विज्ञापन
Story ProgressBack

ऑपरेशन बंशीधरः कभी श्याम तो कभी सांवर राम बनकर 3 साल से पुलिस को चकमा दे रहा 65 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्ता

Operation Banshidhar: नाम और ठिकाना बदलकर तीन साल से पुलिस को चकमा दे रहे 65 हजार के इनामी बदमाश को जोधपुर पुलिस की साइक्लोनर टीम ने गिरफ्तार किया है. आरोपी के पास से पुलिस ने 10 मोबाइल और 17 सिम कार्ड जब्त किए.

Read Time: 3 mins
ऑपरेशन बंशीधरः कभी श्याम तो कभी सांवर राम बनकर 3 साल से पुलिस को चकमा दे रहा 65 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्ता
जोधपुर पुलिस के कब्जे में तीन साल से चकमा दे रहा शातिर बदमाश श्याम सुंदर.

Operation Banshidhar: जोधपुर पुलिस ने ऑपरेशन बंशीधर के तहत तीन साल से फरार चल रहे एक शातिर अपराधी को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है. शातिर अपराधी श्याम सुंदर पर 65 हजार का इनाम था. पुलिस टीम उसे काफी समय से तलाश रही थी. लेकिन वह नाम और ठिकाना बदल-बदल कर लगातार पुलिस को चकमा दे रहा था. मिली जानकारी के अनुसार अपराधी श्याम सुंदर कभी सांवरिया तो कभी सांवर राम तो कभी मुरली मनोहर बनकर फरारी काट रहा था. अपराधी श्याम सुंदर को गिरफ्तार करने के लिये जोधपुर रेंज आईजी की साइक्लोनर टीम ने समुद्र तट से लेकर रेगिस्तान तक साये की तरह लगी रही. आखिर करीब 3 साल से फरार श्याम सुंदर को आईजी रेंज विकास कुमार के नेतृत्व में टीम साइक्लोनर को सफलता मिली. और 65000 के इनामी बदमाश श्याम सुंदर को जोधपुर रेंज की सीमा में गिरफ्तार किया.

गुजरात के द्वारका से साइक्लोनर टीम ने आरोपी श्याम सुंदर का पीछा शुरू किया और बाड़मेर और सांचौर जिले की सीमा में करीब 48 घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद उसे गिरफ्तार करने में साइक्लोनर टीम को कामयाबी मिली है.


जालौर, सिरोही और बाड़मेर जिले में एक दर्जन से ज्यादा मुकदमे

जोधपुर रेंज आईजी विकास कुमार ने बताया कि अपराधी इतना शातिर था कि पिछले 3 महीने से साइक्लोनर टीम उसका पीछा कर रही थी. लेकिन वह बार-बार अपना नाम बदलकर फरारी काट रहा था. कभी सांवरिया तो कभी श्याम सुंदर तो कभी सांवर राम नाम से तो कभी मुरली मनोहर बनकर आरोपी फरारी काट रहा था. आरोपी श्याम सुंदर के खिलाफ जालौर, सिरोही और बाड़मेर जिले में एक दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज है. 


मादक पदार्थों की तस्करी के गैंग का सरगना

श्याम सुंदर  मादक पदार्थों की तस्करी के गैंग का सरगना बताया जाता है. श्याम सुंदर के खिलाफ तस्करी के अलावा हत्या के प्रयास, मारपीट, तोड़फोड़ ,राज कार्य में बाधा, आर्म्स एक्ट सहित कई प्रकरण दर्ज है अपराधी इतना शातिर है कि सिरोही में उसने पुलिस पर फायरिंग भी की थी. उसे पुलिस का भी कोई खौफ नहीं था. 

10 मोबाइल और 17 सिम कार्ड हुए बरामद 

साइक्लोनर टीम ने जब आरोपी श्याम सुंदर को पकड़ा तो उसके पास 10 मोबाइल 17 सिम कार्ड भी बरामद हुए. वही अपराधी श्यामसुंदर को महंगी कारों का बहुत ही शौक था. और उसके खिलाफ अपराध की दुनिया में सबसे पहले वाहन चोरी का ही मुकदमा दर्ज हुआ था. वाहन चोरी करते-करते मादक पदार्थों की तस्करी में भी लिप्त हो गया था.

तीन महीने में 25 बदमाशों को गिरफ्तार कर चुकी साइक्लोनर टीम

फिलहाल पुलिस रेंज आई जी विकास कुमार के नेतृत्व में पिछले तीन महीने में 25 से ज्यादा बड़े इनामी बदमाशों को साइक्लोनर टीम गिरफ्तार कर चुकी है. अपराधियों के गिरफ्तारी की सिल्वर जुबली होने पर रेंज आई जी ने साइक्लोनर टीम को बधाई भी दी. उन्होंने कहा कि टीम का उद्देश्य रेंज को अपराध और अपराधी मुक्त करना है. जिसके लिए साइक्लोनर टीम कटिबद्ध है.

यह भी पढ़ें - राजस्थान में पाकिस्तान से लगती भारत सीमा पर लगेंगे CCTV कैमरे, मुख्य सचिव ने कलेक्टरों को दिये निर्देश

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
अहमदाबाद-वडोदरा हाईवे पर भीषण हादसे में 6 की मौत और 10 घायल, ज्यादातर राजस्थान के यात्री हैं शामिल
ऑपरेशन बंशीधरः कभी श्याम तो कभी सांवर राम बनकर 3 साल से पुलिस को चकमा दे रहा 65 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्ता
announcements for Bundi in Rajasthan budget 2024 Barrage will be built on Mej river women will get gas pipeline connection
Next Article
बूंदी को बजट से कई सौगात: महिलाओं को गैस पाइपलाइन कनेक्शन, मेज नदी पर बैराज... जानिए और क्या हुआ ऐलान
Close
;