगा खास
Close
;