विज्ञापन
Story ProgressBack

मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी की गिरफ्तारी के खिलाफ राजस्थान में सड़कों पर उतरे सैकड़ों लोग

मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी की मुंबई में गिरफ्तारी हुई. मौलाना की गिरफ्तारी के बाद बूंदी जिले में मुस्लिम समाज के लोगों का आक्रोश देखने को मिला. आक्रोशित लोगों ने डीएम के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम अपना ज्ञापन दिया. 

Read Time: 2 min
मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी की गिरफ्तारी के खिलाफ राजस्थान में सड़कों पर उतरे सैकड़ों लोग
बूंदी में मुस्लिम समाज द्वारा किया जा रहा विरोध-प्रदर्शन.

Rajasthan News: राजस्थान में मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी (Maulana Mufti Salman Azhari ) को गुजरात पुलिस द्वारा मुबंई से गिरफ्तार किये जाने का लोगों ने कड़ा विरोध जताया. शुक्रवार को बूंदी में आज सड़कों पर उतरे मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मौन जुलूस निकाल कर विरोध जताया. इस दौरान मीरागेट मस्जिद में हुई नमाज के बाद अंजुमन इस्लामिया कमेटी के नेतृत्व में एकत्रित हुए मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मीरागेट से शुरु होकर शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए जुलूस निकालें. जुलूस में बड़ी संख्या में शामिल मुस्लिम समुदाय के लोग अपने हाथों में होडिंग और संदेश लिखी तख्तियां और काली पट्टी बांध कर मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी की गिरफ्तारी का विरोध करते चल रहे थे. 

राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

मौन जुलूस के रुप में जिला कलेक्ट्रेट पहुंचे मुस्लिम समुदाय के लोग एडीएम नवरत्न कोली की बजाय जिला कलक्टर अक्षय गोदारा को ही महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देने की मांग पर अड़ गएं. जिसके चलते आधा घण्टे बाद कलेक्टर अक्षय गोदारा अपने चैंमबर में पहुंचे और मुस्लिम समुदाय के लोगों ने उन्हें महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा. जिसके माध्यम से उन्होंने गुजरात पुलिस द्वारा मुफ्ती की गिरप्तारी पर सवाल उठाते हुए मामले की निष्पक्ष जांच करने और मुफ्ती सलमान अजहरी को रिहा किये जाने की मांग की. प्रदर्शन के दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात था.

बिना वजह परेशान करने का लगाया आरोप

अंजुमन इस्लामिया कमेटी के सदर हैदर अली ने बताया कि मुफ्ती सलमान अजहरी को बिना वजह परेशान किया जा रहा है, जबकि उन्होंने इस प्रकार से कोई ऐसा बयान जारी नहीं किया है जिससे किसी की भावना आहत हो. साथ ही उन्हें नाजायज परेशान करने से पूरे समाज में आक्रोश है. हमने मामले में निष्पक्ष जांच करने की मांग की है. सदर हैदर अली ने कहा कि देश में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिनमें साफ तौर से समाजों पर टिप्पणी की गई लेकिन उन पर नामजद रिपोर्ट होने के बावजूद भी कार्रवाई नहीं हो सकी.

ये भी पढ़ें- Rajasthan Teachers Transfer: राजस्थान में ट्रांसफर का इंतजार कर रहे शिक्षकों को झटका, शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने दिया बड़ा बयान

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close