विज्ञापन
Story ProgressBack

MBBS छात्र से रैगिंग, 300 से ज्यादा करवाई उठक-बैठक; पिता बोले-किडनी-लिवर डैमेज

Dungarpur  Medical College: मेडिकल कॉलेज डूंगरपुर में एमबीबीएस (MBBS) फर्स्ट ईयर के एक छात्र की रैगिंग के बाद तबीयत बिगड़ गई. इसके बाद 7 छात्रों को सस्पेंड कर दिया गया. 

MBBS छात्र से रैगिंग, 300 से ज्यादा करवाई उठक-बैठक; पिता बोले-किडनी-लिवर डैमेज
डूंगरपुर मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने 7 स्टूडेंट को रैगिंग करने के आरोप में कॉलेज से सस्पेंड कर दिया.

Dungarpur  Medical College: एमबीबीएस 2nd ईयर के सीनियर स्टूडेंट ने फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट को कॉलेज के पास एक पहाड़ी पर बुलाया. उसे 300 से ज्यादा उठक बैठक करवाई. स्टूडेंट की तबियत बिगड़ने पर परिजन उसे अस्पताल ले गए, जहां किडनी और लिवर पर असर पड़ने से डायलिसिस करवानी पड़ी.

कॉलेज ने 7 स्टूडेंट को किया सस्पेंड, मुकदमा दर्ज 

मामले में मेडिकल कॉलेज एंटी रैंगिंग कमेटी ने जांच की. जांच में रैगिंग की पुष्टि हुई. सेकंड ईयर के 7 स्टूडेंट को कॉलेज से सस्पेंड कर दिया गया है. मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने 7 छात्रों के खिलाफ सदर थाने में मुकदमा दर्ज कराया. 

छात्र के साथ डेढ़ महीने पहले हुई थी रैगिंग 

सदर थानाधिकारी गिरधारी सिंह ने बताया कि मेडिकल कॉलेज डूंगरपुर के प्रिंसिपल एस बाला मरगुनवेलू ने मुकदमा दर्ज कराया. रैगिंग का मामला करीब डेढ़ महीने पुराना है. घटना 15 मई की बताई जा रही है. मेडिकल कॉलेज में ही फर्स्ट ईयर MBBS के स्टूडेंट के साथ रैगिंग हुई. 

300 से ज्यादा छात्रों से उठक-बैठक करवाई  

सेकंड ईयर एमबीबीएस के सीनियर स्टूडेंट देवेंद्र मीणा, अंकित यादव, रविंद्र कुलरिया, सुरजीत, विष्णेंद्र धायल, सिद्धार्थ परिहार और अमन रागेरा ने छात्र को कॉलेज के पास ही एक पहाड़ी पर बुलाया. इसके बाद उससे रैगिंग करते हुए 300 से ज्यादा उठक बैठक करवाई, इसकी वजह से उसकी तबियत खराब हो गई. 

छात्र का चार बारा कराना पड़ा डायलिसिस 

छात्र का डूंगरपुर के अस्पताल में इलाज कराया गया लेकिन, कोई आराम नहीं मिला. इसके बाद परिजन उसे गुजरात के एक प्राइवेट अस्पताल ले गए. जांच में किडनी और लिवर पर असर बताया. इसके बाद चार बार उसकी डायलिसिस करनी पड़ी. 

एंटी रैगिंग कमेटी की जांच में रैगिंग की हुई पुष्टि 

मामला मेडिकल कॉलेज के एंटी रैंगिंग कमेटी के सामने आया, जिस पर एंटी रैगिंग कमेटी की ओर से जांच में भी रैगिंग की पुष्टि हुई. कॉलेज के प्रिंसिपल ने आरोपी सभी 7 स्टूडेंट को कॉलेज से सस्पेंड कर दिया. प्रिंसिपल की रिपोर्ट पर सदर थाना पुलिस ने आरोपी 7 स्टूडेंट के खिलाफ रैगिंग का केस दर्ज कर लिया है. सदर थानाधिकारी गिरधारीसिंह ने बताया की मामले की जांच की जा रही है. 

एक नहीं 50 से ज्यादा स्टूडेंट के साथ हुई रैगिंग

छात्र के पिता दीपेन व्यास ने बताया की उसके साथ ही फर्स्ट ईयर के 50 से ज्यादा स्टूडेंट थे, जिनके साथ रैगिंग हुई है. सेकंड ईयर के 40 सीनियर स्टूडेंट ने सभी जूनियर स्टूडेंट से उठक बैठक करवाई, जिससे उसके साथ ही 3 से 4 दूसरे स्टूडेंट की तबियत भी बिगड़ गई. पीड़ित छात्र ने आरोपी स्टूडेंट के खिलाफ 20 जून को एंटी रैगिंग कमेटी को रिपोर्ट दी, जिस पर रैगिंग कमेटी ने तुरंत एक्शन लेते हुए जांच पूरी की. मामले में केस दर्ज करवाया गया है. 

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Sawan Somwar 2024: सावन में इस बार अद्भुत संयोग, इस मंत्र के जाप दूर होंगे सारे दुख
MBBS छात्र से रैगिंग, 300 से ज्यादा करवाई उठक-बैठक; पिता बोले-किडनी-लिवर डैमेज
Bhilwara: Businessman kidnapped and ransom demanded of Rs 45 lakh, police rescued him after 8 hours
Next Article
भीलवाड़ा: व्यापारी को किडनैप कर 45 लाख की मांगी फिरौती, रातभर चले सर्च अभियान के बाद छुड़ाया
Close
;