विज्ञापन
Story ProgressBack

कुत्तों के आतंक से परेशान लोगों ने किया था चुनाव का बहिष्कार, अब कोर्ट के आदेश से एक घर से निकाले गए 22 कुत्ते

गुरुवार को नगर परिषद और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने कोर्ट के आदेश पर एक महिला के द्वारा अपने घर मे अवैध रूप से कैद कर रखे करीब 2 दर्जन से ज्यादा कुतों को मुक्त करवाया. प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई के बाद क्षेत्रवासियों ने राहत की सांस ली है.

Read Time: 4 min
कुत्तों के आतंक से परेशान लोगों ने किया था चुनाव का बहिष्कार, अब कोर्ट के आदेश से एक घर से निकाले गए 22 कुत्ते
कोर्ट के आदेश पर एक घर से 22 कुत्तों का रेस्क्यू.

Dog Terror: देश के अलग-अलग शहरों से कुत्तों के आतंक के मामले बीते कुछ दिनों में कई सामने आए हैं. कुत्तों के हमले में कई बच्चों की मौत की खबर भी सामने आई है. साथ ही बाइक सवार कई लोग कुत्तों के हमले में गिरकर घायल भी हुए हैं. इस बीच राजस्थान के बूंदी जिले से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. बूंदी में एक घर में करीब दो दर्जन कुत्ते थे. इन कुत्तों के आंतक से आस-पास के लोग इस कदर परेशान हो चुके थे कि उन्होंने विधानसभा चुनाव में मतदान तक का बहिष्कार कर दिया था. लेकिन अब इन लोगों की परेशानी समाप्त हो गई है. कोर्ट के आदेश के बाद इस घर से 22 कुत्ते रेस्क्यू किए गए. 

मामला बूंदी शहर के गुरुनानक कॉलोनी का है. जहां गुरुवार को नगर परिषद और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने कोर्ट के आदेश पर एक महिला के द्वारा अपने घर मे अवैध रूप से कैद कर रखे करीब 2 दर्जन से ज्यादा कुतों को मुक्त करवाया. प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई के बाद क्षेत्रवासियों ने राहत की सांस ली है. क्षेत्रवासी इन कुत्तों को घर मे रखने से बेहद परेशान थे. क्षेत्र के लोग जिला प्रशासन, नगर परिषद से लेकर मंत्रियों तक से इस परेशानी से निजात दिलाने की मांग कर चुके थे. 

लेकिन प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होने पर लोगों ने मामले को लेकर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. गुरुवार को कोर्ट के आदेश पर अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घर में ताला लगाकर रखे हुए दो दर्जन से ज्यादा श्वानों को मुक्त करवाकर गाड़ी से जंगल मे छुड़वाया.

अवैध रूप से रखे 22 कुत्तों को करवाया मुक्त

मिली जानकारी के अनुसार बूंदी जिले के गुरुनानक कॉलोनी में एक महिला टीचर अवैध रूप से अपने घर में डॉग होम संचालित कर रही थी. शिक्षिका पिछले दो साल से अवैध रूप से दो दर्जन से अधिक कुत्तों को अपने घर में रखी हुई थी. कुत्तो द्वारा दिन-रात भौकने के साथ साथ उनके मल मूत्र को संचालिका द्वारा नालियो में डाले जाने से कॉलोनी में निवास करने वाले लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था. जिसके चलते परेशान कॉलोनी के लोगों द्वारा कुत्तों को हटाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन भी किया गया. 

बूंदी के अवैध डॉग नर्सरी से कुत्तों का रेस्क्यू.

बूंदी के अवैध डॉग नर्सरी से कुत्तों का रेस्क्यू.

लेकिन डॉग होम एक बड़ी संस्था से जुड़ी होने के कारण नगर परिषद प्रशासन उसे हटाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था. ऐसे में प्रदेश में सरकार बदलने के साथ प्रशासनिक अमले के बदलने से आए नए कलक्टर अक्षय गोदारा ने कुत्तों से परेशान कॉलोनी के लोगों की पीड़ा को समझते हुए नगरपरिषद प्रशासन को अवैध रूप से संचालित डॉग नर्सरी को हटाने के निर्देश दिये. जिसकी पालना में आज कोतवाली पुलिस के जाप्ते के साथ पिंजरा लेकर पहुचे नगरपरिषद आयुक्त राकेश मीणा ने 22 कुत्तों को पिंजरे में कैद किया. 

इस दोरान डॉग नर्सरी के कुत्तों को पिंजरे में कैद करने का विरोध कर रही नर्सरी संचालिका शिक्षिका को पुलिस द्वारा हिरासत में लिया गया. डाँग नर्सरी हटाए जाने से लोगों ने राहत की सांस ली है. लोगों का कहना है कि पिछले दो साल से नर्सरी के कुत्तों द्वारा दिन-रात भौंकने के साथ रोने से उनका चैन हराम हो जाने के साथ-साथ बच्चों का पढना-लिखना दुश्वार हो रहा था. जिसके चलते उक्त डाँग नर्सरी को हटाने के लिए अनेको बार नगरपरिषद, कलक्टर एसपी कार्यालय लेकर कोतवाली थाने में धरना प्रदर्शन किये जाने से लंबी लङाई के बाद आज उन्हे राहत मिली है. 

कुत्तों को रेस्क्यू देखने के लिए जुटी लोगों की भीड़.

कुत्तों को रेस्क्यू देखने के लिए जुटी लोगों की भीड़.

विधानसभा चुनाव का भी किया था बहिष्कार

गौरतलब है कि गुरु नानक कॉलोनी के इस वार्ड में 150 मतदान करने वाले लोग हैं, जिन्होंने दो माह पूर्व हुए विधानसभा चुनावों का भी सामूहिक फैसला लेकर मतदान का बहिष्कार करने का फैसला लिया था. लोगों ने बताया कि इस कॉलोनी की गली में एक महिला निवास करती है जिसके घर में करीब 25 कुत्ते हैं जो दिन-रात शोर मचाते हैं. बाहर करने वाले बच्चों को काट लेते हैं आए दिन डर सताता रहता है. प्रशासन को कई बार अवगत करवाने के बावजूद भी प्रशासन द्वारा कोई सुध नहीं ली गई है जिससे परेशान होकर हमने मतदान का बहिष्कार किया था.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close