विज्ञापन
Story ProgressBack

झोपड़ी में लगी भीषण आग, जिंदा जला 7 साल का मासूम, बचाने दौड़ा पिता भी बुरी तरह से झुलसा

झोपड़ी पराल व अन्य लकड़ी के सामानों से बनी हुई थी जिसके चलते आग ने भीषण रूप धारण कर लिया. 7 साल का मासूम पवन संभल पता कि वह आग की लपटों में मौत के मुंह में समा गया.

Read Time: 3 mins
झोपड़ी में लगी भीषण आग, जिंदा जला 7 साल का मासूम, बचाने दौड़ा पिता भी बुरी तरह से झुलसा
घटनास्थल पर जुटी लोगों की भीड़.

Bundi Fire News:  शुक्रवार को महाशिवरात्रि के दिन राजस्थान के कई जिलों के हादसों की कई खबरें सामने आई. कोटा में शिव बारात में शामिल लोगों के करंट लगने की दुर्घटना के साथ-साथ उदयपुर में करंट की चपेट में आकर दो लोगों की मौत हो गई. इसके साथ-साथ शुक्रवार को ही प्रदेश के एक और जिले से आग लगने से 7 साल के मासूम के जिंदा जलने की दर्दनाक खबर भी सामने आई है. बच्चे के जिंदा जलने वाली यह दुर्घटना राजस्थान के बूंदी जिले से सामने आई. जहां एक झोपड़ी में भीषण आग लगी थी.

बेटे को बचाने में पिता भी बुरी तरह से झुलसा  

दरअसल बूंदी जिले के नमाना थाना इलाके में झोपड़ी में भीषण आग लगने से सात माह के मासूम की दर्दनाक मौत हो गई. अपने बेटे को बचाने के लिए दौड़े पिता भी बुरी तरह से आग में झुलस गए. घायल पिता का बूंदी अस्पताल में इलाज जारी है. आग पर बूंदी से पहुंची एक दमकल ने काबू पाया है.

पीड़ित परिवार ने लगाई आर्थिक मदद की गुहार

दर्दनाक हादसे के बाद पुलिस प्रशासन मौके पर पहुंच गया था और मामले की जानकारी ली. इस आग में झोपड़ी में रखे सारे सामान जलकर राख हो गए. पीड़ित परिवार ने सरकार से आर्थिक मुआवजे की मांग की है, उधर महाशिवरात्रि के अवसर पर हुए घटनाक्रम के बाद परिवार में मातम सा छा गया है. 

खेत में बनी थी टपरीनुमा झोपड़ी, जिसमें लगी आग

नमाना थाने के सहायक उप निरीक्षक राकेश शर्मा ने बताया कि गुवार गांव में खेत पर एक टपरी नुमा झोपड़ी बनी हुई थी. दोपहर को देवीलाल भील और उसकी पत्नी बेटे पवन भील को झोपड़ी में छोड़कर गए थे. इससे बीच बेटा पवन झोपड़ी में सो गया. अज्ञात कारणों के चलते झोपड़ी में भीषण आग लग गई.

बच्चा तब तक संभलता, लपटों में फंस चुका था

झोपड़ी पराल व अन्य लकड़ी के सामानों से बनी हुई थी जिसके चलते आग ने भीषण रूप धारण कर लिया. 7 साल का मासूम पवन संभल पता कि वह आग की लपटों में मौत के मुंह में समा गया. कुछ देर बाद 7 साल के मासूम के पिता देवीलाल भील वापस खेत पर लौटे तो भीषण आग लगी हुई थी.

दमकल ने आग पर पाया काबू

देवीलाल ने आस पड़ोस के लोगों को सूचना देने के साथी आग पर काबू पाने की कोशिश की तो आग की लपटों में देवीलाल भी बुरी तरह से घायल हो गया. सूचना पर एक दमकल मौके पर पहुंची और आग पर जैसे-जैसे काबू पाया, दोनों को अस्पताल ले जाया गया. जहां 7 साल के मासूम को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया जबकि पिता देवीलाल बुरी तरह से घायल है.

झोपड़ी में आग कैसे लगी, चल रही जांच

घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई. एएसआई राकेश शर्मा ने बताया कि आग के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है क्योंकि खेत पर किसी प्रकार की विद्युत लाइट भी नहीं थी जिसे शॉर्ट सर्किट हुआ हो, क्या कारण रहे इसकी जांच की जा रही है. गमहीन माहौल में 7 साल के मासूम का बूंदी जिला अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया है.

यह भी पढ़ें - 
चलती बाइक पर गिरा बिजली का तार, महाशिवरात्रि के लिए सामान लेने जा रहे नाना-नवासी की करंट लगने से दर्दनाक मौत

 

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
India Post Bharti 2024: डाक विभाग में 10वीं पास के लिए बंपर भर्ती, 44 हजार पदों के लिए आवेदन शुरू
झोपड़ी में लगी भीषण आग, जिंदा जला 7 साल का मासूम, बचाने दौड़ा पिता भी बुरी तरह से झुलसा
Father's death shown in an accident for Rs 50 lakh, compassionate appointment taken in Banswara
Next Article
बांसवाड़ा: 50 लाख रुपये के लिए पिता की एक्सीडेंट में दिखा दी मौत, ले ली अनुकंपा नियुक्ति; पुत्र समेत 3 गिरफ्तार
Close
;